Advertisement

bokaro

  • Feb 11 2019 9:08AM
Advertisement

मुर्गा दुकान पर नही दिख रहे है ग्राहक, गोमिया क्षेत्र में बर्ड फ्लू की आशंका से सहमे हैं लोग

मुर्गा दुकान पर नही दिख रहे है ग्राहक, गोमिया क्षेत्र में बर्ड फ्लू की आशंका से सहमे हैं लोग
13 फरवरी तक आयेगी भोपाल से जांच रिपोर्ट
गोमिया : गोमिया एवं आसपास के क्षेत्रों में पिछले दिनों कई कौवों की मौत के बाद पशुपालन विभाग द्वारा इस मामले को गंभीरता से लेते हुए पिछले सात फरवरी को रांची से चिकित्सकों की टीम गोमिया भेजी गयी थी. टीम ने मुर्गे के सैम्पल को विस्तृत जांच के लिए भोपाल भेज दिया है.
 
इससे इस क्षेत्र के लोग बर्ड फ्लू की आशंका से सहमे हुए हैं. इधर जांच टीम द्वारा सैम्पल लेकर भोपाल भेजे जाने के बाद से गोमिया के अधिकतर मुर्गा दुकान बंद हैं. इक्का-दुक्का अगर खुली भी है, तो ग्राहकों की संख्या नदारद है. इसके कारण क्षेत्र में खस्सी की मीठ एवं मछली की बिक्री में बेतहाशा वृद्धि हुई है. वहीं कुछ लोगों ने तो मांसाहारी भोजन करना ही बंद कर दिया है और शाकाहारी भोजन पर ध्यान दे रहे हैं.
 
 प्रखंड पशुपालन पदाधिकारी व चिकित्सक डॉ अनिल कुमार सिंह ने बताया कि 13 फरवरी तक भोपाल से जांच रिपोर्ट आ जायेगा. उसके बाद ही गोमिया में बर्ड फ्लू के बारे में कुछ कहा जा सकता है. उन्होंने यह भी कहा कि गोमिया में सिर्फ कौओं की मरने की पुष्टि हुई है, मुर्गे नहीं मरे हैं. 
 
फिर भी क्षेत्र के लोगों को इस दौरान सावधानी बरतें जाने की आवश्यकता है. ज्ञातव्य है कि गोमिया सहित आसपास के क्षेत्रों में पिछले 15 दिनों के अंतराल में कई कौओं की मौत हो चुकी है और गोमिया पशुपालन विभाग द्वारा मरे हुए कौओं का सैम्पल भी जांच के लिए भेज दिया है.    
गोमिया में आयी जांच टीम में रांची के कांके स्थित पशुपालन, स्वास्थ्य एवं उत्पाद संस्थान के पशु चिकत्सिक डॉ अशोक कुमार, डॉ प्रतिभा, डॉ बैजू बाला के अलावा गोमिया के पशुपालन पदाधिकारी डॉ अनिल कुमार सिंह शामिल थे.
 
इधर गोमिया सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सा प्रभारी डॉ एफ होरो ने बताया कि अगर प्रखंड में कोई बर्ड फ्लू के मरीज पाये जाते हैं, तो उन्हें अविलंब ईलाज के लिए बोकारो सदर अस्पताल भेज कर उचित इलाज कराया जायेगा. उन्होंने बताया कि अभी तक ऐसा कोई मरीज नहीं आया है.
 

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement