Advertisement

bokaro

  • May 19 2017 8:42AM

प्रिया दुबे को न्यायालय में उपस्थित होने का सम्मन

बोकारो. प्रधान जिला न्यायाधीश संजय प्रसाद की अदालत ने आइजी प्रशिक्षण प्रिया दुबे को एक मामले में कोर्ट में हाजिर होने का सम्मन गुरुवार को जारी किया है. प्रिया दुबे को प्रधान जिला न्यायाधीश बोकारो की अदालत में 12 जून को उपस्थित कराने का निर्देश डीजीपी को दिया गया है. इस संबंध में प्रधान जिला न्यायाधीश ने राज्य के डीजीपी को सम्मन की कॉपी भेजी है.

प्रिया दुबे को सेशन ट्रायल कांड संख्या 196/09 व 197/09, चंदनकियारी (बरमसिया ओपी) थाना कांड संख्या 193/08 में गवाही देने के लिए प्रधान जिला न्यायाधीश के न्यायालय में उपस्थित होना है. इस मामले में गवाही नहीं होने के कारण मामला लंबित पड़ा हुआ है. न्यायाधीश ने इससे पूर्व चार मई 2017 को बोकारो एसपी के माध्यम से आइपीएस अधिकारी प्रिया दुबे को न्यायालय में 18 मई 2017 को उपस्थित होकर गवाही देने का सम्मन भेजा था. उक्त तिथि को प्रिया दुबे न्यायालय में उपस्थित नहीं हो सकी. इस कारण गुरुवार को न्यायाधीश श्री प्रसाद ने पुन: सम्मन जारी कर उसका तामिला कराने का निर्देश डीजीपी को दिया है. 
 
क्या है मामला : यह घटना 18 दिसंबर 2008 की है. बोकारो के तत्कालीन एसपी प्रिया दुबे के निर्देश पर बरमसिया ओपी थानेदार शशि भूषण चौधरी ने छापेमारी कर एक ऑटो पर लदा लगभग 20 बोरा अमोनियम नाइट्रेट जब्त किया था. साथ ही तीन लोगों को गिरफ्तार किया था. घटना की प्राथमिकी तत्कालीन थानेदार शशि भूषण चौधरी के बयान पर दर्ज की गयी थी. थानेदार ने बताया है कि तत्कालीन एसपी प्रिया दुबे ने उन्हें फोन पर सूचना दी कि पश्चिम बंगाल के हल्दिया से ट्रक पर अमोनियम नाइट्रेट लादकर आइइएल गोमिया फैक्ट्री लायी जाती है. रास्ते में ट्रक चालक कीमती अमोनियम नाइट्रेट की कुछ पैकेट ट्रक से उतारकर ऑटो व अन्य वाहन पर लादकर उसे अन्य जगहों में बेच देते हैं. प्रिया दुबे ने ही थानेदार को बताया था कि ट्रक से उतारकर अमोनियम नाइट्रेट एक ऑटो से बंगाल भेजा जा रहा है. तत्कालीन एसपी के निर्देश पर थानेदार ने उक्त ऑटो को अमोनियम नाइट्रेट के साथ जब्त कर तीन लोगों को गिरफ्तार किया था. यह मामला फिलहाल तत्कालीन एसपी के गवाही के कारण कोर्ट में लंबित पड़ा हुआ है.
 
 

Advertisement

Comments