Advertisement

bhagalpur

  • Apr 19 2019 7:11AM

दूसरे चरण का मतदान : गांव रहा सजग, शहर पड़ गया सुस्त

दूसरे चरण का मतदान : गांव रहा सजग, शहर पड़ गया सुस्त

दूसरे चरण के मतदान को लेकर कोसी-पूर्व बिहार के पांच लोक सभा क्षेत्रों- बांका, भागलपुर, कटिहार, पूर्णिया व किशनगंज में सुबह से ही वोटरों की कतार लग गयी. अब तक के रूझान के मुताबिक ग्रामीण क्षेत्रों के मतदाता सजग दिखे, वहीं शहरी क्षेत्रों में मतदान की गति गांव की अपेक्षा धीमी रही. कुछ जगहों पर मौसम ने साथ भी दिया, जिससे वोटर घरों से निकले. सभी जगहों पर शुरू में कई बूथों से इवीएम की खराबी की शिकायत आयी. अधिकतर जगहों पर पर्ची का वितरण नहीं होने के कारण मतदान की गति काफ‌ी धीमी रही. 

कुछ स्थानों पर मतदान बहिष्कार के भी मामले सामने आये. कुछ मतदान केंद्रों पर महिला मतदाताओं की लंबी कतार सुबह छह बजे से ही लगी हुई थी. वरीय अधिकारी लगातार मतदान केंद्रों का जायजा ले रहे थे. टेंपो व निजी वाहनों से लोग बूथ पर जाते दिखे. कई जगहों पर स्वयंसेवियों ने मुफ्त वाहन की व्यवस्था की थी. बुजुर्गों में भी वोटिंग को लेकर उत्साह देखा गया.

भागलपुर में दोपहर बाद बढ़ी मतदान की रफ्तार

भागलपुर लोकसभा क्षेत्र में दोपहर बाद मतदान की रफ्तार पकड़ी. सुबह सात बजे से शुरू हुए मतदान के दो घंटों तक मतदान की प्रक्रिया सुस्त रही, इसका कारण इवीएम व वीवी पैट का चालू होना रहा. सूचना के आधार पर तकनीकी टीम वहां जाकर वोटिंग मशीन को चालू कर रहे थे. 

गोपालपुर विधानसभा के रंगरा प्रखंड स्थित साधोपुर जहांगीरपुर बौसी के बूथ संख्या-111 व 112 पर वोटरों ने वोट बहिष्कार किया. पीरपैंती में दो पक्षों के बीच तनाव के कारण धारा 144 के लगाये जाने से लोग वोट देने के लिए बूथ नहीं आये. मध्य विद्यालय बालिका बड़हपुरा के बूथ संख्या 236 237 241 पर मतदाताओं ने हंगामा किया. साथ ही हंगामा के कारण गोपालपुर विस के जगतपुर में मतदान बाधित रहा.

यहां पर इवीएम व वीवीपैट की खराबी : नवयुग विद्यालय, नाथनगर 128 नंबर बूथ, बरारी आईटीआई, सराय स्थित बूथ नंबर 102, पंचायत भवन जानीडीह में बूथ संख्या107, जगदीशपुर के बदलूचक बूथ संख्या 7, सदर कोतवाली बूथ नंबर 23, तेतरी मध्य विद्यालय बूथ नंबर 76,मध्य विद्यालय बालिका बड़हपुरा के बूथ संख्या 237, बिहपुर के आलियाबाद में बूथ नंबर 106, 109, 110, जगदीशपुर में बूथ संख्या 148, सीएमएस स्कूल के बूथ संख्या 34 आदि जगहों पर इवीएम व वीवीपैट में गड़बड़ीके कारण मतदान कुछ देर बाधित हुआ.

बांका

बूथों पर वोट बहिष्कार व शंभूगंज में हवाई फायरिंग के बीच मतदान

बांका संसदीय क्षेत्र में मतदान में महिला मतदाताओं की भागीदारी सर्वाधिक दिखी. वे मतदान शुरू होने से पहले ही अपने अपने बूथ पर वोट डालने पहुंच गयी थी. जिले के तीन स्थानों पर मतदाताओं ने वोट बहिष्कार किया. इसमें अमरपुर के बूथ संख्या 149 मध्य विद्यालय घिमड़ा पर 'सड़क नहीं तो वोट नहीं ' का नारा लगाते हुए वोट बहिष्कार किया गया.  

तीन बूथों पर नहीं पड़े वोट : जिले के तीन मतदान केंद्रों पर विभिन्न मांगों को लेकर मतदाताओं ने वोट का बहिष्कार किया. अमरपुर के बूथ संख्या 149 मध्य विद्यालय घिमड़ा पर ' सड़क नहीं तो वोट नहीं ' के कारण बोट बहिष्कार किया गया. मतदाताओं को मनाने के लिए जिला कल्याण पदाधिकारी एवं बीडीओ पहुंचे, लेकिन ग्रामीण नहीं माने. इसके साथ ही धोरैया विधान सभा के बूथ संख्या 254 प्राथमिक विद्यालय जाजू तथा बांका विधानसभा के बाराहाट प्रखंड के चपरा रजक टोला के मतदान केंद्र संख्या 177 पर भी सड़क की मांग को लेकर मतदाताओं ने वोट का बहिष्कार किया. 

एसएसबी जवान ने की हवाई फायरिंग

अमरपुर विस के शंभुगंज प्रखंड में रमचुआ में गोलीबारी हुई. मध्य विद्यालय रमचुआ उत्तरी व दक्षिणी के मतदान केंद्र संख्या 59 व 60 पर तैनात एसएसबी के एक जवान ने महिला मतदाता के साथ धक्का-मुक्की की. ग्रामीण एसएसबी जवान को बूथ से खींचकर बाहर ले जाने का प्रयास करने लगे. स्थिति नाजुक होने पर एसएसबी के जवानों को हवाई फाइरिंग की. 

तपती धूप में होती रही वोट की बारिश

किशनगंज लोस में आधी आबादी ने  अपने अधिकार का जमकर इस्तेमाल किया. पुरुषों की कतार पर महिलाओं की कतार भारी पड़ी. लोकसभा क्षेत्र में चुनाव के दौरान गुरुवार को वोटरों का उत्साह देखते ही बन रहा था. बढ़ती गर्मी के साथ मतदान का प्रतिशत भी बढ़ता चला गया. मतदान को लेकर गुरुवार को बाजार में सन्नाटा पसरा रहा, वहीं मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की भीड़ लगी रही. 

दोपहर दो बजे तक 43 प्रतिशत मतदान हुआ. जिला निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय से प्राप्त जानकारी के मुताबिक शाम चार बजे तक लोकसभा क्षेत्र के किशनगंज, ठाकुरगंज, कोचधामन व बहादुरगंज विधानसभा क्षेत्र में औसतन प्रतिशत मतदान हुआ है. एक बजे तक किशनगंज के चार विधानसभा क्षेत्रों में 32 फीसदी मतदान हुआ. इसके पूर्व एक बजे तक किशनगंज के चार व पूर्णिया लोकसभा के सभी छह विधान सभा क्षेत्रों में कुल मिलाकर मतदान 38 प्रतिशत हुआ है. इसमें विधानसभा वार नजर डालें, तो बहादुरगंज में 24.29, ठाकुरगंज में 27.87, किशनगंज में 35.22, कोचाधामन में 46.12, अमौर में 40.26 व बायसी में 42.02 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया. जिला मुख्यालय में मुख्य बाजार में अधिकांश दुकानें बंद रहीं और देर शाम तक यही स्थिति बनी रही. 

पूिर्णया

मतदान से दो घंटे पहले ही पहुंच गये वोटर, महिलाएं रहीं आगे

पूर्णिया लोकसभा सीट में गुरुवार को चुनाव शांतिपूर्ण माहौल में हुआ. मतदान की प्रक्रिया सुबह सात बजे शुरू हो गयी. शुरुआती दौर में अफरा-तफरी जैसी स्थिति थी और मतदान की रफ्तार भी धीमी चल रही थी पर जैसे-जैसे दिन चढ़ता गया मतदान की गति भी बढ़ती चली गयी. 

शुरुआती दौर में दस बजे तक औसतन 10 फीसदी मतदान हुआ, जबकि ग्यारह बजे तक यह बढ़कर 16 फीसदी हो गया. इसके बाद धीरे-धीरे मतदान की गति बढ़ी और पूर्वाह्न 12 बजे तक 25.45 प्रतिशत तक मतदान हुआ. हालांकि मौसम इस बार अनुकूल रहा. आसमान में धूप जरूर थी पर हवा ठंडी चल रही थी जिससे वोटरों को कतार में खड़ा रहने में परेशानी नहीं हुई. अपराह्न 3 बजे तक कुल 46.13 फीसदी वोट डाले गये. वोटरों में काफी उत्साह था और यही वजह है कि मतदाताओं ने बढ़चढ़ कर मतदान में हिस्सा लिया. 

महिलाओं व युवाओं में जबर्दस्त उत्साह देखा गया जबकि बुजुर्ग वोटरों ने भी जवान जैसा जोश दिखाया. इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि मतदान शुरू होने के दो घंटे पूर्व ही मतदाता बूथों पर पहुंचने लगे थे, जिससे सुबह साढ़े पांच बजे ही कई बूथों पर मतदाताओं की लंबी-लंबी कतार लग गयी थी. कोसी कॉलोनी के बूथ नंबर 36 पर करीब 45 मिनट विलंब से मतदान शुरू हुआ. यहां इवीएम खराब हो गयी थी. बाद में दूसरी मशीन लायी गयी और तब मतदान शुरू हो सका. इवीएम खराब होने से कई बूथों पर मतदान डिस्टर्ब हुआ. 

सुबह दस बजे तक जगह-जगह से इवीएम खराब होने की सूचनाएं आती रहीं. शहर के बूथ नंबर 38 पर करीब एक घंटे से इवीएम खराब होने की वजह से लोग आक्रोशित हो उठे. शहर से सटे उथरी उत्क्रमित मध्य विद्यालय के बूथ नंबर 199 पर भी देर से मतदान शुरू हुआ. वोटरों ने सवाल करना शुरू ही किया था कि वोटिंग शुरू करा कर लोगों को शांत किया गया. केनगर प्रखंड के गणेशपुर मध्य विद्यालय स्थित बूथ नंबर 247 पर दो घंटा विलंब से मतदान शुरू हुआ. 

कटिहार

कड़ी धूप में भी मतदाताओं का उत्साह नहीं हुआ कम

कटिहार संसदीय क्षेत्र के लिए जिले के सभी 1667 मतदान केंद्रों पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मतदान शुरू हुआ.  कई मतदान केंद्रों से ईवीएम वीवीपैट के खराब होने की सूचना भी मिलती रही. जैसे ही इवीएम व वीवीपैट के खराब होने की सूचना प्रशासन को मिली, उसके कुछ समय बाद या तो उस इवीएम को बदल दिया गया या फिर उसे ठीक कर दिया गया.  

वोट बहिष्कार की बात आयी सामने

शांतिपूर्ण मतदान कराने को लेकर जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह जिला पदाधिकारी पूनम लगातार निगरानी करती रही. मतदान शुरू होने के कुछ समय तक इवीएम व वीवीपैट के खराब होने की सूचना स्थानीय स्तर पर भी मिलती रही तथा जिला कंट्रोल रूम में भी यह सूचना आती रही. 

सवेरे 8:30 बजे तक करीब 50 से अधिक इवीएम मशीन को खराब होने की वजह से बदला गया. कमोवेश यही स्थिति पूर्णिया संसदीय क्षेत्र के कोढ़ा विधानसभा के मतदान केंद्रों की भी रही. इस विधानसभा में 262 मतदान केंद्र पर मतदान शुरू हुआ. सभी मतदान केंद्रों पर सुरक्षा कर्मी तैनात दिखे. बलरामपुर व मनिहारी विधानसभा क्षेत्र के कुछ बूथों पर वोट बहिष्कार की भी सूचना है. मनिहारी विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत बूथ संख्या 139 व 140 में समस्याओं को लेकर लोगों ने वोट नहीं दिया. हालांकि जिला प्रशासन ने अभी तक वोट बहिष्कार की पुष्टि नहीं की है.

कई बूथों पर इवीएम व वीवीपैट खराब

मतदान के शुरुआती दौर में इवीएम एवं वीवीपैट के खराब होने की सूचना भी विभिन्न बूथों से मिली. प्राणपुर विधान सभा अंतर्गत बूथ संख्या चार में सवेरे 7:30 बजे तक मतदान बाधित रहा, जबकि मनिहारी विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत अमदाबाद प्रखंड के बूथ संख्या 258 मतदान बाधित रहा. यही स्थिति मतदान संख्या 282 में भी रही. 

 

Advertisement

Comments

Advertisement