Advertisement

ranchi

  • Apr 19 2019 4:03PM
Advertisement

दहेज के लिए रांची की बेटी की भागलपुर में हत्या, शव छोड़ कर भागे ससुराल पक्ष के लोग

दहेज के लिए रांची की बेटी की भागलपुर में हत्या, शव छोड़ कर भागे ससुराल पक्ष के लोग

भागलपुर : रांची के हिंदपीढ़ी निजाम नगर मोहल्ला निवासी मेहंदी हसन की शादीशुदा बेटी मरिया परवीन की भागलपुर के सराय स्थित ससुराल में दहेज के लिए हत्या कर दी गयी. 12 दिसंबर, 2012 में मरिया की शादी भागलपुर के तातारपुर थाना क्षेत्र के कल्लू सरदार लाल निवासी इरशाद खान उर्फ गुड्डू से हुई थी. इरशाद खान पटना में ओला कैब चलाता था. वहीं, शादी के बाद मरिया पटना के मॉल में सेल्स गर्ल का काम करती है. 

बैंक द्वारा एक साल पूर्व कैब को खींचे जाने के बाद मरिया को लेकर गुड्डू वापस भागलपुर आ गया. यहां वह कचहरी चौक स्थित एक शोरूम में सेल्समैन का काम करने लगा. मरिया को चार माह की बेटी भी है. पिता मेहंदी हसन ने बताया कि वह रांची के मेन रोड में ई-रिक्शा चलाते हैं. शादी के बाद दामाद और बेटी के ससुराल वाले दहेज की मांग को लेकर अक्सर मारिया को प्रताड़ित करते थे. गुरुवार शाम करीब 5.30 बजे बेटी के ससुराल से फोन आया कि मारिया की तबीयत खराब है और जल्दी भागलपुर आ जाएं. कुछ देर बाद पुनः दोबारा फोन आया कि मारिया की कतिपय कारणों से मौत हो गयी. सूचना मिलने पर लड़की के पिता मेहंदी हसन, अल्ताफ हुसैन समेत कई परिजन शुक्रवार की सुबह में भागलपुर पहुंचे. यहां पहुंचने पर देखा कि मारिया प्रवीण की लाश आंगन में पड़ी है. उनकी बेटी की हत्या कर दी गयी है और उनकी चार माह की नतिनी को भी दामाद लेकर फरार हो गया है. मामले में मृतका के पिता के बयान पर पति समेत अन्य ससुराल वालों के खिलाफ तातारपुर थाने में भादवि की धारा-304 (बी) के तहत केस दर्ज किया गया है.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement