Advertisement

begusarai

  • Sep 12 2019 5:07AM
Advertisement

करेंट लगने से युवक की हुई मौत

 बलिया : डंडारी थाना क्षेत्र के पंचरूखी में बुधवार को विद्युत प्रवाहित तार जोड़ने के क्रम में एक 20 वर्षीय युवक की मौत हो गयी. मृत युवक की पहचान पचरूखी निवासी विजय राम के 20 वर्षीय पुत्र धर्मेंद्र कुमार के रूप में की गयी है. इस संबंध में मृतक की बड़ी बहन अंजु देवी ने बताया कि मेरा भाई घर में लैपटॉप में बिजली का तार जोड़ रहा था. इसी दौरान वह विद्युत प्रवाहित तार की चपेट में आ गया.

 
 बताया जाता है कि करेंट लगने के बाद परिजन आनन-फानन में इलाज के लिए पीएचसी बलिया ले गये . जहां डॉक्टर राहुल कुमार ने उक्त युवक को मृत घोषित कर दिया. इसके बाद  शव को घर ले जाने के लिए एंबुलेंस की सुविधा नहीं मिलने पर परिजन शव को बाइक से घर की ओर ले गये.यह घटना लोगों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है.
 
 लोग इस घटना को मानवता को शर्मसार करने वाली घटना बता रहे हैं. जबकि इस संबंध में पीएचसी के डॉ राहुल कुमार ने बताया कि अस्पताल में शव वाहन का नहीं होने से शव को ले जाने के लिए एंबुलेंस की व्यवस्था नहीं हो पाती है. पीड़ित परिजन अपने हिसाब से व्यवस्था कर शव को ले जाते हैं. घटना के बाद परिजनों में कोहराम मचा हुआ है.
 
एंबुलेंस की सुविधा नहीं मिलने पर परिजन शव को बाइक से घर ले गये
बलिया : डंडारी थाना क्षेत्र के पंचरूखी में बुधवार को विद्युत प्रवाहित तार जोड़ने के क्रम में एक 20 वर्षीय युवक की मौत हो गयी. मृत युवक की पहचान पचरूखी निवासी विजय राम के 20 वर्षीय पुत्र धर्मेंद्र कुमार के रूप में की गयी है. इस संबंध में मृतक की बड़ी बहन अंजु देवी ने बताया कि मेरा भाई घर में लैपटॉप में बिजली का तार जोड़ रहा था. इसी दौरान वह विद्युत प्रवाहित तार की चपेट में आ गया. 
 
बताया जाता है कि करेंट लगने के बाद परिजन आनन-फानन में इलाज के लिए पीएचसी बलिया ले गये . जहां डॉक्टर राहुल कुमार ने उक्त युवक को मृत घोषित कर दिया. इसके बाद  शव को घर ले जाने के लिए एंबुलेंस की सुविधा नहीं मिलने पर परिजन शव को बाइक से घर की ओर ले गये.यह घटना लोगों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है. 
 
लोग इस घटना को मानवता को शर्मसार करने वाली घटना बता रहे हैं. जबकि इस संबंध में पीएचसी के डॉ राहुल कुमार ने बताया कि अस्पताल में शव वाहन का नहीं होने से शव को ले जाने के लिए एंबुलेंस की व्यवस्था नहीं हो पाती है. पीड़ित परिजन अपने हिसाब से व्यवस्था कर शव को ले जाते हैं. घटना के बाद परिजनों में कोहराम मचा हुआ है.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement