Advertisement

bokaro

  • Jul 17 2019 7:07AM
Advertisement

बोकारो :भाजपा विधायक बिरंची ने एजीएम को पीटा, बीएसएल अधिकारियों ने जस्टिस मार्च निकाला

बोकारो :भाजपा विधायक बिरंची ने एजीएम को पीटा, बीएसएल अधिकारियों ने जस्टिस मार्च निकाला
बोकारो : बोकारो इस्पात लिमिटेड के नगर सेवा विभाग के एजीएम (लैंड एलॉटमेंट डिपार्टमेंट) अजीत कुमार के साथ मंगलवार को कैंप टू स्थित तालाब के पास मारपीट हुई. 
 
मारपीट का आरोप बोकारो के विधायक बिरंची नारायण व उनके समर्थकों  पर लगा है. मारपीट में घायल बीएसएल अधिकारी को अस्पताल में भर्ती कराया गया है.  उन्होंने बताया कि बीएसएल की जमीन पर अतिक्रमण की जानकारी मिलने पर वह वहां गये थे. तालाब जीर्णोद्धार का काम बंद करने को कहा. इसी दौरान बाइक से विधायक आये और गाली-गलौज करते हुए मारपीट की. 
 
वहां से भाग कर उन्होंने अपनी जान बचायी. घटना को लेकर दोनों तरफ से प्राथमिकी दर्ज  कराने के लिए बीएस सिटी थाना में आवेदन दिया गया है. घायल बीएसएल अधिकारी  अजीत कुमार ने आवेदन देकर विधायक बिरंची नारायण व उनके 20-25 समर्थकों पर  मारपीट करने व कार्य में बाधा पहुंचाने का आरोप लगाया है. वहीं, विधायक की ओर से  ठेकेदार  कृष्ण कुमार पांडेय ने डीजीएम अजीत  व अन्य  के खिलाफ  मारपीट करने, काम रोकने व 22 हजार रुपये छीनने का आरोप लगाया है.  
 
इधर, घटना को लेकर बोकारो इस्पात संयंत्र के अधिकारियों में आक्रोश है. अधिकारियों ने शाम में नगर सेवा भवन से जस्टिस मार्च निकाला. बाद में एसपी पी मुरूगन से मुलाकात की. इधर, विधायक बिरंची नारायण ने डीसी और एसपी से मिल कर घटना की जानकारी देते हुए एजीएम की शिकायत की. कहा कि बीएसएल सरकारी योजनाओं को धरातल पर उतारने के लिए एनओसी नहीं देता है. एजीएम अजीत कुमार अतिक्रमण के नाम पर स्थानीय लोगों को परेशान भी करते हैं.

मैंने बीच-बचाव किया
 
मैं आवास में लोगों से मिल रहा था. इसी बीच तालाब जीर्णोद्धार का काम की जानकारी मिलने पर वहां गया था. मैं पहुंचा तो पहले से ही हाथापाई हो रही थी. मैंने बीच-बचाव किया, मारपीट नहीं की. बोकारो की जनता को पता है कि मैं हिंसा व मारपीट में विश्वास नहीं रखता हूं.
 
बिरंची नारायण, विधायक, बोकारो

ऐसे में काम करना मुश्किल
 
घटना निंदनीय है. अतिक्रमण से शहर बर्बाद हो रहा है. अतिक्रमण हटाने अधिकारी जाते हैं, तो उनके साथ मारपीट की जाती है. उन्हें बेइज्जत किया जाता है. ऐसे में अधिकारियों का काम करना मुश्किल है. कानून को अपने हाथ में लेने का अधिकार किसी को नहीं है.
 
एके सिंह, अध्यक्ष, बोकारो स्टील ऑफिसर्स एसोसिएशन

बीएसएल अधिकारी और ठेकेदार ने पुलिस को दिया आवेदन
 
बोकारो : घटना को लेकर दोनों तरफ से प्राथमिकी दर्ज कराने के लिए बीएस सिटी थाना में आवेदन दिया गया है. घायल बीएसएल अधिकारी अजीत कुमार ने आवेदन देकर विधायक बिरंची नारायण व उनके 20-25 समर्थकों पर मारपीट करने व कार्य में बाधा पहुंचाने का आरोप लगाया है. एजीएम के अनुसार, वह अतिक्रमण निरोधी दस्ता के होमगार्ड जवान को साथ पहुंचे. देखा कि कैंप दो तालाब के पास सड़क किनारे बड़े-बड़े गड्ढे किये गये हैं और पिलर ढलाई का काम किया जा रहा है. गड्ढा किये जाने के कारण बीएसएल का टेलीफोन केबल कट गया था. 
कुछ दिनों से टेलीफोन सेवा बाधित थी. काम कर रहे मजदूरों को काम बंद करने को कहा. मजदूरों ने इसकी सूचना फोन पर ठेकेदार को दी.
 
ठेकेदार कुछ देर में आया और फोन कर विधायक को बुलाया. विधायक 20-25 समर्थकों के साथ पहुंचे. उनसे परिचय पूछने के बाद मारपीट करने लगे. विधायक ने अपने समर्थकों को भी हमला करने का निर्देश दिया. मारपीट में उनके चेहरा, आंख, गर्दन, सिर, पीठ पर चोटें आयी हैं.
 इधर, मेसर्स ललिता इंटरप्राइजेज के ठेकेदार कृष्ण कुमार पांडेय ने दिये आवेदन में बीएसएल के डीजीएम अजीत कुमार व अन्य को अभियुक्त बनाया है. कहा कि तालाब जीर्णोद्धार का काम मंगलवार को चल रहा था. इसी दौरान एजीएम अपने लोगों के साथ आये और गाली-गलौज व मारपीट कर काम रुकवा दिया. उनसे 22 हजार रुपये भी छीन लिया. 
 
यह देख कर स्थानीय लोगों की भीड़ जुट गयी. स्थानीय लोगों ने एजीएम के साथ धक्का-मुक्की की. सूचना पाकर विधायक बिरंची नारायण पहुंचे. उन्होंने डांट-डपट कर आक्रोशित लोगों से एजीएम को बचाया. विधायक ने एजीएम से कहा कि यह सरकारी काम है. सरकारी काम को बलपूर्वक रोकना नहीं चाहिए था. काम रोकने के लिए डीसी से बात करनी चाहिए थी. डीसी के पास जाने की बात कह विधायक ने एजीएम को भेज दिया.
 
विधायक बोले : मैंने बीच-बचाव किया, मारपीट नहीं की 
 
क्या है मामला : विधायक निधि से सेक्टर वन में एक तालाब का जीर्णोद्धार कार्य कराया जा रहा है. एजीएम का कहना है कि इसके लिए बीएलएल प्रबंधन से एनओसी नहीं लिया गया है. वहीं विधायक का कहना है कि तालाब का जीर्णोद्धार जन सुविधा के लिए किया जा रहा है. एजीएम ने कार्य को गलत बताते हुए रोक दिया था. इसी विवाद में मारपीट की घटना हुई है. पुलिस कानूनी प्रक्रिया पूरी करने में जुट गयी है.
 
चर्चा में माननीयों की हरकतें
 
महिला को जड़ा था तमाचा : गुजरात के नरोदा में भाजपा विधायक बलराम थवानी ने तीन जून को जलसंकट की शिकायत करने पहुंची महिला नीतू तेजवानी को थप्पड़ जड़ दिया था.  
 
बैटमैन विधायक : इंदौर के भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय ने 26 जून को नगर निगम के अधिकारी की बैट से पिटाई कर दी थी.  
तमंचे पर डिस्को : खानपुर के भाजपा विधायक प्रणव सिंह चैंपियन तमंचो के साथ डिस्को कर विवादों में घिर गये.
 

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement