Advertisement

banka

  • Jul 12 2019 7:27AM
Advertisement

सात क्विंटल गांजा बरामद, तस्कर के साथ चालक और खलासी गिरफ्तार

सात क्विंटल गांजा बरामद, तस्कर के साथ चालक और खलासी गिरफ्तार

 बौंसी : पटना एसटीएफ व बांका पुलिस की टीम ने सर्विलांस एक्शन के आधार पर गुरुवार की सुबह हंसडीहा-भागलपुर मुख्य मार्ग के बौंसी बाजार स्थित बजरंग बली चौक के समीप एक ट्रक को जब्त किया. जिस ट्रक पर से टीम को करीब एक करोड़ मूल्य के 7 क्विंटल 5 किलो गांजा बरामद हुआ है. 

 
संयुक्त टीम ने ट्रक के चालक व खलासी को गिरफ्तार कर लिया है. हालांकि बाद में टीम ने उसके निशानदेही पर देर शाम में मोबाइल लोकेशन के आधार पर नवगछिया बिहपुर निवासी मुख्य गांजा तस्कर रंजीत चौधरी को भी भागलपुर के मनाली चौक से गिरफ्तार कर लिया.
 
 जिसके पास से 4 मोबाइल फोन, आठ हजार नगद व तीन एटीएम बरामद हुई है. टीम का नेतृत्व पटना एसटीएफ के सब इंस्पेक्टर विकास कुमार कर रहे थे. जानकारी के अनुसार एसटीएफ टीम झारखंड से ही ट्रक का पीछा कर रहे थे. जैसे ही ट्रक बौंसी थाना क्षेत्र में प्रवेश किया वैसे ही टीम ने बौंसी व धोरैया पुलिस की सहयोग से ट्रक को रोककर तलाशी ली. तलाशी के दौरान पुलिस ने ट्रक के तिरपाल में रखे 71 पॉकेट गांजा बरामद किया.
 
 गांजा के पॉकेट को माफिया के द्वारा प्लास्टिक व मोटे टेप के जरिये बारीकी से पैक किया था, ताकि पुलिस को इसका कोई शक नहीं हो. जब्त ट्रक बीआर 11 एल 8011 व ट्रक मालिक पिंटू भी पूर्णिया का निवासी बताया जा रहा है. गिरफ्तार ट्रक चालक पूर्णिया जिला के धमधाहा थाना क्षेत्र के ढकुआ गांव निवासी मो. ठिठर जबकि खलासी मीन मुख्तार कटिहार जिला के बेलवा बैरगाछी का रहने वाला बताया जा रहा है. 
 
सूत्रों के अनुसार उड़ीसा से ही ट्रक पर गांजा लोड कर लाया जा रहा था, जिसे किशनगंज में डिलेवरी देना था. जिसके बदले चालक व खलासी को तस्कर से 90 हजार रुपया मिलने वाला था, लेकिन बौंसी थाना क्षेत्र में प्रवेश करने के साथ ही मामला बिगड़ गया और ये लोग पुलिस के हत्थे चढ़ गये.
 
 बौंसी थाना में एसपी अरविंद कुमार गुप्ता के समक्ष गिरफ्तार चालक व खलासी एवं मुख्य तस्कर से पूछताछ जारी है. मुख्य सरगना ने बताया है कि दूसरी बार यह गांजा ले जाया जा रहा था. पुलिस को पूछताछ में कई अहम सुराग मिले हैं. इस कारोबार में कई और नाम पुलिस के सामने आया है. एसपी ने एक प्रेसवार्ता आयोजित कर उक्त बातों की जानकारी दी है. आगे बताया है कि गांजा तस्करी में अंतर्राज्यीय तस्कर सक्रिय है, पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है.
 
 इस अभियान में मुख्यालय डीएसपी संजय कुमार, एसटीएफ के सब इंस्पेक्टर विकास कुमार, बौंसी थानाध्यक्ष राजेश कुमार यादव, धोरैया थानाध्यक्ष रवि शंकर कुमार, एसटीएफ जवान रितेश, अंजन, चुलबुल, चंद्रवंशी, राकेश, गुलशन व सोनी के अलावे बौंसी एवं धोरैया के भारी संख्या में पुलिसकर्मी मौजूद थे. 
 
 श्रावणी मेले में खपाने की थी योजना
मालूम हो कि 17 जुलाई से विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेला आरंभ होने वाली है. सूत्रों की मानें तो मादक द्रव्यों के तस्कर के द्वारा यह गांजा श्रावणी मेले में खपाने की योजना थी, जो गुप्त सूचना पर पुलिस ने विफल कर दिया. बरामद गांजा 12 चक्का के ट्रक से लाया जा रहा था, जो ट्रक अंदर से खाली रखा गया था. पुलिस ने ट्रक के ऊपरी हिस्से में रस्सी और तिरपाल के सहारे रेक नुमा जगह बना कर 35-35 पॉकेट की दो छल्ले लगा हुआ गांजा बरामद किया. 
 
थाना परिसर में प्रत्येक पेटी की माप करने के बाद पता चला कि प्रत्येक पेटी में 10-10 किलो गांजा रखा हुआ था. थाना परिसर में अंचलाधिकारी सह मजिस्ट्रेट बाराहाट सीओ की मौजूदगी में त्रिपाल को हटाकर मजदूरों व चौकीदारों की मदद से गांजा के सभी पेटियों को एक-एक कर उतारा गया. गांजा की इस बड़ी खेप को उतारने में पुलिस को करीब 3 घंटे का समय लगा.
 
Advertisement

Comments

Advertisement

Other Story

Advertisement