araria

  • Jan 22 2020 9:00AM
Advertisement

अपराधियों की गोली से घायल की सिलीगुड़ी में मौत

 रानीगंज : अपराधियों की गोली से घायल बसैठी निवासी रुद्रानंद साह की आखिरकार मौत हो गयी. लगातार दस दिनों से परिजन घायल रुद्रानंद को बचाने के लिए विभिन्न अस्पतालों का चक्कर लगाते रहे. लेकिन सोमवार देर रात बंगाल के सिलीगुड़ी स्थित एक निजी अस्पताल में इलाज के दौरान रुद्रानंद की मौत हो गयी. इसकी सूचना मिलते ही बसैठी में मातम पसर गया. परिजनों की चीत्कार से माहौल गमगीन हो गया. पोस्टमार्टम के बाद मंगलवार की देर रात्रि शव गांव पहुंचने की उम्मीद है.

 
 बुधवार को शव का अंतिम संस्कार किया जायेगा. वहीं इस हत्याकांड में संलिप्त अप्राथमिकी अभियुक्त पहुंसरा पंचायत के नड़की निवासी गज्जी सिंह को बौंसी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. अभी भी घटना के मुख्य नामजद अपराधी हसनपुर निवासी शशि यादव कानून की पकड़ से बाहर है.
 
अन्य अपराधियों की गिरफ्तारी को ले चल रही सघन छापेमारी : वहीं थानाध्यक्ष साजिद आलम ने कहा कि शशि सहित अन्य अपराधियों की गिरफ्तारी को लेकर सघन छापेमारी अभियान चलाया जा रहा है. जल्द ही शशि यादव भी कानून के गिरफ्त में होने की बात थानाध्यक्ष ने कही. मालूम हो कि बौंसी थाना से महज दस कदम की दूरी पर बसैठी निवासी रुद्रानंद साह को दो बाइक पर सवार चार-पांच अपराधियों ने गोली मार दी थी.
 
 घटना को अंजाम देने के बाद सभी अपराधी हवाई फायरिंग करते हुए तमघट्टी गांव की तरफ भाग गये थे. घायल रुद्रानंद को परिजन आनन-फानन में सदर अस्पताल लेकर गये थे. लेकिन गंभीर स्थिति के कारण सदर अस्पताल से रेफर होने के बाद पूर्णिया स्थित नीजी अस्पताल में भर्ती कराया. इस बीच घायल रुद्रानंद ने अपने पुत्र को शशि यादव सहित चार-पांच अपराधियों द्वारा गोली मारने की घटना से अवगत कराया था. 
 
बाद में कौमा में चले जाने के कारण बेहतर इजाल के लिए पूर्णिया से परिजन सिलीगुड़ी लेकर चले गये. घटना को लेकर बौंसी थाने में मृतक के पुत्र मुकेश ने प्राथमिकी दर्ज करायी है. कहीं न कहीं भूविवाद के कारण सुनियोजित तरीके से शशि यादव द्वारा इस गोलीकांड को अंजाम दिये जाने का आरोप लगाया गया है. 
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement