Advertisement

bokaro

  • Apr 15 2019 7:44PM
Advertisement

बेरमो में बोले कीर्ति आजाद- पंडित नेहरु व इंदिरा जी ने देश में औद्योगिक क्रांति लायी

बेरमो में बोले कीर्ति आजाद- पंडित नेहरु व इंदिरा जी ने देश में औद्योगिक क्रांति लायी

- धनबाद से महागठबंधन के कांग्रेस प्रत्याशी इंटक नेता से मिलने पहुंचे बेरमो 

संवाददाता, बेरमो 

धनबाद लोकसभा सीट से महागठबंधन की ओर से कांग्रेस प्रत्याशी व पूर्व सांसद कीर्ति झा आजाद सोमवार को पूर्व मंत्री व इंटक के राष्ट्रीय महामंत्री राजेंद्र प्रसाद सिंह से मिलने उनके ढोरी स्टॉफ क्वार्टर स्थित आवास पर पहुंचे. यहां पहुंचने पर श्री सिंह सहित सैकड़ों की संख्या में कांग्रेस व इंटक के नेताओं तथा कार्यकर्ताओं ने प्रत्याशी श्री झा का जोरदार स्वागत किया. श्री झा ने कहा कि राजेंद्र सिंह मेरे पिता तुल्य है, जिनसे आशीर्वाद लेने आया हूं. राजेंद्र सिंह कोयला मजदूरों के अलावा इंटक के बड़े नेता हैं. राजनीति अनुभव से भरे एक खास व्यक्तित्व के धनी है. 

 

राजेंद्र सिंह ने कहा कि कीर्ति झा आजाद को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रत्याशी बनाकर भेजा है. इसलिए कांग्रेस व इंटक के सारे लोग दलगत भावना से ऊपर उठकर इन्हें जीताकर राहुल गांधी के हाथों को मजबूत करने का काम करें. मौके पर युवा कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष कुमार जयमंगल सिंह व कांग्रेस के बोकारो जिलाध्यक्ष मंजूर अंसारी भी थे. 

 

1971 में इंदिरा जी कर चुकी है सर्जिकल स्ट्राइक 

आयोजित प्रेस वार्ता में कीर्ति झा आजाद ने कहा कि पहले प्रधानमंत्री पंडित नेहरु व इंदिरा जी ने देश में औद्योगिक क्रांति लायी. सेल, बीएसएल, डीवीसी की बीटीपीएस, सीटीपीएस, सिंदरी खाद कारखाना सहित कई पीएस की स्थापना की. इंदिरा जी ने कोयला उद्योग का राष्ट्रीकरण किया. इंदिरा जी ने तो 1971 में ही पाकिस्तान पर सर्जिकल स्ट्राइक करते हुए 92 हजार पाकिस्तानियों को बंदी बनाया था. 

 

दरभंगा ससुराल है, बेटा गोड्डा का हूं 

कीर्ति झा आजाद ने कहा कि दरभंगा मेरा ससुराल है तथा मैं बेटा गोड्डा का हूं. मुझे दिल्ली, बेतिया व वाल्मिनगर से भी टिकट दिये जाने की बात चल रही थी. लेकिन मुझे मेरे पुराने घर वापसी कर पार्टी ने बेहतर निर्णय लिया है. मेरे पिता बिहार के पूर्व सीएम भागवत झा आजाद ने 80 के दशक में धनबाद में भष्टाचारियों के खिलाफ मुहिम छेड़ा था. पिता से मिले संस्कार को लेकर मैं चलता हूं. मेरे ऊपर कभी भी भष्टाचार के आरोप नहीं लगे.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement