calcutta

  • Dec 15 2019 1:29AM
Advertisement

अपहृत नहीं है मणिपुर के सीएम का भाई

कोलकाता : सीबीआइ अधिकारी बताकर बदमाशों द्वारा बंदूक की नोक पर न्यूटाउन से टोंगब्रान लुखोई सिंह (43) और मोइरंगथेम शांता सिंह (42) के अपहरण के मामले में अपहृत व्यक्ति के मणिपुर के सीएम के रिश्तेदार होने की बात को खारिज किया गया है. इस घटना को लेकर उस समय हड़कंप मच गया, जब टोंगब्रान की मां ने दावा किया कि टोंगब्रान मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह का मौसेरा भाई और दूसरा पीए है.

फिर पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए शुक्रवार देर रात को ही पार्क स्ट्रीट और बेनियापुकुर इलाके से पांचों बदमाशों को गिरफ्तार करते हुए दोनों को मुक्त कराया. लेकिन शनिवार को इस मामले में मणिपुर सरकार की ओर से पुलिस को बताया गया कि उस नाम का कोई भी व्यक्ति सीएम का भाई और रिश्तेदार नहीं है. 

विधाननगर के डीसी (हेडक्वार्टर) कुणाल अग्रवाल ने बताया कि न्यूटाउन मामले  में मणिपुर सरकार की ओर से स्पष्ट किया गया है कि अपहृत  व्यक्ति ना तो मणिपुर के सीएम का कोई मौसेरा भाई है और ना ही रिश्तेदार. शनिवार को इस मामले में  मणिपुुर सरकार की ओर से विधाननगर पुलिस को जानकारी दी गयी. मणिपुर के सीएम के पीए एस राजन सिंह ने पुलिस को बताया कि सीएम का ऐसा कोई भी रिश्तेदार नहीं है.

गौरतलब है कि शुक्रवार को विनोद राव (32), मोहम्मद रियाज अली (32), इदरीश अली (33), निकी  खुमालंबम सिंह (32) और खैरूल रहमान (49) नामक पांच बदमाशों ने हथियार की नोक पर कार से पहुंच कर टोंगब्रान और मोइरंगथेम का अपहरण कर 15 लाख रुपये की मांग कर रहे थे. टोंगब्रान मूल रूप से मणिपुर के पूर्व इंफाल और मोइरंगथेम पश्चिम इंफाल का निवासी है. एयरपोर्ट की डीसी जे मर्सी से बताया कि पुलिस मामले की जांच कर रही है.

 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement