Advertisement

Pakistan

  • Feb 15 2019 9:26PM

भारत के MFN दर्जा वापस लेने पर पाकिस्तान ने कहा, हम कोई भावनात्मक फैसला नहीं लेंगे

भारत के MFN दर्जा वापस लेने पर पाकिस्तान ने कहा, हम कोई भावनात्मक फैसला नहीं लेंगे

इस्लामाबाद : भारत की ओर से सर्वाधिक तरजीही राष्ट्र (एमएफएन) का दर्जा वापस लेने पर पाकिस्तान ने कहा कि वह कोई भी भावनात्मक फैसला नहीं करेगा और विचार-विमर्श के बाद ही कोई प्रतिक्रिया देगा. पाकिस्तान के एक वरिष्ठ अधिकारी ने शुक्रवार को यह बात कही.

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले के बाद भारत ने सख्त कदम उठाते हुए पाकिस्तान से व्यापार में सबसे तरजीही राष्ट्र (एमएफएन) का दर्जा वापस ले लिया है. बृहस्पतिवार को हुए इस हमले में 40 जवान शहीद हुए हैं. पाकिस्तान के आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने हमले की जिम्मेदारी ली है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के व्यापार सलाहार अब्दुल रज्जाक दाऊद ने संवाददाताओं से कहा कि भारत के फैसले पर कोई भी प्रतिक्रिया विचार-विमर्श के बाद दिया जायेगा.

तरजीही राष्ट्र का दर्जा वापस लेने के बाद पाकिस्तान से भारत को निर्यात की जानेवाली 48.8 करोड़ डॉलर (करीब 3,482.3 करोड़ रुपये) की वस्तुओं पर प्रभाव पड़ेगा. पाकिस्तान ने 2017-18 में भारत को 48.8 करोड़ डॉलर का सामान निर्यात किया था. वित्त मंत्रालय के अधिकारी ने कहा कि भारत के इस फैसले का पाकिस्तान पर बहुत थोड़ा असर होगा क्योंकि दोनों देशों के बीच का व्यापार बहुत कम है. अधिकारी ने कहा कि पाकिस्तान को धन के लिहाज से बहुत ज्यादा नुकसान नहीं होगा.

Advertisement

Comments

Advertisement