Advertisement

allahabad

  • Feb 9 2019 9:02PM

...और अब 12 फरवरी से होगी संस्कृति विद्वत कुंभ की शुरुआत, जुटेंगी जानी-मानी हस्तियां

...और अब 12 फरवरी से होगी संस्कृति विद्वत कुंभ की शुरुआत, जुटेंगी जानी-मानी हस्तियां

इलाहाबाद : इलाहाबाद में बसंत पंचमी को अंतिम शाही स्नान का समापन होने के बाद परमार्थ निकेतन की ओर से यहां कुंभ मेला क्षेत्र में 12 फरवरी से संस्कृति विद्वत कुम्भ का आयोजन किया जायेगा, जिसमें कला, साहित्य, फिल्म, पत्रकारिता, खेल, राजनीति, धर्म-अध्यात्म से जुड़ी 300 से अधिक हस्तियां शामिल होने के आसार हैं.

इसे भी पढ़ें : रविवार को बसंत पंचमी के मौके पर कुंभ में दो करोड़ से अधिक लोगों के स्नान करने की संभावना, आपने किया...?

परमार्थ निकेतन के स्वामी चिदानंद मुनि ने यहां संवाददाताओं को बताया कि सेक्टर 18 में तीन दिन तक चलने वाले इस संस्कृति विद्वत कुंभ में जूना अखाड़ा के आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद, पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी, मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, फिल्म निर्माता सुभाष घई और मधुर भंडारकर आदि शामिल होंगे.

वहीं, काशी हिंदू विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति गिरीश चंद्र त्रिपाठी ने बताया कि भारत ही नहीं पूरे विश्व के समक्ष अनेकों चुनौतियां मौजूद हैं. इन चुनौतियों का समाधान क्या हो, इसके लिए समूचा विश्व भारत की ओर देख रहा है. उन्होंने कहा कि इस विद्वत कुम्भ में कला, दर्शन, शिक्षा, सामाजिक, आर्थिक, राजनैतिक दृष्टि से विमर्श किया जायेगा.

इस बीच, परमार्थ निकेतन ने नवयुवकों के माध्यम से दुनिया को कुंभ का संदेश देने के लिए देशभर से नवयुवकों को एकत्रित किया है. ये नवयुवक सोशल मीडिया के जरिये दुनिया को इस कुंभ का संदेश देंगे. स्वामी चिदानंद ने कहा कि नवयुवकों का यह समागम पूरी दुनिया को कुंभ के महत्व से परिचित करायेगा. नवयुवक किस तरह से कुम्भ को देखते हैं. वे संगम के तट से संगम का संदेश पूरी दुनिया को देंगे. उन्होंने बताया कि इस आयोजन में युवा फाउंडेशन, परमार्थ निकेतन और सोशल शेयर चैट की संयुक्त भूमिका है.

Advertisement

Comments

Other Story

Advertisement