Advertisement

bhagalpur

  • Jan 11 2019 8:11AM
Advertisement

भागलपुर : इमरजेंसी में मरीज सिलीगुड़ी या पटना नहीं रेफर होंगे,भागलपुर में ही इलाज संभव

संजीव, भागलपुर : भागलपुर में स्वास्थ्य की बेहतर सुविधा नहीं होने के कारण जिन रोगों के मरीजों को सिलीगुड़ी या पटना रेफर कर दिया जाता है, आनेवाले दिनों में उनका इलाज भागलपुर में ही संभव हो पायेगा. यहां तक कि किसी हादसे में सिर में आयी चोट का इलाज और दिल की सर्जरी तक यहां होगी. 
 
 बरारी हाउसिंग बोर्ड के सामने सुपर स्पेशियलिटी हाॅस्पिटल का निर्माण शुरू हो गया है. निर्माण एजेंसी ने यहां अपना मशीनरी सिस्टम और कर्मचारियों को तैनात कर खुदाई का काम लगभग पूरा भी कर लिया है. यह अस्पताल छह मंजिला होगा और यहां 200 बेड की सुविधा मिलेगी. मेडिकल स्टोर की सुविधा भी अस्पताल परिसर में ही मिलेगी. कुल मिलाकर मरीज के भर्ती होने के बाद इलाज से संबंधित किसी भी काम के लिये बाहर जाने की जरूरत नहीं होगी
 
प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना से बन रहा अस्पताल
सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल का निर्माण प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना से हो रहा है. करीब दो अरब से हो रहे इस निर्माण को कराने की जिम्मेदारी सेंट्रल पब्लिक वर्क्स डिपार्टमेंट को दी गयी है. निर्माण कार्य त्रिवेणी कंस्ट्रक्शन लिमिटेड करा रही है. 
मिलेंगी ये सुविधाएं
छह मंजिल की बिल्डिंग
 बेहतर जलापूर्ति
 कई लिफ्ट
 फायर फाइटिंग सिस्टम
 फायर अलार्म सिस्टम
 एयर कंडीशन
एजेंसी : त्रिवेणी कंस्ट्रक्शन लिमिटेड
लागत : 98,94,00,000
निर्माण का लक्ष्य :       16.02.2020
अस्पताल में होंगे ये विभाग
 
न्यूरोलॉजी (नस से जुड़े रोग का इलाज)
नेफ्रोलॉजी (किडनी से जुड़े रोग का इलाज)
यूरोलॉजी (मूत्र से जुड़े रोग का इलाज)
काॅर्डियोलॉजी (दिल से जुड़े रोग का इलाज)
काॅर्डियोथोरिक सर्जरी (हृदय व वक्ष से जुड़ी सर्जरी)
न्यूरो सर्जरी (नस रोग संबंधित सर्जरी)
 
ट्रोमा एंड इमरजेंसी मेडिसिन (चोट, क्षति, मानसिक क्षति आदि से जुड़ी आपातकालीन सुविधा).
 
सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल का निर्माण कार्य कुछ ही दिनों में शुरू हो जायेगा. इसका शिलान्यास जल्द करा लिया जायेगा. वर्ष 2020 में इसका निर्माण पूरा कर लिया जायेगा.
चंद्रशेखर कुमार, सहायक अभियंता, सीपीडब्ल्यू
 

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement