Advertisement

business

  • Jan 10 2019 7:30AM

सियासत की बिसात पाने के लिए नये संगठनों ने चुनाव आयोग में किया आवेदन, देश में 2091 से अधिक राजनीतिक पार्टियां

सियासत की बिसात पाने के लिए नये संगठनों ने चुनाव आयोग में किया आवेदन, देश में 2091 से अधिक राजनीतिक पार्टियां
सात नयी पार्टियां चुनाव में करेंगी दावेदारी
 
मिशन 2019 के लिए सभी राजनीतिक पार्टियां अपनी रणनीति बनाने में जुटी हुई हैं. सियासत की बिसात पर राजनेता अपनी चालें चल रहे हैं. इस बीच नयी राजनीतिक पार्टियां भी इस चुनावी संग्राम में उतरने को बेकरार हैं. सात नये राजनीतिक दलों ने लोकसभा चुनाव के लिए चुनाव आयोग में रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन दिये हैं.  
 
इसमें भारतीय विकास दल यूनाइटेड, लोकतांत्रिक जन स्वराज पार्टी, राष्ट्रीय आवामी यूनाइटेड पार्टी, पूर्वांचल नव निर्माण पार्टी, राष्ट्रीय जनशक्ति समाज पार्टी, सकल जनुला समाज पार्टी, स्वतंत्रता पार्टी (जन) शामिल है. ये सभी राजनीतिक दल जो स्थानीय स्तर, राज्य स्तर या राष्ट्रीय स्तर पर चुनाव लड़ने के लिए इच्छुक हैं. 
 
बता दें जहां मोदी सरकार इन चुनावों को जीतकर वापसी करने के लिए पूरी ताकत लगा रही है, वहीं महागठबंधन मोदी सरकार को उखाड़ फेंकने के दावे कर रहा है. इसी कड़ी में यूपी में मायावती और अखिलेश का गठबंधन भी हो चुका है. इस बीच, आगामी आमचुनाव में नयी राजनीतिक दलों की दावेदारी कितना असरदार होगा, ये देखने योग्य होगा.
 
स्थानीय, राज्य और राष्ट्रीय स्तर पर लड़ेंगी चुनाव

टीएमसी सांसद सौमित्र खान भाजपा में शामिल
 
टीएमसी सांसद सौमित्र खान भाजपा में शामिल हो गये हैं. सौमित्र खान दिल्ली में केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और पश्चिम बंगाल के भाजपा नेता मुकुल रॉय की मौजूदगी में बीजेपी में शामिल हुए. भाजपा नेता मुकुल रॉय ने कहा कि टीएमसी के पांच और सांसद उनके संपर्क हैं. वे भी भाजपा में शामिल हो सकते हैं. सौमित्र खान ने बुधवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात की थी.
 
देश में हैं 2091 से अधिक राजनीतिक पार्टियां 
 
नये संगठनों के दर्ज होने के बाद देश देश में अबतक 2091 राजनीतिक दलों की संख्या हो गयी है. मार्च 2014 और इस वर्ष जुलाई के बीच राजनीतिक दलों की संख्या 1866 थी. इस दौरान 239 नये संगठनों ने खुद को राजनीति दल के रूप में नाम दर्ज कराया था.
 
भाजपा व कांग्रेस दोनों से कोई तालमेल नहीं : पटनायक
 
भुवनेश्वर : ओड़िशा  के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने बुधवार को कहा कि बीजू जनता दल (बीजद) आगामी चुनाव में भाजपा और कांग्रेस दोनों के साथ कोई गठबंधन नहीं करेगा और न ही किसी महागठबंधन में शामिल ही होगा. बीजद अध्यक्ष पटनायक ने कहा कि उनकी पार्टी भाजपा और कांग्रेस दोनों के साथ समान दूरी बनाये रखने की नीति पर चलती रहेगी. उन्होंने कहा कि बीजू जनता दल महागठबंधन का हिस्सा नहीं होगा.
 

Advertisement

Comments

Other Story

Advertisement