Advertisement

begusarai

  • Jun 25 2019 5:12AM
Advertisement

मजदूरों के हित में सड़क से सदन तक संघर्ष करेगा संघ

 बीहट  : भारतीय मजदूर संघ के पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं की बैठक बीहट स्थित बीएमएस जिला कार्यालय में हुई. मौके पर बीएमएस के जिलामंत्री सुनील कुमार ने कहा कि मजदूरों की समस्याओं के समाधान के प्रति हर्ल प्रबंधन की उदासीनता व लापरवाही बड़े ही दुर्भाग्य की बात है. जबकि विगत दस जून को गेट मीटिंग के माध्यम से हर्ल कारखाना के नवनिर्माण कार्य में लगे मजदूरों के शोषण और स्थानीय मजदूरों की सहभागिता को लेकर ध्यान आकृष्ट कराया गया था. 

 
प्रबंधन को लिखित ज्ञापन देकर मजदूरों की न्यूनतम मजदूरी, पीएफ, इएसआइ, शुद्ध पेयजल, सेफ्टी, प्राथमिक उपचार एवं विश्रामालय सहित अन्य समस्याओं के निराकरण के लिए पच्चीस जून तक वार्ता के माध्यम से पूरा करने की अपील की गयी थी. हर्ल प्रबंधन की तानाशाही और अड़ियल रवैये के कारण मजदूरों में आक्रोश बढ़ता जा रहा है. उन्होंने चरणबद्ध आंदोलन की घोषणा करते हुए कहा कि छब्बीस जून को कार्यरत सभी मजदूर बांह पर काली पट्टी बांध कर सांकेतिक विरोध करते हुए कार्य करने का निर्णय लिया है.
 
 जिला मंत्री ने हर्ल प्रबंधन को अल्टीमेटम देते हुए आगाह  किया कि हर्ल प्रबंधन श्रम अधिनियम को कारखाना के भीतर शत-प्रतिशत लागू करे, नहीं तो संघ मजदूरों के हित में सड़क से लेकर सदन तक संघर्ष करेगा.बैठक में बरौनी खाद प्रतिष्ठान कामगार संघ के महामंत्री रामकुमार महर्षि,अध्यक्ष रणवीर कुमार सिंह, ठेका मजदूर संघ के जिलाध्यक्ष महेश सिंह, संजय कुमार, लालधारी राय, कविता देवी, कौशल किशोर मंगरू, नंदन, प्रेम कुमार सहित अन्य मौजूद थे.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement