Advertisement

calcutta

  • May 27 2019 6:57AM
Advertisement

सारधा मामला : पूर्व सीपी के आवास पर पहुंची सीबीआइ, 10 बजे तक सीबीआइ दफ्तर में पेश होने का निर्देश

सारधा मामला : पूर्व सीपी के आवास पर पहुंची सीबीआइ, 10 बजे तक सीबीआइ दफ्तर में पेश होने का निर्देश

 कोलकाता : सारधा चिटफंड मामले की जांच के सिलसिले में कोलकाता पुलिस के पूर्व पुलिस आयुक्त राजीव कुमार को सीबीआइ ने सोमवार सुबह 10 तक सीजीओ कॉम्प्लेक्स में हाजिर होने का निर्देश दिया है. इस निर्देश की कॉपी डीसी (साउथ) मिराज खालिद को सौंपी गयी है. सीबीआइ सूत्रों के मुताबिक रविवार को दिनभर में कई बार राजीव कुमार से संपर्क करने की कोशिश की गयी थी, लेकिन उन्होंने फोन नहीं उठाया. इसके बाद सीबीआइ के डीएसपी मनीष उपाध्याय के नेतृत्व में चार सदस्यों की टीम रविवार शाम 7.30 लाउडन स्ट्रीट स्थित राजीव कुमार के घर पहुंची.

 
 हालांकि पहली बार की तरह इस बार भी वहां तैनात पुलिसकर्मियों ने सीबीआइ अधिकारियों को अंदर प्रवेश करने नहीं दिया.  उन्हें पास में ही पार्क स्ट्रीट स्थित डीसी (साउथ) मिराज खालिद के दफ्तर जाने को कहा. 
 
इसके बाद सीबीआइ के चारों अधिकारी नोटिस की कॉपी लेकर डीसी साउथ के दफ्तर गये. वहां एक घंटे की बैठक के बाद नोटिस की कॉपी मिराज खालिद को सौंपकर वे वहां से निकल गये. फिर सीबीआइ की टीम भवानी भवन स्थित सीआइडी दफ्तर पहुंची. वहां भी नोटिस की एक कॉपी सीआइडी अधिकारियों को सौंपी गयी. 
 
 सीआइडी में पुराने पद पर लौटे राजीव कुमार
इसी बीच, राज्य सरकार की तरफ से राजीव कुमार को उनके पुराने पद एडीजी (सीआइडी) पर वापस लौटने का निर्देश जारी किया गया. रविवार को जारी राज्य सरकार के तरफ से इस निर्देश की कॉपी सीआइडी के संबंधित विभाग में भेज दी गयी. नोटिस में जल्द से जल्द उन्हें पुराने पद पर लौटने को कहा गया है. 
 
राजीव कुमार के खिलाफ लुकआउट नोटिस भी जारी कर चुकी है सीबीआइ
राजीव कुमार के खिलाफ सीबीआइ की तरफ से लुकआउट नोटिस भी जारी किया गया है, जिससे वह देश छोड़कर बाहर ना जा सकें. यह नोटिस एक वर्ष के लिए जारी किया गया है. राजीव कुमार की तस्वीर के साथ नोटिस की कॉपी देश के सभी एयरपोर्ट को भेज दी गयी है.
 
वहीं,  विधाननगर कमिश्नरेट के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी दिलीप हाजरा को भी सीबीआइ की तरफ से नोटिस भेजे जाने की खबर है. उन्हें भी सोमवार को पूछताछ के लिए साॅल्टलेक में स्थित सीबीआइ दफ्तर में बुलाया गया है. बताया जा रहा है कि शुरुआत में सारधा चिटफंड मामले की जांच जब विधाननगर कमिश्नरेट की टीम कर रही थी, उस समय वह इस मामले के जांच अधिकारी व स्पेशल इंवेस्टिगेशन टीम (सीट) के सदस्य थे. इसके कारण उनसे पूछताछ का निर्णय लिया गया है.
 
चार आइपीएस अिधकारी कोलकाता के पूर्व सीपी राजेश कुमार, विधाननगर के पूर्व सीपी एन रमेश बाबू, बैरकपुर के पूर्व सीपी सुनील चौधरी व कूचबिहार के एसपी अमित कुमार सिंह कंपल्सरी वेटिंग में भेजे गये
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement