जयपुर में कश्मीरी युवक की पिटाई के बाद मौत, कश्मीरियों में ग़ुस्सा

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

राजस्थान के जयपुर में एक कश्मीरी युवक बासित उर्फ़ ग़ुलाम मोहिदीन ख़ान की हत्या के आरोप में पुलिस ने उसके साथ काम करने वाले युवक को गिरफ़्तार कर लिया है.

पुलिस के अनुसार, चार फ़रवरी को आदित्य और बासित में झगड़ा हुआ था. इस झगड़े में चोट के बाद बासित की तबीयत बिगड़ गई और उसने शुक्रवार को जयपुर के सवाई मान सिंह हॉस्पिटल में दम तोड़ दिया.

बासित की मौत के बाद जयपुर में रह रहे कश्मीरी हॉस्पिटल पहुंचे और घटना पर गहरी नाराज़गी ज़ाहिर की. लोगो ने वहां प्रदर्शन किया और घटना में शामिल लोगों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई की मांग की.

हॉस्पिटल पहुंचे जमशेद अहमद ने बीबीसी से कहा, "मुमकिन है कि बासित को कश्मीरी होने के कारण घटना का शिकार बनाया गया हो." हालांकि, पुलिस ने इस बात से इनकार किया है.

जयपुर में पढ़ रहे कश्मीर के जमशेद अहमद कहते है कि राजस्थान में कश्मीर के विद्यार्थी भी है और लोग रोजगार के लिए भी यहां आते हैं.

ये भी पढ़ें:

कैसे हुई मौत?

जयपुर में ऐडिशनल पुलिस आयुक्त अशोक गुप्ता ने बीबीसी से कहा, "आदित्य और बासित के बीच अचानक झगड़ा हुआ और आदित्य ने बासित के सिर पर मुक्का दे मारा. उस वक़्त लोगों ने बीच-बचाव कर दिया और फिर बासित घर चला गया."

पुलिस के अनुसार, घर पहुंचने के बाद बासित की तबीयत बिगड़ गई और उसे उल्टियाँ होने लगीं. इसके बाद उसे जयपुर के एसएमएस हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया.

पुलिस के अनुसार, बासित के सर में चोट लगी थी और उसे आईसीयू में भर्ती किया गया लेकिन इलाज के बाद उसने दम तोड़ दिया.

अडिशनल पुलिस आयुक्त गुप्ता कहते है, "बासित अन्य लोगों के साथ जयपुर में कैटरिंग में काम करता था. ये लोग रात को काम ख़त्म कर घर लौट रहे थे. जैसे ही समारोह ख़त्म हुआ,कैटरिंग स्टाफ़ ने खाना खाया और घर लौटने के लिए गाड़ी में बैठने लगे. वहीं बासित और आदित्य में विवाद हो गया."

मौत पर सवाल

बासित के चाचा फ़ैयाज अहमद ख़ान ने मीडिया से कहा, "बासित को मारा पीटा गया. वे लोग मालिक के आदमी थे. उन लोगों ने झगड़ा किया और बासित को पीटा. उस समय बासित और ये लोग काम से लौट रहे थे."

फ़ैयाज कहते हैं, "घर लौटते ही बासित ने कहा कि सिर में दर्द हो रहा है, मुझे पीटा गया है. उसके बाद बासित को उल्टियां होने लगीं. उसे हॉस्पिटल लाया गया. उल्टियां होने पर डॉक्टरों को लगा कि उसने कुछ खा लिया है. मगर वहां उसका सिटी स्कैन किया गया तो पता चला कि सिर में चोट लगी है. इसके बाद उसकी हालत बिगड़ती चली गई और मौत हो गई."

सूफ़ियान कश्मीर से हैं और बासित के साथ ही काम करते हैं. उन्होंने मीडिया को बताया, "उस रात हम लोग कैटरिंग का काम निपटाकर घर जाने को थे. वहां शादी समारोह था. जब गाड़ी में बैठने लगे तो बासित ने गाड़ी पर दस्तक दी. उधर से गाड़ी में बैठे युवक ने कहा कि गाड़ी पर टुक-टुक मत करो, मेरा दिमाग़ ख़राब हो रहा है. बासित ने उससे कहा वो बहुत थका हुआ है और उसे अंदर बैठने दो. इसी पर उस व्यक्ति ने बासित का कॉलर पकड़ लिया और पीटने लगे."

सूफ़ियान का कहना है कि और कोई वजह नहीं थी. उनका यह भी दावा है कि ठेकेदार उन्हें धमकी देकर चुप रहने के लिए कह रहा है.

अभियुक्त गिरफ़्तार

इस बीच पुलिस का कहना है कि उसने एफ़आईआर के आधार पर अभियुक्त आदित्य को गिरफ़्तार कर लिया है.

क्या इस मामले में और लोग भी शामिल हैं और क्या इस हमले के पीछे कोई मक़सद भी था? इन सवालों पर ऐडिशनल पुलिस आयुक्त गुप्ता कहते हैं, "अब तक की जाँच में आदित्य का ही नाम सामने आया है."

पुलिस के अनुसार यह दो लोगों के बीच अचानक हुए विवाद का नतीजा है लेकिन हर पहलू की जांच की जाएगी. डॉक्टरों ने शव का पोस्टमॉर्टम किया और इसके बाद शव को पुलिस ने बासित के परिजनों को सौंप दिया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

]]>

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें