bhagalpur

  • Jan 25 2020 7:57AM
Advertisement

फरीदाबाद से आयी युवती पूरे परिवार के साथ प्रेमी के घर के बाहर धरने पर बैठी, ...जानें क्या है मामला?

फरीदाबाद से आयी युवती पूरे परिवार के साथ प्रेमी के घर के बाहर धरने पर बैठी, ...जानें क्या है मामला?
युवक और युवती का फाइल फोटो.

भागलपुर : जिले के मोजाहिदपुर थाना क्षेत्र के मिरजानहाट कलबगंज मोहल्ले में एक हाइ वोल्टेज ड्रामा ने उस समय तूल पकड़ लिया, जब फरीदाबाद से आयी एक युवती अपने प्रेमी के घर के दरवाजे पर धरने पर बैठ गयी. देखते ही देखते वहां मोहल्ले के लोगों की भीड़ जमा हो गयी. घटना की सूचना एसएसपी को दी गयी. इसके बाद थानाध्यक्ष ने युवती के परिजनों और प्रेमी के पिता को थाना बुलाया. लेकिन, युवती ने घर के दरवाजे से हिलने तक से इनकार कर दिया. 

इधर, थाना पहुंचे प्रेमी के पिता ने पहले तो अपने बेटे की गलती मानते हुए युवती से बेटे की शादी कराने को तैयार हो गया, लेकिन उसके बाद प्रेमी के पिता ने युवती के परिजनों पर आरोप लगाना शुरू कर दिया और मामले को रफा-दफा करने के लिए तरह-तरह का प्रलोभन देना शुरू कर दिया. वहीं, एसएसपी को घटना की जानकारी मिलते ही उन्होंने सिटी डीएसपी को मामले को देखने और महिला थाना प्रभारी को आवश्यक कार्रवाई करने के लिए निर्देशित किया.

घटना शुक्रवार सुबह आठ बजे की है, जब क्लबगंज स्थित विवाह भवन संचालक जनार्दन साह के घर के दरवाजे पर एक युवती धरने पर बैठ गयी. मोहल्ले के लोगों ने जब उससे इसकी वजह जानने की कोशिश की, तो उसने बताया कि वह फरीदाबाद में रहती है और वहीं से अपने प्रेमी और कथित पति का घर ढूंढ़ते हुए भागलपुर पहुंची थी. उसने बताया कि जनार्दन साह के परिवार और उसके परिवार के बीच दूर की रिश्तेदारी है. 

साल 2018 की फरवरी में उसकी मुलाकात भागलपुर के निवासी जनार्दन साह के बेटे रजनीकांत से दिल्ली के इंडिया गेट पर हुई थी. धीरे-धीरे दोस्ती हुई, फिर दोस्ती प्यार में बदल गयी. इसके बाद रजनीकांत ने उसे शादी का झांसा देते हुए कई बार संबंध बनाया. इसके बाद उन दोनों ने दिल्ली के कालका मंदिर में विगत 17 जुलाई, 2018 को मांग में सिंदूर लगा कर हवन के फेरे लिये. इसके बाद घर पर कुछ दिनों बाद बात कर वहां ले जाने की बात कही. मंदिर में हुई शादी के बाद वे लोग पति-पत्नी की तरह दिल्ली में रहने लगे. इसके बारे में युवती ने अपने घर में भी सबको बता दिया था. 

कई महीनों तक साथ में रहने के बाद उसने विधिवत शादी की बात करने के लिए अपने मां-पिता से मिलने भागलपुर जाने की बात कही और मार्च माह में वह भागलपुर आ गया. यहां आने के बाद उसकी मां ने शादी से इनकार कर दिया. इसके कुछ दिनों बाद तक रजनीकांत ने मां-पिता को मना लेने की बात कह कर बात की. लेकिन, विगत 24 मार्च 2019 को रजनीकांत ने युवती का फोन उठाना भी बंद कर दिया. इसके बाद युवती के परिजनों ने कुछ माह पूर्व ही मामले में हस्तक्षेप किया, तो रजनीकांत के परिवार के लोग शादी के लिए तैयार हो गये और 15 जनवरी, 2020 को उसकी शादी कराने की बात कही. इस बात पर युवती के परिवार के लोग शादी की तैयारी में जुट गये. लेकिन, कुछ दिन पहले ही रजनीकांत के परिवार वालों ने युवती और उसके परिवार का फोन उठाना बंद कर दिया. इसके बाद वह बिना बताये ही 22 जनवरी, 2020 को अपने घर में पत्र छोड़ कर भागलपुर आ गयी और रजनीकांत के आधार कार्ड में लिखे पते पर 23 जनवरी की शाम को पहुंची. 

युवती ने बताया कि गुरुवार रात उसके घर पर पुलिस को भी बुलाया गया, पर वहां पहुंची पुलिस ने युवती को पहले घर के भीतर बुलाया और रजनीकांत के पिता और अन्य परिजनों के सामने पैसे लेकर मामले में समझौता कराने लगी. समझौते की बात पर वह तैयार नहीं हुई. रात के वक्त ही युवती घर से निकल गयी और रेलवे प्लैटफॉर्म पहुंच वहां रात बितायी. इसके बाद शुक्रवार की सुबह वह प्रेमी रजनीकांत के घर पहुंच कर दरवाजे पर ही भूखे-प्यासे धरना देने का फैसला किया और वहीं घर के दरवाजे पर बैठ गयी.

दोपहर करीब 12 बजे फरीदाबाद से युवती की बहन, भाई और भाभी उसे ढूंढ़ते हुए रजनीकांत के घर पहुंचे, जहां से भाई-भाभी और प्रेमी के पिता को थानाध्यक्ष ने थाने पर बुलाया. थाना पहुंच कर रजनीकांत के पिता जनार्दन साह ने अपने बेटे की गलती कबूल करते हुए शादी के लिए तैयार हो गये. लेकिन, मामला तब बिगड़ गया, जब जनार्दन साह ने युवती के भाई और भाभी पर ही गंभीर आरोप लगाना शुरू कर दिया. इस बात की जानकारी एसएसपी को दी गयी. इसके बाद उन्होंने सिटी डीएसपी और महिला थाना प्रभारी को मामले में आवश्यक कार्रवाई करने के लिए निर्देशित किया.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement