Advertisement

bbc news

  • Apr 16 2019 1:34PM
Advertisement

राहुल ने बताया, क्यों लड़ रहे हैं केरल की सीट से

राहुल ने बताया, क्यों लड़ रहे हैं केरल की सीट से

राहुल गांधी

Getty Images

केरल के कोल्लम में एक चुनावी रैली में राहुल गांधी ने दक्षिण से भी चुनाव लड़ने की वजह बताई.

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, "मैं आमतौर पर उत्तर भारत में अमेठी से चुनाव लड़ता हूं लेकिन इस बार मैंने दक्षिण भारत को एक संदेश देने के लिए केरल से चुनाव लड़ने का फैसला किया."

उन्होंने कहा, "मैं संदेश देना चाहता था कि भारत केवल दृष्टिकोण नहीं है, भारत सिर्फ एक विचार नहीं है, भारत लाखों लाख विचारों, दृष्टिकोणों का प्रतिबिम्ब है और ये सभी हमारे लिए अहम हैं."

इस बीच मंगलवार को केंद्रीय गृहमंत्री और बीजेपी नेता राजनाथ सिंह का नामांकन है.

उत्तर प्रदेश की लखनऊ संसदीय सीट से नामांकन भरने के पहले उन्होंने एक रोड शो किया.

15 अप्रैल

अवमानना मामले में सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को नोटिस जारी किया है. अदालत ने उनसे सोमवार से पहले जवाब दाखिल करने को कहा है. अगली सुनवाई 22 अप्रैल को होनी है.

बीजेपी की नेता मीनाक्षी लेखी ने सर्वोच्च अदालत में अवमानना याचिका दायर की थी.

इसमें कहा गया है कि राहुल गांधी ने रफ़ाल मामले में सुप्रीम कोर्ट का हवाला देते हुए ऐसा बयान दिया जिसका मतलब कुछ और निकलता है.

याचिका में कहा गया है कि राहुल अपने व्यक्तिगत बयान को सुप्रीम कोर्ट के आदेश की तरह पेश कर रहे हैं और एक पूर्वाग्रह बनाने की कोशिश कर रहे हैं.

मेनका के बयान पर विवाद

उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर संसदीय क्षेत्र से बीजेपी उम्मीदवार मेनका गांधी के एक बयान को लेकर फिर विवाद छिड़ गया है.

सुल्तानपुर की एक चुनावी सभा में रविवार को उन्होंने कहा कि गांवों में विकास के काम वोटों के आधार पर किए जाएंगे.

उनके अनुसार, "गांवों को चार कैटेगरी में बांटा गया है. ए कैटेगरी में वो आएंगे जहां बीजेपी को 80 प्रतिशत वोट मिलेंगे, जहां 60 प्रतिशत वोट मिलेंगे वो बी, जहां 40 प्रतिशत वोट मिलेंगे वो सी और जहां से बीजेपी को 30 प्रतिशत से भी कम वोट मिलेंगे वो डी कैटेगरी में होंगे."

उनके इस भाषण का वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें वो कहती दिखाई दे रही हैं, "जब काम शुरू होगा तो ए कैटेगरी के गांवों में 80 प्रतिशत काम होगा और बाकी में 60 प्रतिशत काम होगा."

उन्होंने दावा किया कि ये कैटेगरी सिस्टम उन्होंने पीलीभीत में भी लागू किया है.

इससे पहले उनका एक और वीडियो सामने आया था जिसमें वो मुस्लिम वोटरों को दबे छुपे शब्दों में धमकाती नज़र आ रही हैं.

इस पर पहले ही चुनाव आयोग उन्हें कारण बताओ नोटिस थमा चुका है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

]]>

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement