banka

  • Dec 8 2019 12:57PM
Advertisement

दुष्कर्म का विरोध करने पर साली को चाकू से गोदा, 10 साल पहले जहर खाकर पत्नी ने कर ली थी आत्महत्या

दुष्कर्म का विरोध करने पर साली को चाकू से गोदा, 10 साल पहले जहर खाकर पत्नी ने कर ली थी आत्महत्या

बांका : बिहार के बांका में कटोरिया थाना क्षेत्र के बसमत्ता पंचायत अंतर्गत महेशमारा गांव में शुक्रवार की देर रात रिश्ते के जीजा ने ही अपनी 35 वर्षीया साली से दुष्कर्म का प्रयास किया. जब साली ने इसका विरोध किया, तो उस पर धारदार चाकू से लगातार पांच प्रहार कर गंभीर रूप से जख्मी कर दिया. शनिवार तड़के करीब तीन बजे पीड़िता गूंजरी देवी (36) पति समर यादव ग्राम महेशमारा को परिजनों के सहयोग से रेफरल अस्पताल में भर्ती कराया गया. जहां चिकित्सक डाॅ दीपक भगत ने जख्मी का प्राथमिक उपचार किया. अस्पताल में पीड़िता का इलाज जारी है.

घटना की सूचना के बाद पीड़िता के पति कोलकाता से कटोरिया पहुंचे. फिर अपने ही साढ़ू त्रिपुरारी यादव पिता ढोंड़ी यादव ग्राम देहवारा (बसमत्ता) के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करायी. थानाध्यक्ष राजेश कुमार ने बताया कि इस मामले में केस दर्ज किया गया है. कांड के अनुसंधानकर्ता सह अवर निरीक्षक सरबी कुमार घटना को अंजाम देने वाले अभियुक्त की गिरफ्तारी को लेकर छापेमारी कर रहे हैं.

बरामदे पर सोयी थी पीड़िता
पीड़िता ने बताया कि शुक्रवार की रात वह गोहाल के बगल स्थित बरामदे पर अपने पुत्र प्रदीप कुमार के साथ सोयी थी. रात करीब साढ़े नौ बजे उसका जीजा त्रिपुरारी यादव बुरी नियत से उसके खाट पर आकर बैठ गया. नींद टूटने के साथ ही उसका विरोध करना शुरू किया, तो उसने चाकू से सिर, चेहरा, छाती, कंधा आदि पर प्रहार करना शुरू कर दिया. चिल्लाने की आवाज सुन कर जगे पुत्र प्रदीप ने भी शोर मचाया. जब परिजन व ग्रामीण जुटे, तो आरोपित अंधेरे का फायदा उठा कर मौके से भाग निकला.

पीड़िता ने बताया कि मनचले जीजा की हरकत से तंग आकर ही दीदी रमनी देवी ने करीब दस साल पहले जहर खाकर आत्महत्या कर ली थी. पीड़िता के पिता ने बताया कि करीब दो साल पहले भी साढ़ू ने उसकी पत्नी के साथ बदतमीजी की थी, लेकिन मामला पारिवारिक स्तर पर शांत हो गया था.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement