Advertisement

araria

  • Jul 17 2019 8:13AM
Advertisement

500 मेधावी छात्रों को प्रभात खबर ने दिया एक मंच

 अररिया  : प्रभात खबर द्वारा एक साथ  500 से अधिक मेधावी छात्रों को सम्मानित किया गया. मंगलवार को जिले के अलग-अलग  क्षेत्रों  के  छात्र छात्राओं को जिले में सम्मानित होने का मौका मिला. प्रभात खबर ने शहर के टाउन हॉल में 500 मेधावी छात्रों को एक मंच देकर सम्मानित किया गया. इस सम्मानित के छात्रों में शिक्षा के प्रति अलग जूनून देखा गया. 

 
सभी छात्रों ने सम्मानित होने के बाद प्रभात खबर को धन्यवाद भी दिया. सम्मानित हुये छात्रों ने कहा कि इस तहर से जो प्रभात खबर ने जिला के 500 अधिक मेधावी छात्रों को एक मंच दिया है.
 
 इससे सभी छात्रों को शिक्षा के जगत में एक नया पंख मिला है. और हमलोगों को आगे की पढ़ाई यह मेडल व सर्टिफिकेट से सम्मानित किया गया है यह बहुत काम आयेगा. सम्मानित हुए छात्र-छात्राओं ने यह भी कहा कि अगर एक साथ मैट्रिक व इंटर में बेहतर प्रदर्शन के छात्र छात्राओं को मंच मिलने का मिलना बहुत बड़ी बात है. 
 
क्योंकि इस तरह का कार्यक्रम होने से सभी छात्र-छात्राओं को एक होने का भी मौका मिलता है. साथ ही अगर किसी में शिक्षा के क्षेत्र में कुछ कमी भी है तो छात्र-छात्राओं में यह शेयर कर उसे पूरा किया जा सकता है. इसलिए इस तरह के आयोजन प्रभात खबर के तरफ से किया गया. इसके लिए हम उन्हें आभार प्रकट करते हैं.
 
 
अपने प्रेरणा को पंख देने वाले गुरु की करें तलाश
प्रभात खबर द्वारा जिले के प्रतिभावान छात्रों को सम्मानित करने का यह प्रयास सराहनीय है. जिले में शुरू से ही प्रतिभाओं की भरमार है. लड़कियां हर क्षेत्र में बेहतर कर रही है. तो छात्र भी किसी मामले में उनसे पीछे नहीं हैं. जानकारी कहीं से भी जुटाया जा सकता है. संसाधनों का अभाव इसमें कभी कोई बाधा नहीं रही है. 
 
सीखने की कोई उम्र नहीं होती. हमें ही यह तय करना होता है कि आखिर कौन सी चीज हमें प्रेरित करती है. वैसी चीजें जिससे आप प्रेरित हैं. तो आपकी प्रेरणा को कैसे पंख मिले इसके लिये हमें गुरु की तलाश करनी होती है. गुरु के बिना ज्ञान प्राप्त करना कठिन है. सच्चे गुरु ही हमारी प्रेरणा को निखार कर हमें नये आयाम तक पहुंचाने में मददगार होते हैं.
अविनाश सिंह
 
मेधावी छात्रों को सम्मानित करना प्रभात खबर का सराहनीय प्रयास
मेधावी छात्रों को सम्मानित करने का प्रभात खबर का यह प्रयास सराहनीय है. इससे छात्रों का मनोबल ऊंचा होगा और वे भविष्य में ओर बेहतर करने के लिये प्रेरित होंगे. उनमें नये ऊर्जा का संचार होगा और वे उत्साहित मन से इससे बड़े मंच पर सम्मान प्राप्त करने का प्रयास करेंगे. जो जिले के सुनहरे भविष्य के निर्माण में मील का पत्थर साबित होगा. 
 
जिले में प्रतिभा की कभी कोई कमी नहीं रही है. खेल, राजनीति, साहित्यिक व शैक्षणिक जगत में जिले की प्रतिभाएं लगातार अपनी प्रतिभा का परचम लहरा रहे हैं. ऐसे में युवा प्रतिभाओं को एक मंच पर लाकर उन्हें सम्मानित करना काबिले तारिफ है. 
अविनाश आनंद, सामाजिक कार्यकर्ता 
 
 
छात्रों का संस्कारी होना आज की पहली जरूरत 
प्रतिभा हर किसी के अंदर छुपी होती है. हमें अपने अंदर छुपी प्रतिभा को निखारना पड़ता है. हमारा समाज आज संस्कार के कमी की समस्या झेल रही है. समाज में घटित हो रहे कुछ दुखद घटना के पीछे महज संस्कार की कमी ही जिम्मेदार है. हम अपने संस्कारों में बंधे रह कर ही इस समाज को कुछ बेहतर दे सकते हैं. 
 
इसलिये छात्रों का संस्कारी होना आज की पहली जरूरत है. मोहनी देवी मेमोरियल स्कूल हमेशा अपने छात्रों को अच्छे संस्कार में ढ़ालने पर जोर देता है. मानव सेवा हमारे संस्कार का अभिन्न हिस्सा है. यही कारण है कि मोहनी देवी ट्रस्ट हमेशा पीड़ित मानवता की सेवा के लिये तत्परता रहा है और आगे भी रहेगा. 
संजय प्रधान, निदेशक मोहनी देवी ट्रस्ट 
 
सीमित प्रयास में सफलता हासिल करने के लिये सेल्फ स्टडी खासा महत्वपूर्ण 
जिले के बच्चे बेहद प्रतिभावान हैं. अपनी मेहनत व लगन के दम पर राज्य ही नहीं देश स्तर पर आयोजित होने वाले प्रतियोगी परीक्षाओं में उनका सफलता का प्रतिशत लगातार बढ़ रहा है. संसाधन की कमी व हर साल प्राकृतिक आपदाओं की चपेट में आकर अपना सब कुछ खो देने के बाद सफलता के प्रति उनकी प्रतिबद्धता काबिले तारिफ है. 
 
सीमित प्रयास में सफलता हासिल करने के लिये सेल्फ स्टडी का खासा महत्व है. बच्चे सेल्फ स्टडी पर ज्यादा फोकस करें. उच्च प्रेरणा प्राप्त कर जीवन में बेहतर करें, सफलता के ऊंचे मुकाम तक पहुंचे. यही मेरी कामना है. 
शंभु कुमार, जिला आपदा प्रबंधन पदाधिकारी
 
छात्र बेहतर भविष्य के लिए प्रोफेसनल कोर्स को अपनायें
टेक्नोलॉजी का विकास तेजी से हो रहा है. हर दिन नये तकनीक इजाद हो रहे हैं. नये आविष्कार हो रहे हैं. इससे हमारी दुनिया पूरी तरह बदलते जा रही है. बेहतर भविष्य के लिये टेक्नोलॉजी पर हमारी निर्भरता काफी बढ़ गयी है. अगर हमें अपने जीवन के विकास की रफ्तार को तेज करना है तो हमें नये तकनीकों को अपनाना होगा.
 
 इसके लिये जरूरी है कि हमारे छात्र अपने बेहतर भविष्य के लिये प्रोफेसनल कोर्स को अपनाये. प्रोफेसनल कोर्स आज के दौर में बेहतर रोजगार का महत्वपूर्ण जरिया बन चुका है. छात्र ज्यादा से ज्यादा संख्या में ऐसे कोर्स को अपना कर अपने बेहतर भविष्य को संरक्षित करें. 
सुरजीत कुमार, सीईओ, एमबीआईटी
 
कड़ी मेहनत व सच्ची लगन से हासिल किया जा सकता है सफलता का हर मुकाम, जीवन संभावनाओं से पूर्ण 
सफलता प्राप्त करना हर व्यक्ति का मकसद होता है. जीवन अनिश्चितता व संभावनाओं से भरा हुआ है. इसलिये जरूरी है कि हम पहले तो अपना लक्ष्य निर्धारित करें. फिर इसे प्राप्त करने के लिये ईमानदार प्रयास करें. कड़ी मेहतन और सच्ची लगन से कोई भी मुकाम हासिल किया जा सकता है. मुकाम हासिल होने तक प्रयास की रफ्तार मंद नहीं पड़नी चाहिए. 
 
असफलताओं से बिना घबराये अपने लगातार प्रयास से हम सफलता को हर ऊंचा मुकाम हासिल कर सकते हैं. छात्र अपना एक लक्ष्य निर्धारित करें. इसके बाद इसे प्राप्त करने के सतत प्रयास में तब तक जुटे रहे जब तक यह हासिल नहीं हो जाता है. 
रीतेश कुमार राय, मुख्य पार्षद, अररिया नगर परिषद 
 
सफलता के मार्ग में आने वाली बाधाओं से मिलती है नयी सीख व नया अनुभव, इसको आधार बनाकर आगे बढ़ें सभी छात्र-छत्राएं 
जिले की प्रतिभावान छात्रों को सम्मानित करने का प्रभात खबर का यह प्रयास सराहनीय है. हर व्यक्ति जीवन में सफल होना चाहता है. लेकिन इसके रास्ते में आने वाली बाधाओं से घबरा कर वह अपना राह भटक जाते हैं. 
 
जबकि सफलता के मार्ग में आने वाली तमाम बाधाएं हमें कुछ नया अनुभव व सीख देती है. जरूरी है हम इस अनुभव का उपयोग अपनी राह को आसान बनाने के लिये करें.
 
 जीवन में कोई काम बुरा काम बुरा नहीं है. उस काम को करने का हमारा तरीका हमें हमारी अलग पहचान दिलाता है. इसलिये जरूरी है कि जीवन में हमने जो भी ठाना है. उसे हासिल करने के लिये ईमानदार प्रयास करें. इस रास्ते में मिलने वाले तमाम अनुभव को आत्मसात करते हुए इसका उपयोग अपने जीवन को बेहतर बनाने में करें. 
राजन तिवारी, भाजयुमो जिला उपाध्यक्ष 
 
मधेपुरा के कुंदन की कहानी से प्रेरित होकर अररिया में भी प्रभात खबर के मंच से हुई घोषणा
 
अररिया : टाउन हॉल में प्रभात खबर की ओर से आयोजित प्रतिभा सम्मान समारोह ने एक बार फिर से साबित किया है कि वह क्षेत्र के मेधावी बच्चों को उनके मुकाम तक पहुंचान के लिए आगे आकर उनका सहयोगी बनता है. प्रभात खबर में प्रकाशित लावारिस बच्चे कुंदन की कहानी से प्रेरणा लेकर अररिया में भी गरीब व मेधावी बच्चों को आगे लाने के लिए जिले के दो बड़े शिक्षण संस्थान आगे आये हैं. 
 
इनमें मोहिनी देवी मेमोरियल स्कूल के निदेशक संजय प्रधान ने प्रभात खबर के मंच से घोषणा की कि उनका ट्रस्ट वैसे मेधावी बच्चों का आर्थिक रूप से सहयोग करेगा जो पढ़ने में तो अव्वल हैं, लेकिन उनकी आर्थिक स्थिति कमजोर है. ऐसे बच्चे प्रभात खबर के माध्यम से हम तक पहुंचेंगे तो हम उनकी निश्चित रूप से मदद करेंगे.
 
इधर, एमवीआईटी के सीईओ सुरजीत कुमार ने भी इसी मंच से घोषणा की कि वे जिले के तीन टॉपर्स, जिनका नाम प्रभात खबर उन्हें मुहैया करायेगा तो वैसे बच्चों को 11 हजार-11 हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि वे देंगे. 
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement