Advertisement

calcutta

  • Sep 12 2019 2:09AM
Advertisement

बिजली दर में बढ़ोतरी के खिलाफ भाजयुमो ने किया प्रदर्शन, बवाल

बिजली दर में बढ़ोतरी के खिलाफ भाजयुमो ने किया प्रदर्शन, बवाल

पुलिस ने दागे आंसू गैस के गोले, किया वाटर कैनन का इस्तेमाल 

भाजयुमो कार्यकर्ता का सिर फटा, 87 अरेस्ट
 
कोलकाता : कोलकाता में बिजली दर में बढ़ोतरी के खिलाफ  भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदर्शन से बुधवार को सेंट्रल एवेन्यू रणक्षेत्र में तब्दील हो गया. आरोप है कि इस दौरान मौके पर तैनात पुलिसकर्मियों पर ईंट-पत्थर फेंके गये. पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे और वाटर कैनन का भी इस्तेमाल किया. इस दौरान छह पुलिसकर्मियों सहित भाजपा के 50 से अधिक कार्यकर्ता घायल हो गये. भाजपा के एक कार्यकर्ता का सिर फट गया. घायल पांच कार्यकर्ताओं को विशुद्धानंद अस्पताल में भर्ती करवाया गया है.
 
पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे प्रदेश भाजपा महासचिव राजू बनर्जी, भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष देवजीत सरकार, सांस्कृतिक प्रकोष्ठ के संयोजक सुमन बनर्जी सहित 87 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया. भाजयुमो ने बिजली दर में बढ़ोतरी और मीटर रीडिंग में कथित धां‍धली सहित अन्य मुद्दों को लेकर बुधवार को सीइएससी मुख्यालय विक्टोरिया हाउस के घेराव का आह्वान किया था. बुधवार दोपहर को मोर्चा का जुलूस सेंट्रल एवेन्यू होते हुए विक्टोरिया हाउस की ओर बढ़ा, लेकिन पुलिस ने जुलूस को आगे बढ़ने नहीं दिया.             
 
 
जुलूस को रोकने के लिए पुलिस ने तीन बैरिकेड बनाये थे, लेकिन भाजपा कार्यकर्ताओं ने एक बैरिकेड को तोड़ दिया. हालांकि पुलिस ने उन्हें सेंट्रल एवेन्यू के ई-मॉल के पास रोक दिया. इसे लेकर पुलिस और भाजपा कार्यकर्ता आमने-सामने आ गये. भाजपा कार्यकर्ताओं ने बेरिकेड तोड़ने की कोशिश की. पुलिस ने भाजपा कार्यकर्ताओं को आगे बढ़ने से रोकने के लिए आंसू गैस के गोले दागे और पानी की तेज बौछार से भीड़ को तितर-बितर कर दिया.
 
लगभग आधे घंटे तक सेंट्रल एवेन्यू में यातायात पूरी तरह ठप हो गया. प्रदेश भाजपा महासचिव राजू बनर्जी ने आरोप  लगाया कि वे लोग शांतिपूर्ण ढंग से जुलूस निकाल रहे थे, लेकिन पुलिस ने आंसू  गैस और जलकमान चलाकर शांतिपूर्ण जुलूस को भंग कर दिया. राज्य सरकार जनतांत्रिक ढंग से किसी भी आंदोलन को करने नहीं देती है. राज्य सरकार पुलिस का इस्तेमाल जनतांत्रिक आंदोलन को कुचलने के लिए कर रही है.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement