Advertisement

asansol

  • Aug 20 2019 1:38AM
Advertisement

फर्जी वेबसाइट के खिलाफ शिकायत दर्ज करायी गयी

एससीसीएल के नाम से फर्जी कंपनी बता निकाली 88,585  पदों की रिक्तियां

विभिन्न पदों के लिए हर आवेदक से 180 से 350 रुपये की ठगी का प्रयास

हजारों बेरोजगार युवक बने ठगी के शिकार, बाद में खुलासा होने पर कार्रवाई शुरू

सांकतोड़िया : फर्जी वेबसाइट बना कर 88,585  पदों के लिए आवेदन मांगे जाने के मामले में आखिरकार कोल इंडिया लिमिटेड (सीआइएल) प्रबंधन ने कोलकाता में लिखित शिकायत साइबर थाने में दर्ज कराई. मामले में पुलिस ने जांच शुरू कर दी है. कोल इंडिया प्रबंधन का कहना है कि इस तरह एससीसीएल नाम से कोई भी सहायक कंपनी नहीं है. 

बेरोजगार युवकों को जाल में फांसने के लिए ठगों ने साउथ सेंट्रल कोलफील्ड लिमिटेड (एससीसीएल) नाम से फर्जी वेबसाइट तैयार किया और विभिन्न पदों के लिए वेकेंसी निकाली. आवेदन के साथ ही अलग- अलग पदों के लिए 180 से 350 रुपये तक जमा करने कहा गया. करीब एक माह से चल रहे इस फर्जी वेबसाइट से कई बेरोजगार प्रभावित हो चुके हैं. 

बेरोजगारों ने जब एसईसीएल समेत अन्य कोल कंपनी के अफसरों से जानकारी मांगी, तब इस फर्जी वेबसाइट के माध्यम से फर्जीवाड़ा किए जाने का खुलासा हुआ. इस घटना को लेकर कोल इंडिया प्रबंधन ने गंभीरता दिखाई. कोलकाता के साइबर थाना में फर्जीवाड़ा की लिखित शिकायत दर्ज कराई गई है. इसके साथ ही प्रबंधन ने पब्लिक नोटिस तथा सोशल मीडिया के जरिए फर्जीवाड़ा से युवाओं को बचने की सलाह देते हुए स्थानीय थाना में शिकायत करने को कहा है. साइबर ठगों ने अपनी वेबसाइट पर कोल इंडिया के लोगो के साथ उसकी वेबसाइट भी लिंक किया है.

इसके साथ ही पीएम इंडिया, स्वच्छ भारत समेत कई सरकारी वेबसाइट को भी लिंक किया गया है. लिंक कर क्लिक करने के साथ सरकारी वेबसाइट खुल जाती है. इस तरह बेरोजगारों को फंसाने के लिए कंपनी ने जाल बिछाया है, ताकि किसी को भी इस पर शक न हो कि यह फर्जी वेबसाइट है. प्रबंधन का कहना है कि एससीसीएल नाम वाली कोई भी सहायक कंपनी नहीं है और यह धोखाधड़ी करने हेतु बनाई गई है. कंपनी नये जॉब के लिए अपनी वेबसाइट के माध्यम से जानकारी देती है.

 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement