स्टीव जॉब्स से लें सफलता के मंत्र

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

स्टीव जॉब्स की जिंदगी ने दुनियाभर में करोड़ों लोगों को प्रभावित किया है. उनके बातचीत करने का तरीका हो या प्रस्तुतिकरण की बात हो या फिर किसी भी उत्पाद को देखने और मार्केट करने का स्टाइल हो, सबकुछ बिलकुल अलग सोच लिये होता था. इसी अलग सोच ने उन्हें स्टीव जॉब्स बनाया. आइये, उनकी सफलता के मूलमंत्र पर एक नजर आज डालें. स्टीव के अनुसार अगर आप अपने काम से प्यार करते हैं तब अच्छा है. दुनियाभर में कई लोग ऐसे हैं, जो ऐसा काम कर रहे हैं जो उन्हें दिल से पसंद नहीं. अगर दुनियाभर में ऐसा हो जाये कि जिसे जो काम पसंद है, वह वही करे तो दुनिया ही बदल जायेगी. वे कहते थे कि दुनिया को पता चलना चाहिए कि आप कौन हैं. दुनिया को बदलने का माद्दा जब तक आप में नहीं होगा, तब तक दुनिया आपको नहीं पहचानेगी.

स्टीव ने अपनी जिंदगी में मना करना खूब सीखा था और इसका फायदा भी उन्हें मिला था. जब वे 1997 में वापस एप्पल में आये थे, तब कंपनी के पास 350 उत्पाद थे. मात्र दो सालों में उन्होंने उत्पादों की संख्या कम करके 10 कर दी. उन्होंने केवल 10 उत्पादों पर ध्यान केंद्रित किया और सफलता भी पायी.स्टीव मानते थे कि जब तक आप अपने ग्राहकों को अलग तरह का अनुभव नहीं देंगे, वे आपके उत्पादों की तरफ आकर्षित बिलकुल भी नहीं होंगे. यही कारण था कि उन्होंने एप्पल स्टोर्स को कुछ अलग तरह का बनाया, जहां पर ग्राहकों के लिए एक अलग तरह का अनुभव था और एप्पल कंपनी के प्रति लोगों के बीच भावनात्मक लगाव हो गया था.

वे कहते थे कि अगर आपके पास अच्छे आइडियाज हैं और आप इसे सभी के सामने रख नहीं पाये, तो ऐसे आइडियाज का क्या काम. स्टीव हमेशा यही कहते थे की अपने ग्राहकों को उत्पाद नहीं सपने बेचो. उनका कहना था कि आपके ग्राहकों को आपके उत्पाद के बारे में जानने से कोई मतलब नहीं है, उन्हें उनकी आशाओं और आकांक्षाओं से मतलब है और अगर आपने उनके सपनों को उत्पाद से जोड़ा तभी आपको सफलता मिलेगी.

    Share Via :
    Published Date

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें