Advertisement

bhojpur

  • Jan 12 2019 12:16PM

नोट छापने के मामले में कई सफेदपोश भी पुलिस की रडार पर, कई जगहों परचल रही छापेमारी

नोट छापने के मामले में कई सफेदपोश भी पुलिस की रडार पर, कई जगहों परचल रही छापेमारी
FILE PIC

आरा : बिहार के भोजपुर जिला अंतर्गत संदेश थाना क्षेत्र के जमुआंव गांव में पुलिस ने नोट छापने वाले गिरोह का भंडाफोड़ करने के बाद अब इस रैकेट से जुड़े अन्य लोगों की भी गिरफ्तारी को लेकर छापेमारी तेज कर दी गयी है. शनिवार को भी पुलिस ने मिली जानकारी के मुताबिक छापेमारी में जुटी हुई है. वहीं, शुक्रवार को पुलिस ने जिले के कई गांवों में छापेमारी कर कई संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की थी. संदेश थाना पुलिस ने इस मामले में चांदी थाना क्षेत्र के रामपुर गांव और उदवंतनगर थाना क्षेत्र के रघुनीपुर गांव से कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ किया था. हालांकि, रैकेट से इन लोगों को क्या कनेक्शन है इसकी जांच की जा रही है. बताया जा रहा है कि इस मामले में जिले के कई सफेदपोश भी शामिल है. पुलिस गोपनीय तरीके से जांच कर रही है.

शुक्रवार को पकड़े गये सभी लोगों को पूछताछ के बाद जेल भेज दिया गया. बता दें कि इस मामले में इसी परिवार का राहुल कुमार कई लूटपाट कांडों में वांक्षित है जो जेल में बंद है. इस रैकेट का मुख्य सरगना पिंटू सिंह जो अभी फरार है. उसी के इशारे पर ये सभी लोग नोट छपाई का काम करते थे. 50 प्रतिशत मार्जिन पर ये लोग काम करते थे. अभी तक इन लोगों द्वारा मार्केट में चार से पांच लाख रुपया की सप्लाइ की जा चुकी है. पुलिस पिंटू सहित अन्य आरोपियों को लेकर छापेमारी कर रही है. भोजपुर पुलिस अधीक्षक आदित्य कुमार को गुप्ता सूचना मिली थी कि संदेश थाना क्षेत्र के जमुआंव गांव में नकली नोटों का धंधा चल रहा है, जिसके बाद उनके द्वारा एक टीम गठित किया गया था. जिसके बाद टीम द्वारा सभी आरोपियों को रंगे हाथ गिरफ्तार किया गया.

गौरतलब हो कि गुरुवार को जमुआवं गांव से नोट छापने वाले एक रैकेट को पुलिस ने पकड़ा था. साथ ही नोट छापने वाली मशीन, प्रिंटर सहित नकदी 33 हजार रुपये बरामद किया था. नोट छापने वाले गिरोह द्वारा हाइटेक्नोलॉजी तरीके से नोट की छपाई की जा रही थी. इस मामले में पुलिस ने जमुआंव गांव निवासी नागेंद्र सिंह उनकी पत्नी देवांती देवी, बहू रेखा देवी और नेहा देवी और बडिहा गांव निवासी गुड्डू कुमार को गिरफ्तार किया गया था. 


Advertisement

Comments

Other Story

Advertisement