Advertisement

bbc news

  • Jun 15 2019 8:53AM
Advertisement

झारखंड में नक्सली हमला, 5 पुलिसवालों की मौत

झारखंड में नक्सली हमला, 5 पुलिसवालों की मौत

नक्सली हमला

AFP
सांकेतिक तस्वीर

झारखंड के सरायकेला खरसांवा ज़िले में शुक्रवार शाम हुए नक्सली हमले में पांच पुलिसकर्मियों की मौत हो गई. मृतकों में दो असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर और तीन कॉन्स्टेबल शामिल हैं.

पुलिस के मुताबिक पश्चिम बंगाल से सटे तिरुलडीह थाना क्षेत्र में एक गाड़ी में सवार झारखंड के पुलिसकर्मी 'कुकड़ू साप्ताहिक हाट' से वापस लौट रहे थे. रास्ते में पहले से घात लगाकर बैठे नक्सलियों ने उन पर अंधाधुंध फ़ायरिंग कर दी.

https://twitter.com/dasraghubar/status/1139544499196030979

हमले में पांच पुलिसकर्मियों की मौके पर ही मौत हो गई. पिछले एक महीने के दौरान इस ज़िले में नक्सलियों का यह चौथा हमला है.

झारखंड पुलिस के प्रवक्ता और एडीजी (ऑपरेशंस) एमएल मीणा ने इसकी पुष्टि की है.

उन्होंने बताया, "बंगाल की सीमा की तरफ़ से आए करीब डेढ़ दर्जन नक्सलियों ने पुलिस की गाड़ी को घेर लिया और अंधाधुंध फ़ायरिंग कर दी. इसमें गाड़ी में सवार सभी पुलिसकर्मी मारे गए. कई मोटर साइकिलों से आए नक्सलियों ने फ़ायरिंग के बाद पुलिसकर्मियों के हथियार भी ले लिए. हमारे जवानों ने भी जवाबी कार्रवाई की. इसमें कुछ नक्सलियों को भी गोली लगने की सूचना है. हालांकि वो अपने साथियों के साथ भागने में सफल रहे. पुलिस उनकी तलाश कर रही है.'

उन्होंने बताया, "नक्सलियों का यह जत्था पश्चिम बंगाल की तरफ से आया था. यह इलाका वहां के पुरुलिया जिले से सटा है. यहां साप्ताहिक हाट लगती है. मारे गए पुलिसकर्मी उसी इलाके में गश्त के लिए गए थे, तभी उन पर अचानक हमला कर दिया गया. इसके बावजूद पुलिस जवानों ने जवाबी फ़ायरिंग की लेकिन हमारी संख्या नक्सलियों के मुकाबले कम थी."

ये भी पढ़ें:झारखंड: रामचरण मुंडा की मौत भूख या व्यवस्था की चूक से

नक्सली हमला
Ravi Prakash/BBC

28 मई को भी हुआ था नक्सली हमला

इस बीच मुख्यमंत्री रघुवर दास ने ट्वीट कर इस हमले की निंदा की है.

उन्होंने लिखा, "हमारी सरकार नक्सलवाद को करारा जवाब दे रही है. हमारे जवानों की शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी. दुख की इस घड़ी में समस्त झारखंडवासी शहीदों के परिजन के साथ हैं."

स्थानीय पत्रकारों ने बताया कि सरायकेला खरसांवा जिले के एसपी अभी छुट्टी पर हैं. यहां का प्रभार जमशेदपुर के सिटी एसपी के पास है.

जमशेदपुर से तिरुलडीह की दूरी करीब 65 किलोमीटर है. इस वजह से उन्हें घटनास्थल तक पहुंचने में कमसे कम सवा दो घंटे लगेंगे. शायद नक्सलियों को यह बात पता थी. इसलिए उन्होंने हमले के लिए इस दिन को चुना.

बीती 28 मई को भी सरायकेला खरसांवा जिले के कुचाई में नक्सलियों ने लैंडमाइन विस्फोट किया था. इसमें झारखंड पुलिस और सीआरपीएफ के 26 जवान घायल हुए थे.

ये भी पढ़ें: झारखंड: इस बार आदिवासियों ने 'नोटा' क्यों दबाया

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

]]>

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement