Advertisement

bbc news

  • Feb 10 2019 7:43AM

गुर्जर आंदोलन जारी, हाईवे जाम करने की चेतावनी: पांच बड़ी ख़बरें

गुर्जर आंदोलन जारी, हाईवे जाम करने की चेतावनी: पांच बड़ी ख़बरें

गुर्जर आंदोलन

BBC
प्रतीकात्मक तस्वीर

राजस्थान में आरक्षण की मांग को लेकर चल रहा गुर्जरों का आंदोलन अब भी जारी है. बड़ी संख्या में गुर्जर सवाई माधोपुर में रेलवे ट्रैक पर धरना देकर बैठे हुए हैं.

गुर्जर नेता किरोड़ीसिंह बैसला ने आज बूंदी में हाईवे जाम करने की चेतावनी दी है.

इससे दिल्ली-मुंबई रूट पर ट्रेनों की आवाजाही रुक गई है. आज भी कई ट्रेनें धरने के चलते प्रभावित हो सकती हैं.

गुर्जर समुदाय राज्य में नौकरियों और शिक्षण संस्थानों में पांच फीसदी आरक्षण की मांग कर रहा है. आंदोलनकारी रेलवे ट्रैक पर तंबू गाड़कर और अलाव जलाकर बैठे हैं.

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आंदोलनकारियों से शांति बनाए रखने की अपील की है.

वहीं, शनिवार को राज्य के पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह भी गुर्जरों को मनाने मलारना ट्रैक पहुंचे थे लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला.

नरेंद्र मोदी
Getty Images

आंध्र प्रदेश और ​तमिलनाडु में पीएम मोदी की रैली

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज आंध्र प्रदेश के गुंटूर में रैली को संबोधित करने वाले हैं. सत्ताधारी तेलगू देशम पार्टी (टीडीपी) पीएम मोदी के विरोध की पूरी तैयारी में है.

मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं से पूरे राज्य में विरोध प्रदर्शन करने की अपील की है.

ये रैली इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि टीडीपी के एनडीए से अलग होने के बाद से यह पीएम मोदी की राज्य में पहली यात्रा है.

एक सभा को संबोधित करने के अलावा पीएम मोदी यहां पेट्रोलियम और गैस से जुड़ी 6,825 करोड़ रूपये की दो परियोजनाओं को देश को समर्पित करेंगे.

इसके अलावा नरेंद्र मोदी आज ​तमिलनाडु के तिरुपुर में भी एक सार्व​जनिक रैली को संबोधित करेंगे. यहां पर मोदी राज्य बीमा निगम (ईएसआई) की एक स्वास्थ्य सुविधा का शिलान्यास भी करने वाले हैं.

अमोल पालेकर का भाषण रोका

अभिनेता अमोल पालेकर को सरकार की आलोचना करने पर अपना भाषण बीच में ही रोकना पड़ा.

पालेकर शनिवार को नेशनल गैलरी ऑफ मॉडर्न आर्ट के एक कार्यक्रम में बोल रहे थे. जब वह केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय के एक फैसले की आलोचना करने लगे तो मंच पर मौजूद मॉडरेटर ने उन्हें टोक दिया.

उन्हें अपने भाषण के दौरान कई बार रोका गया और अपनी बात जल्द ख़त्म करने के लिए कहा गया. पालेकर ने अपने भाषण में आर्ट गैलरी के कामकाज पर सवाल उठाए थे.

पिछले साल तक नैशनल गैलरी ऑफ मॉडर्न आर्ट की एक सक्रिया सलाहकार समिति थी जिसमें स्थानीय कलाकारों का प्रतिनिधित्व होता था. लेकिन, अब इस समिति पर संस्कृति मंत्रालय का नियंत्रण हो गया है.

आर्ट गैलरी में यह कार्यक्रम मशहूर कलाकर प्रभाकर बर्वे की याद में आयोजित किया गया था.

टीएमसी विधायक की हत्या के बाद तनाव

पश्चिम बंगाल में तृणमेल कांग्रेस के विधायक सत्यजीत बिस्वास की हत्या के बाद टीएमसी और बीजेपी के बीच तनाव की स्थिति बन गई है.

जहां टीएमसी इस हत्या के लिए बीजेपी को जिम्मेदार ठहरा रही है वहीं, बीजेपी इसे टीएमसी की आपसी कलह का नतीजा बता रही है.

टीएमसी के महासचिव पार्थो चटर्जी ने इस हमले के पीछे बीजेपी का हाथ होने की बात कही. साथ ही कहा कि बंगाल के लोग इस घटना का जवाब देंगे.

जबकि बीजेपी के प्रवक्ता सयंतन बासु ने कहा कि यह हमला टीएमसी के भीतरी गुटों केआपसी झगड़ा का नतीजा हो सकता है. वहीं, बीजेपी के राज्य प्रमुख दिलीप घोष ने पश्चिम बंगाल में कानून व्यवस्था पर सवाल खड़ा ​कर दिया.

सत्यजीत बिस्वास मजधिया इलाके में आयोजित सरस्वती पूजा के एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने गए थे. कार्यक्रम के दौरान जब वे मंच से उतर रहे थे तब किसी अज्ञात व्यक्ति ने उन पर गोली चला दी.

सत्यजीत बिस्वास बांग्लादेश सीमा से सटे कृष्णगंज विधानसभा सीट से विधायक थे. आज टीएमसी के वरिष्ठ नेता इस इलाके में जा सकते हैं.

पेरिस
Reuters

पेरिस में तेल की बढ़ती क़ीमतों के ख़िलाफ़ प्रदर्शन

पेरिस में चल रहा येलो वेस्ट प्रदर्शन लगातार 13वें शनिवार को भी जारी रहा. हज़ारों की संख्या में प्रदर्शनकारी मध्य पेरिस की तरफ मार्च कर रहे हैं.

वहीं, पुलिस भी इन प्रदर्शनकारियों पर करीबी नज़र बनाए हुए है. फ्रांस के कई इलाकों से हिंसक प्रदर्शन की खबरें मिली हैं.

कुछ जगहों पर पुलिस ने आंसू गैस का प्रयोग भी किया है. फ्रांस में लोग राष्ट्रपति मैक्रां की नीतियों का विरोध कर रहे हैं. वे तेल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ़ प्रदर्शन कर रहे हैं.

सड़कों पर प्रदर्शन कर रहे एक प्रदर्शनकारी ओलिविर ने कहा, 'हम बीते कई दशकों से यह देख रहे हैं कि जिन नेताओं को हम चुनते हैं वे हमारे भले के लिए काम ही नहीं करते. वे सिर्फ अपने हित और अपनी लॉबी के लिए काम करते हैं. लेकिन अब ऐसा नहीं होगा, हमें स्पष्ट लोकतंत्र चाहिए.'

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

]]>

Advertisement

Comments

Advertisement