Advertisement

bhagalpur

  • Apr 21 2017 5:18AM

निदेशकों के पास से मिली करोड़ों की संपत्ति

 पूर्णिया के मैक्स-7 हॉस्पिटल ग्रुप पर आयकर का छापा

पटना/भागलपुर : पूर्णिया में हॉस्पिटल व्यवसाय से जुड़ी एक बड़ी कंपनी मैक्स-7 के हॉस्पिटलों और इसके निदेशकों के यहां आयकर विभाग की टीम ने गहन छापेमारी की. इस छापेमारी में हॉस्पिटल के सभी ठिकानों के अलावा सभी निदेशकों या पार्टनर के यहां बुधवार की देर रात से शुरू हुई 
निदेशकों के पास...
 
छापेमारी गुरुवार की देर रात तक चलती रही. इस मैक्स-7 नामक लिमिटेड कंपनी में करीब 12 शेयर होल्डर हैं, जिनमें अधिकांश डॉक्टर हैं. अब तक की जांच में इनके सभी 12 निदेशकों के यहां से एक करोड़ से ज्यादा कैश, करीब तीन किलो सोना, विभिन्न स्थानों पर जमीन-जायदाद में 15 करोड़ से ज्यादा के निवेश के अलावा हॉस्पिटल में अन्य डॉक्टरों और कर्मचारियों को बिना टैक्स दिये कैश में पेमेंट करने और अन्य खर्चों के सात करोड़ से ज्यादा के कागजात मिले हैं. इसके अलावा टैक्स चोरी के 20 करोड़ से अधिक के कागजात भी मिले हैं. इसमें हॉस्पिटल की आय को कम करके या गलत आय दिखा कर टैक्स की बड़े स्तर पर चोरी की गयी है. फिलहाल अभी सभी कागजात की जांच चल रही है. जांच पूरी होने के बाद टैक्स चोरी के मामलों में बड़े स्तर पर बढ़ोतरी होने की संभावना है.इस कंपनी के जिन निदेशकों के यहां छापेमारी हुई है. उसमें तीन बिजनेसमैन भी हैं
 
, जिनका पैसा इस हॉस्पिटल ग्रुप में लगा हुआ है. एम्बिशन कोचिंग सेंटर के निदेशक अमित कुमार सिन्हा और ब्राइट कैरियर के निदेशक गौतम सिन्हा शामिल हैं. एक अन्य व्यवसायी बाबूलाल डुंगरौल और पीके जैन भी शामिल हैं. इनका भी काफी पैसा इसमें निवेश है. इन सभी बिजनेसमैन के ठिकानों पर भी छापेमारी चल रही है.
 
फिलहाल जांच के बाद ही यह स्पष्ट हो पायेगा कि कुल कितने की गड़बड़ी इनके पास से बरामद हुई है. इसके निदेशक मंडल में शामिल जिन डॉक्टरों के यहां छापेमारी चल रही है, उनमें डॉ पीसी झा, डॉ ब्रम्हदेव कुमार, डॉ ओपी साह (सर्जन), डॉ ओपी साह (फिजिशियन), डॉ बीके सिंह, डॉ एके सिन्हा समेत अन्य शामिल हैं. इनमें कुछ डॉक्टरों के निजी नर्सिंग होम भी हैं, जिनकी तलाशी भी चल रही है. इसमें डॉ ओपी शाह (सर्जन) का नीलम नर्सिंग होम और एक अन्य नर्सिंग होम मां भगवती नर्सिंग होम शामिल है.
 
कंपनी से जुड़े सभी निदेशकों के घर पर भी चल रही छापेमारी, इसमें अधिकांश डॉक्टर
एम्बिशन और ब्राइट कैरियर के कोचिंग संचालकों की भी है हिस्सेदारी, इनके यहां भी छापेमारी
 
Advertisement
पोल
इस बार गुजरात में किसकी बनेगी सरकार? क्या है आपकी राय बतायें?


View Result
Advertisement

Comments