Advertisement

bollywood

  • Jul 21 2019 10:10AM
Advertisement

जानें अभिनेता कबीर दुहन सिंह की फिटनेस का राज : जुनून है तो कुछ भी मुश्किल नहीं

जानें अभिनेता कबीर दुहन सिंह की फिटनेस का राज : जुनून है तो कुछ भी मुश्किल नहीं

साउथ के कई सुपरहिट सिनेमा में अपनी खलनायकी से बड़ी पहचान बनानेवाले अभिनेता कबीर दुहन सिंह का मानना है कि फिटनेस जिंदगी के प्रति आपका नजरिया खूबसूरत बना देता है. वह यह भी कहते हैं कि फिटनेस को यूं तो हर किसी के लिए जरूरी है, मगर एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री की यह बड़ी जरूरत है, जहां हीरो ही नहीं, विलेन को भी फिट रहना पड़ता है. एक नजर डालते हैं उनकी फिटनेस और डाइट पर. बातचीत : उर्मिला कोरी....

मुझे सुबह जल्दी उठना पसंद है. आमतौर पर सुबह सात बजे तक उठ जाता हूं. सबसे पहले एक बोतल पानी पीता हूं. आधा घंटा बाद चाय पीता हूं, फिर सीधे जिम जाता हूं. जिम में स्ट्रेचिंग से शुरुआत करता हूं. इसके बाद ट्रेडमिल पर 10 मिनट दौड़ता हूं, ताकि बॉडी वार्मअप हो जाये. हर दिन मैं बॉडी के किसी एक या दो पार्ट पर काम करता हूं. सोमवार को चेस्ट और ट्राइसेप्स, मंगलवार को बैक और बाइसेप्स, बुधवार को शोल्डर या एब्स, गुरुवार लेग्स, शुक्रवार कार्डियो, शनिवार मेरा रेस्ट डे होता है. एक दिन रविवार को रेस्ट लेना भी जरूरी है. एक्सरसाइज की शुरुआत स्ट्रेचिंग और ट्रेडमिल से होती है, खत्म भी वैसे ही होती है. जिम के बाद मैं अपनी शूटिंग में व्यस्त हो जाता हूं. शाम में मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स की क्लासेज में जाता हूं, जो मेरे माइंड और बॉडी को मजबूत बनाता है.

डाइट में बदलाव जरूरी: मैं अपने सात दिनों के डाइट को तीन भागों में बांटकर रखता हूं. लगातार पांच दिनों तक मेरी डाइट में उबले अंडे, उबले और भुने हुए चिकन, फ्रूट जूस, हरी सब्जियां, ब्राउन राइस, वेजिटेबल सूप लेता हूं. इन पांच दिनों में मैं वह सबकुछ खाता हूं, जो मेरे हेल्थ के लिए अच्छा है. छठा दिन फास्टिंग का होता है. पूरे दिन में सिर्फ एक मील लेता हूं, वह भी सिर्फ उबली हुई दाल और चावल. मुझे लगता है कि हमारे पाचन तंत्र को भी ब्रेक चाहिए. इससे हमारी बॉडी हील होती है. सातवां दिन चीट डे होता है. हालांकि हम सभी को अपने खान-पान को लेकर अनुशासित होना चाहिए. लेकिन कभी-कभी बदलाव भी जरूरी है. इस दिन मैं अपनी पसंद की चीजें खाता हूं, जो पांच दिनों में नहीं खा पाता. लेकिन चीट डे में भी मैं पौष्टिक चीजें ही खाता हूं, मगर सीमित मात्रा में. मैं हरियाणा से हूं, तो शुरू से दूध, घी और चिक्की बहुत पसंद हैं. चीट डे पर ये चीजें जरूर खाता हूं.

फिटनेस आइडल : मुझे मेरे कई को-एक्टर्स, जैसे-अजय देवगन, अक्षय कुमार, जॉन अब्राहम की फिट बॉडी बहुत प्रेरित करती है. हालांकि फिटनेस में मैं विराट कोहली को अपना आइडल मानता हूं. मेरे अनुसार वह इस धरती के सबसे फिट इंसान हैं. उनकी फिटनेस लेवल और एनर्जी काबिल-ए-तारीफ है.

फिटनेस जिंदगी जीने का बेहतरीन जरिया

फिटनेस मेंटेन करना चैलेंजिंग है या आसान, यह आपकी सोच पर है. आप अगर फिटनेस को लेकर जुनूनी हैं, तो सबकुछ आसानी से मैनेज हो जायेगा. फिटनेस मेरे लिए जिंदगी जीने का एक बेहतरीन जरिया है. फिटनेस के लिए नये लक्ष्य मुझे चुनौती देते हैं. मैं एक कन्नड़ फिल्म कर रहा हूं. उसमें मैं बॉक्सर बना हूं. उसके लिए मुझे अपनी बॉडी को ट्रांसफॉर्म करना पड़ रहा. वजन कम करना है. मुझे फिल्म के लिए जैसा शेप चाहिए, उसे पाने में चार महीने लग जायेंगे, लेकिन मैं उस शेप को पाने के लिए अभी से एक्साइटेड हूं.

बेस्ट कॉम्प्लिमेंट : जब आप फिट होते हो, तो आपको बहुत तारीफें मिलती रहती हैं. सबसे बेस्ट कॉम्प्लिमेंट की बात करूं, तो मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स की क्लास में एक दस साल का लड़का मेरे पास आया और कहा कि उसे मेरे जैसे बनना है. मेरी जैसी बॉडी चाहिए. यह सुनकर मुझे बहुत अच्छा लगा कि मैं भी किसी का आइडल हूं.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement