Advertisement

bollywood

  • Apr 26 2019 12:00PM
Advertisement

B'Day: कम उम्र में मौसमी चटर्जी ने किया था फिल्‍मों में डेब्‍यू, प्रेग्‍नेंसी के दौरान हुआ था ये हादसा

B'Day: कम उम्र में मौसमी चटर्जी ने किया था फिल्‍मों में डेब्‍यू, प्रेग्‍नेंसी के दौरान हुआ था ये हादसा

बॉलीवुड की जानीमानी अदाकारा मौसमी चटर्जी का जन्‍म 26 अप्रैल 1948 को हुआ था. कोलकाता में जन्मीं मौसमी चटर्जी इंडस्ट्री की उन चुनिंदा अभिनेत्रियों में हैं, जिन्होंने शादी और बच्चों के जन्म के बाद फिल्म इंडस्ट्री में कदम रखा. मौसमी चटर्जी का असली नाम इंदिरा चटर्जी है. बंगाली फिल्‍मों के डायरेक्‍टर तरुण मजूमदार ने उनका नाम बदलकर मौसमी चटर्जी रखा था. उनके पिता प्रांतोष चट्टोपाध्याय आर्मी ऑफिसर थे. मौसमी चटर्जी हिंदी के साथ-साथ बंगाली सिनेमा में भी अपनी एक अलग ही पहचान बना चुकी हैं.

एक्टिंग में डेब्‍यू

मौसमी चटर्जी ने 16 साल की उम्र में बंगला फिल्‍म 'बालिका बधू' (Balika Badhu) से सिने करियर की शुरूआत की थी. फिल्‍म सुपरहिट साबित हुई थी. एक इंटरव्‍यू में अभिनेत्री ने बताया था कि, इस फिल्‍म के बाद उन्‍हें को ढेरों बंगाली फिल्‍मों के ऑफर मिले थे लेकिन उन्‍होंने काम करने से इनकार कर दिया था क्‍योंकि वे अपनी पढ़ाई पूरी करना चाहती कीं. मौसमी चटर्जी ने हिंदी फिल्‍मों में डेब्‍यू साल 1972 में फिल्‍म अनुराग से की थी.

छोटी उम्र में शादी

मौसमी चटर्जी ने कम उम्र में ही प्रोड्यूसर जयंत मुखर्जी से शादी की थी. मौसर्मी और जयंत के दो बेटियां हैं- पायल और मेघा. पहली बेटी के जन्‍म के दौरान वे सिर्फ 18 साल की थी. मौसमी ने शादी के बाद हिंदी फिल्‍मों में काम करना शुरू किया था.

वो हादसा

साल 1974 में फिल्‍म 'रोटी कपड़ा और मकान' की शूटिंग के दौरान मौसमी चटर्जी प्रेग्‍नेंट थी. शूटिंग के दौरान उनके ऊपर ढेर सारा आटा गिर गया था. अपनी इस हालात को देखकर मौसमी चटर्जी रोने लगी थी. अभिनेत्री के अनुसार, मैं उस वक्‍त प्रेग्‍नेंट थी और नीचे गिरने के बाद ब्‍लीडिंग होने लगी थी. मुझे तुरंत अस्‍पताल ले जाया गया. मैं खुशकिस्‍मत हूं मेरे बच्‍चे को कुछ नहीं हुआ.'  

बड़े कलाकारों के साथ किया काम

मौसमी चटर्जी ने 60-70 के दशक में अपनी शानदार अदाकारी से हिंदी और बंगाली सिनेमा में एक खास पहचान बनाई. उन्‍होंने राजेश खन्‍ना, अमिताभ बच्चन, संजीव कुमार, जितेंद्र, शशि कपूर, और विनोद मेहरा जैसे कलाकारों के साथ काम किया. उस दौर में हिन्दी सिनेमा की छठवीं सबसे महंगी एक्ट्रेस थी.

सुपरहिट फिल्‍में

मौसमी ने 'कच्चे धागे', 'संतान', 'जहरीला इंसान', 'जल्लाद', 'घर एक मंदिर', 'करीब', 'फूल खिले है गुलशन गुलशन', 'मांग भरो सजना', 'ज्योति बने ज्वाला', 'दासी', 'अंगूर', 'घायल', 'ना तुम जानों न हम', 'पीकू' और 'आ अब लौट चलें' जैसी सुपरहिट फिल्‍मों में काम किया.

भाजपा में हुई शामिल

मौसमी चटर्जी 2 जनवरी को भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुईं. गौरतलब है कि मौसमी चटर्जी 2004 के बाद सक्रिय राजनीति में वापसी कर रही हैं. 2004 में मौसमी ने बंगाल से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ा था, जिसमें उनकी हार हुई थी.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement