Advertisement

bbc news

  • Dec 7 2018 1:28PM

प्रेस रिव्यू: सिद्धू को बीमारी के कारण बोलने में समस्या

प्रेस रिव्यू: सिद्धू को बीमारी के कारण बोलने में समस्या

सिद्धू

Getty Images

हिन्दुस्तान अख़बार के अनुसार डॉक्टरों ने कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू को चुप रहने की सलाह दी है.

17 दिन में 70 जनसभाएं करने के बाद डॉक्टरों ने उन्हें तीन से पांच दिन आराम करने और कम बोलने को कहा है.

अख़बार के मुताबिक़ पंजाब सरकार ने गुरुवार को विज्ञप्ति जारी कर यह जानकारी दी. सिद्धू गले में समस्या से जूझ रहे हैं.

प्रदूषण
Getty Images

इसी अख़बार की एक अन्य ख़बर के अनुसार दिल्ली में हर रोज प्रदूषण से 34 मौतें हो रही हैं.

अख़बार के अनुसार, वायु प्रदूषण के कारण होने वाली बीमारियों से देश की राजधानी दिल्ली में पिछले साल 12,322 लोगों की मौत हुई, यानी रोजाना क़रीब 34 लोगों ने जान गंवाई.

आईसीएमआर और पब्लिक हेल्थ फाउंडेशन ऑफ इंडिया की ओर से कराए गए एक अध्ययन में ये तथ्य सामने आए हैं.

फ़ेसबुक
Reuters

लोकसभा चुनावों को लेकर फ़ेसबुक की गाइडलाइन

फ़ेसबुक ने कहा है कि उनके सोशल प्लेटफॉर्म पर राजनीतिक प्रचार करने के इच्छुक भारतीय विज्ञापनदाताओं को अपनी पहचान और जगह की पुष्टि करानी होगी ताकि इस माध्यम का किसी भी प्रकार से दुरुपयोग न हो.

फ़ेसबुक का यह निर्णय ऐसे समय में आया है जब देश साल 2019 में होने वाले लोकसभा चुनावों की तैयारी कर रहा है.

फ़ेसबुक की ओर से दिए गए एक बयान में कहा गया है कि विज्ञापनों में पारदर्शिता लाकर हम भारत में होने वाले चुनावों में किसी भी तरह के विदेशी हस्तक्षेप को रोक सकेंगे.

सावित्री बाई फुले
BBC

बीजेपी की पूर्व सांसद ने पार्टी पर लगाया नफ़रत फैलाने का आरोप

इंडियन एक्सप्रेस अख़बार बीजेपी सांसद सावित्री बाई फुले के पार्टी छोड़ने की ख़बर को प्रमुखता दी है. सावित्री का कहना है कि पार्टी नफ़रत फैला रही है इसलिए उन्होंने ये फ़ैसला लिया.

यूपी के बहराइच से बीजेपी सांसद फुले ने कहा कि वो वह पार्टी की नीतियों से असंतुष्ट हैं. फुले ने कहा कि बीजेपी समाज को बांटने की कोशिश कर रही है.

उन्होंने कहा कि बीजेपी दलित, पिछड़ा और मुस्लिम विरोधी है और आरक्षण ख़त्म करने की साज़िश रच रही है.

सीबीआई
Getty Images

सुप्रीम कोर्ट ने सरकार से किया सवाल

सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेजने के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को फ़ैसला सुरक्षित रख लिया.

सुनवाई के दौरान मुख्य न्यायाधीश ने पूछा कि किस वजह से उन्हें रातोरात कार्रवाई करनी पड़ी क्योंकि यह टकराव रातोरात शुरू नहीं हुआ था. यह ख़बर द हिंदू ने प्रकाशित की है.

ये भी पढ़ें..

अगर आपका वोट चोरी हो जाए तो ऐसे करें हासिल

मैं केवल विजिंटिंग कार्ड पर CBI प्रमुख: आलोक वर्मा

'उजाड़ प्रयागराज' में कैसे दिखेगी कुंभ की रौनक

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

]]>

Advertisement

Comments

Advertisement