Advertisement

bollywood

  • Apr 21 2017 11:45AM

कैंसर से ऐसे जूझती रहीं मनीषा कोइराला, वर्षों रहीं गुमनाम

कैंसर से ऐसे जूझती रहीं मनीषा कोइराला, वर्षों रहीं गुमनाम

मुंबई : 90 के दशक की मशहूर बॉलीवुड अभिनेत्री अभिनेत्री मनीषा कोइराला एक बार फिर से चर्चे में हैं. कई साल बाद वह राजकुमार हिरानी के निर्देशन में बन रही फिल्म के जरिये बड़े पर्दे पर वापसी कर रही हैं.
यह फिल्म अभिनेता संजय दत्त की बायोपिक होगी़  संजय दत्त का किरदार अभिनेता रणबीर कपूर निभा रहे हैं और मनीषा कोइराला उनकी मां, यानी अभिनेत्री नरगिस का किरदास निभा रही हैं.
 


नरगिस-मनीषा काेइराला में समानता
नरगिस कैंसर की मरीज थीं और आखिरकार इस बीमारी से जूझते हुए उनकी मौत हो गयी थी़  नरगिस और मनीषा काेइराला में यही समानता है. यूं तो मनीषा कैंसर को मात दे चुकी हैं, लेकिन उन दिनों को याद किये बिना रह नहीं पातीं.
पिछले दिनों वह कैंसर के मरीजों को जागरूक करने के लिए एक कार्यक्रम में शामिल हुईं. मनीषा ने अपने अनुभव लोगों से शेयर किये और कैंसर के मरीजों को धैर्य रखने के लिए कहा.

दिखने लगी थीं एलियन जैसी
मनीषा का कहना था कि वह कैंसर के इलाज के बाद एलियन जैसी दिखने लगी थीं क्योंकि उनके बाल झड़ गये थे. उन्होंने कहा, मैं कैंसर से उबरने वाली शख्स हूं. मैं कैंसर के हर मरीज से बस यही कहना चाहती हूं कि अपनी इच्छाशक्ति मजबूत रखें, यह संघर्ष आप जरूर जीतेंगे.
 

रणबीर कपूर या संजय दत्‍त? रणबीर का 'दत्‍त' लुक देख आप भी हो जायेंगे हैरान!


लुक को लेकर अंदाजा नहीं था
उन्होंने कहा कि कीमोथेरेपी से घबराने की जरूरत नहीं है और इसका उदाहरण वह खुद हैं. मनीषा ने कीमोथेरेपी के बारे में बात करते हुए बताया कि मैं कीमोथेरेपी के दौरान अपने बाल झड़ने को लेकर वाकिफ थी, लेकिन अपने लुक को लेकर मुझे अंदाजा नहीं था.
आमतौर पर कैंसर जैसी बीमारी से जूझकर उससे पार पाने के बाद लोगों के लुक में बदलाव आता है. मैं सिर्फ इतना चाहती थी कि मुझे इससे निबटने के लिए मानसिक रूप से तैयार होना था और मुझे परिवार की ओर से पूरा सहयोग मिला.
कीमोथेरेपी के बाद मेरे बाल, आईब्रो और पलकें तक झड़ गई थीं. जब मैं खुद को शीशे में देखती, तो एलियन जैसी लगती थी.

नेपाल में थी, जब राजू ने कॉन्टैक्ट किया
गौरतलब है कि अग्नि साक्षी, सौदागर और बॉम्बे जैसी फिल्मों में अभिनय कर अपनी अलग छाप छोड़ने वाली अभिनेत्री मनीषा कोइराला को साल 2012 में ओवेरियन कैंसर हो गया था. अभिनेत्री ने बताया कि जब वह नेपाल में थीं, तब उन्हें राजू जी (निर्देशक राजकुमार हिरानी) का कॉल आया था. उन्होंने मनीषा को फिल्म और उनके किरदार के बारे में बताया था. मनीषा ने बताया कि वह कैंसर के बाद रीहैबिलिटेशन के लिए नेपाल में ही रहने लगीं थीं और सार्वजनिक कार्यक्रमों में शिरकत करने से प्राय: परहेज करती थीं.

नरगिस के किरदार के साथ न्याय
मनीषा बताती हैं, जब मैं कैंसर के किसी मरीज को देखती हूं तो मैं उससे किसी ना किसी प्रकार से प्रभावित हो जाती हूं. स्क्रीन पर नरगिस जी का किरदार अदा करना मेरे लिए बड़ा अवसर और सम्मान की बात है. वह एक बड़ी और महान अभिनेत्री थीं. राजकुमार हिरानी ने जो मुझ पर विश्वास किया है. मैं इस अवसर के साथ पूरा न्याय कर पाऊंगी.


Advertisement

Comments