Advertisement

asansol

  • Feb 12 2019 1:31AM

हल्दिया : लापता तृणमूल नेता का शव मिला

 हल्दिया : पूर्व मेदिनीपुर के कांथी के 3 नंबर ब्लॉक के दूरमुठ पंचायत के चांदबेड़िया के तृणमूल नेता रितेश राय का शव पाया गया. वह गुरुवार से लापता थे. सोमवार सुबह रितेश का शव पाया गया. उनके गले पर धारदार हथियार से वार किये जाने के निशान हैं. तृणमूल ने हत्या का आरोप भाजपा पर लगाया है.

राज्य के परिवहन मंत्री शुभेंदू अधिकारी ने कहा कि वाममोर्चा शासनकाल में तृणमूल कार्यकर्ताओं को नंदीग्राम जैसा अंजाम भुगतने की धमकी दी जाती थी. रितेश की हत्या का प्रचार भी चुनाव के पहले ऐसे ही किया जायेगा. पुरानी माकपा ही अब भाजपा है. यह उनका ही काम है. मामले में सौभिक चक्रवर्ती नामक व्यक्ति का नाम सामने आया है.

हालांकि वह लापता है.  श्री अधिकारी ने सोमवार को रितेश राय के पार्थिव शरीर पर श्रद्धा सुमन अर्पित किये. कांथी की विधायक वनश्री माइती सहित अन्य तृणमूल नेताओं ने भी रितेश राय को श्रद्धांजलि दी. 

गौरतलब है कि गत सात फरवरी को रितेश राय लापता हो गये थे. परिवार की ओर से नौ फरवरी को मारिशदा थाने में शिकायत दर्ज करायी गयी. पुलिस ने मामले की जांच शुरू की थी. सोमवार को हुगली के दादपुर से रितेश का शव बरामद हुआ. पुलिस सूत्रों के मुताबिक  गत आठ फरवरी को हुगली के तालचीनी इलाके से एक व्यक्ति का शव बरामद हुआ था.
 
रविवार रात को दादपुर थाने की पुलिस ने शव की तस्वीर मारिशदा थाने में  भेजी थी. पुलिस ने फिर रितेश के घरवालों को बुलाया. पत्नी महुआ राय ने तस्वीर से रितेश की शिनाख्त की. सोमवार शाम को शव को पोस्टमार्टम के बाद चुचुड़ा अस्पताल से कांथी लाया गया. सात फरवरी की शाम को राज्य स्कूल शिक्षा विभाग के कर्मचारी व दोस्त सौभिक चक्रवर्ती से मिलने के लिए कोलाघाट जाने के नाम पर रितेश राय घर से निकले थे.
 
रात को पत्नी को फोन कर बताया कि दोस्त सौभिक के पिता की मौत हो गयी है. इसलिए सौभिक के साथ वह मालदा जा रहे हैं. रितेश की पत्नी ने बताया कि इसके बाद से रितेश के साथ कोई संपर्क नहीं हो सका. रितेश के अलावा सौभिक का भी फोन बंद था. बाध्य होकर मारिशदा थाने में लापता होने की शिकायत दर्ज करायी गयी. घरवालो का कहना है कि राजनीतिक कारणों से रितेश की हत्या की गयी है.
 
 

Advertisement

Comments

Advertisement