Advertisement

calcutta

  • Nov 16 2019 1:50AM
Advertisement

अगले दो वर्षों में महानगर का परिवेश प्रदूषण मुक्त होगा

कोलकाता : दिल्ली-एनसीआर में गुरुवार को भी प्रदूषण का प्रकोप जारी है. महानगर में प्रदूषण फैल रहा है. प्रदूषण के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए कोलकाता नगर निगम के मासिक अधिवेशन की बैठक में इस विषय पर गंभीरता के साथ चर्चा हुई.  निगम में वाममोर्चा के नेता रत्ना राय मजूमदार ने इस विषय पर प्रस्ताव रखा. वहीं 99 नंबर वार्ड के पार्षद देवाशीष मुखर्जी ने सदन के प्रश्न में अपने सवाल को रखा. रत्ना राय मजूमदार ने कहा कि पूरे विश्व के जल व वायु प्रदूषण सबसे बड़ी चुनौती है.

जल व वायु प्रदूषण से जूझ रहे दुनिया भर के 12 शहर जूझ रहे हैं. इनमें से 11 राज्य भारत में हैं. ऐसे वायु व प्रदूषण को रोकने के लिए सरकार क्या कर रही है इसकी जानकरी सत्ता पक्ष हमें दे. इसके जवाब में निगम के मेयर परिषद सदस्य (पर्यावरण) सपन समाद्दार ने काफी कहा कि जब तक बंगाल में ममता बनर्जी और कोलकाता में मेयर फिरहाद हकीम है तब तक हमें प्रदूषण को लेकर चिंता करने की जरूरत नहीं. सपन के इस बात को सुन कर वाममोर्चा पार्षद बिफर पड़े और उनका चुटकी भी लिया. 

इसके अलावा सपन ने कहा कि महानगर के पर्यावरण को प्रदूषण मुक्त रखने के लिए हम हर संभव कोशिश कर रहे हैं. अगरे दो सालों में हर महानगर को लोगों को प्रदूषण मुक्त परिवेश दे सकेंगे. उन्होंने कहा कि पर्यावरण को साफ रखने के लिए महानगर में पौध रोपण पर जोर दिया जा रहा है. 

 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement