रोहित शेखर हत्याकांड में उनकी पत्नी अपूर्वा गिरफ्तार
Advertisement

allahabad

  • Jun 13 2016 4:51PM

भाजपा कार्यकारिणी में संगठन विस्तार के साथ संयम, सद्भाव व संवाद पर जोर : अरुण जेटली

भाजपा कार्यकारिणी में संगठन विस्तार के साथ संयम, सद्भाव व संवाद पर जोर : अरुण जेटली


 
इलाहाबाद : वरिष्ठ भाजपा नेता व वित्तमंत्री अरुण जेटली ने आज भाजपा कार्यकारिणी के दूसरे दिन का ब्यौरा मीडिया को दिया. उन्होंने कहा कि कहा कि हम मानते हैं कि दो राष्ट्रीय दल भाजपा व कांग्रेस है. अन्य दल छोटे हैं. 2014 के चुनाव परिणाम के बाद दोनों की ताकत में एक बड़ा अंतर आया है. जेटली ने कहा कि शासन में रहकर देश आगे प्रगति करे और यह हमलोगों के लिए एक ऐतिहासिक अवसर है. उन्होंने कहा कि कार्यकारिणी के दो मूल उद्देश्य थे कि वर्तमान राजनीतिक स्थिति का हमलोग विश्लेषण करें और पार्टी को और आगे बढ़ायें.


जेटली ने बताया कि अपने समापन संबोधन में राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि देश के हर जिले में भाजपा के कार्यालय बने. वे कार्यालय एक-दूसरे से जुड़े रहें. जेटली के अनुसार, शाह ने कहा कि हमारे पास 11 करोड़ कार्यकर्ताओं की एक लिस्ट हो और उन्हें सक्रिय कार्यकर्ता बनाने पर जोर हो. साथ ही सात ऐसे राज्य हैं जहां पार्टी को और मजबूत बनाना है, इन राज्यों में पार्टी की ताकत को और बढ़ाना है.


जेटली ने कहा कि देश की आर्थिक स्थिति तेजी से आगे बढ़ रही है, कार्यकारिणी में विचार किया गया कि इसे और आगे कैसे बढाया जाये. जेटली ने कहा कि जिस अर्थव्यवस्स्था को पहले पॉलिसी पैरालाइसिस कहा जाता था आज वह दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था मानी जा रही है.


जेटली ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यकारिणी में संबोधन का भी उल्लेख किया. जेटली ने कहा कि पीएम मोदी ने कहा कि हमलोग केंद्र व राज्य में सरकार में हैं, इस प्रकार के अवसर बारंबार नहीं मिलते हैं, राष्ट्रहित में इसका लाभ उठाना चाहिए.


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा कार्यकर्ताओं को आज सात मंत्र दिये. ये हैं : सेवाभाव, संतुलन, संयम, समन्वय, साकारात्मक, सद्भावना, संवाद. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमारे आचरण व नीति में इनका असर दिखना चाहिए.

Advertisement

Comments

Other Story

Advertisement