Advertisement

calcutta

  • Sep 22 2019 2:57AM
Advertisement

एनआरसी में घुसपैठिये मुस्लिमों को निकाला जायेगा : देवश्री

एनआरसी में घुसपैठिये मुस्लिमों को निकाला जायेगा : देवश्री

कोलकाता : केंद्रीय महिला व बाल कल्याण राज्य मंत्री देवश्री चौधरी ने पश्चिम बंगाल में एनआरसी लागू करने का समर्थन करते हुए कहा है कि राज्य से  भारतीय मुस्लिमों को नहीं, बल्कि घुसपैठिये मुसलमानों को देश से बाहर किया जायेगा. प्रभात खबर से बातचीत करते हुए सुश्री चौधरी ने कहा कि देश का विभाजन धर्म का आधार पर हुआ था. विभाजन के पहले भी देश में काफी संख्या में मुस्लिम रहते थे और आज भी रह रहे हैं.

लेकिन पहले से भारत में रहे मुस्लिमों को एनआरसी के तहत देश से बाहर नहीं निकाला जायेगा, बल्कि देश की स्वतंत्रता के बाद पाकिस्तान, बांग्लादेश, अफगानिस्तान व म्यांमार से आये घुसपैठिये मुस्लिमों को देश से बाहर निकाला जायेगा. इसके साथ ही उन्होंने  साफ कर दिया कि एनआरसी के तहत किसी भी हिंदू को देश से नहीं निकाला जायेगा, बल्कि अन्य देशों से आये हिंदू शरणार्थियों को यहां शरण दी जायेगी. नागरिकता कानून के तहत उन्हें नागरिकता दी जायेगी. उन्होंने कहा कि पूरे देश में लगभग दो करोड़ मुस्लिम घुसपैठियों का प्रवेश हो गया है. इनमें से लगभग एक करोड़ बंगाल में हैं, जो राज्य की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ उठा रहे हैं. 

उन्होंने कहा कि विरोधी दल एनआरसी को लेकर अफवाह फैला रहे हैं और प्रत्येक दिन नयी कहानी गढ़ रहे हैं. एनआरसी को लेकर दो लोगों की मौत के संबंध में टिप्पणी करते हुए सुश्री चौधरी ने कहा कि कोई भी मौत दुखद है, लेकिन जिस तरह से मौत को लेकर कहानियां बनायी जा रही हैं, वह बहुत ही निराशाजनक है. इससे पहले भी नोटबंदी के दौरान इस तरह से मौत को लेकर कहानियां बनायी गयी थीं, लेकिन देशहित के कार्य होते रहेंगे. उन्होंने कहा कि राज्य के सत्तारूढ़ दल द्वारा एनआरसी को लेकर भ्रम फैलाया जा रहा है. लोगों में आतंक पैदा किया जा रहा है, लेकिन इस देश के मूल निवासी, चाहे वे किसी भी धर्म या भाषा के हों, उन्हें बाहर करने का सवाल ही नहीं उठता है.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement