buxar

  • Jan 24 2020 6:25AM
Advertisement

30 वर्ष बाद गंगा स्नान का बन रहा अद्भुत संयोग

 बक्सर : मौनी अमावस्या पर शुक्रवार को एक लाख से अधिक लोग जिले में गंगा स्नान कर पुण्य के भागी बनेंगे. ज्योतिषीय सूत्रों के अनुसार गंगा स्नान का यह संयोग 30 वर्ष बाद आया है. ऐसे में जिले के गंगा घाटों पर श्रद्धालुओं की काफी भीड़ रहेगी. 

 
गंगा स्नान को गुरुवार के शाम में ही श्रद्धालुओं की भीड़ शहर में दिखी. शहर के होटलों और लॉजों में भी भीड़ रही. देर शाम स्थानीय किला मैदान में भी श्रद्धालुओं का जमघट लग गया ताकि सुबह में ये लोग आसानी से गंगा स्नान कर सकें. जिला प्रशासन भी मौनी अमावस्या पर पुलिस पदाधिकारियों की प्रतिनियुक्ति विभिन्न गंगा घाटों पर कर दी है. 
 
शहर के विभिन्न चौक-चौराहों पर भी पुलिस बल की तैनाती की गयी है. सबसे अधिक रामरेखा घाट पर श्रद्धालुओं की भीड़ जुटती है. घाट पर विशेष पुलिस बल की तैनाती की गयी है. रामरेखा घाट के अलावे नाथबाबा घाट, सती घाट, गोला घाट, सिद्धनाथ घाट समेत अन्य घाटों पर श्रद्धालुओं की भीड़ गंगा स्नान के लिए उमड़ेगी.
जप, तप और दान की है मान्यता
 
शुभ मुहूर्त
ज्योतिषाचार्य रामाश्रय पांडेय ने बताया कि अमावस्या तिथि का प्रारंभ 24 जनवरी, 2020 को देर रात 2 बजकर 18 मिनट से लेकर अगले दिन यानी 25 जनवरी, 2020 को सुबह 3 बजकर 12 मिनट तक रहेगा. खास बात ये है कि इस बार मौनी अमावस्या ब्रह्म मुहूर्त यानी रात के आखिरी पहर में शुरू हो रही है. इसलिए यही स्नान का सबसे शुभ समय होगा. 
 
24 जनवरी को रात के आखिरी पहर से लेकर आप सूर्यास्त होने से पहले स्नान कर सकते हैंशास्त्रों के अनुसार ईश्वर का जाप करने से जितना पुण्य मिलता है. उससे कई गुणा अधिक पुण्य मौन रहकर जाप करने से मिलता है. वैसे तो दिन भर मौन रखने की बात कही गयी है लेकिन अगर दान से पहले सवा घंटे तक मौन रख लिया जाये तो दान का फल 16 गुना अधिक मिलता है और मौन धारण कर व्रत का समापन करने वाले को मुनि पद की प्राप्ति होती है.
 
बढ़ायी गयी स्टेशन की सुरक्षा
मौनी अमावस्या के दिन बक्सर स्टेशन की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गयी है. इसके लिए दानापुर से अतिरिक्त आरपीएफ के जवानों की तैनाती की गयी है. आरपीएफ सीनियर कमांडेंट एसकेएस राठौर ने बताया कि मौनी अमावस्या के एक दिन पहले और मौनी अमावस्या के दिन बक्सर स्टेशन की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गयी है. सुरक्षा व्यवस्था को लेकर सभी इंस्पेक्टरों को निर्देश दिया गया है. 
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement