क्या मोदी की रैलियों के कारण चुनाव आयोग ने लिया यह फ़ैसला-अहमद पटेल: पांच बड़ी ख़बरें

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
क्या मोदी की रैलियों के कारण चुनाव आयोग ने लिया यह फ़ैसला-अहमद पटेल: पांच बड़ी ख़बरें
Getty Images

कांग्रेस नेता अहमद पटेल ने पंश्चिम बंगाल में अमित शाह के रोड शो में हुई हिंसा के बाद चुनाव आयोग के 16 मई की रात 10 बजे चुनाव प्रचार बंद करने के फ़ैसले पर सवाल उठाया है.

उन्होंने कहा है कि गुरुवार को पश्चिम बंगाल में प्रधानमंत्री मोदी की प्रस्तावित रैली के कारण प्रचार पर प्रतिबंध देर रात से लागू किया जा रहा है.

पार्टी के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने बीती रात ट्वीट किया, 'अगर बंगाल में स्थिति इतनी ही ख़राब है तो चुनाव प्रचार तुरंत रोक देना चाहिए. आख़िर चुनाव आयोग कल तक का इंतज़ार क्यों कर रहा है. क्या ऐसा इसलिए किया जा रहा है क्योंकि कल प्रधानमंत्री की रैलियां होनी हैं?'

16 मई को मथुरापुर और दमदम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दो रैलियां हैं.

19 मई को लोकसभा चुनाव के आख़िरी चरण का मतदान है और सामान्य स्थिति में इन सीटों पर चुनाव प्रचार 17 मई की शाम पाँच बजे ख़त्म होता लेकिन चुनाव आयोग ने 16 मई की रात 10 बजे यानि 19 घंटे पहले ही ऐसा करने का फ़ैसला किया है.

क्या मोदी की रैलियों के कारण चुनाव आयोग ने लिया यह फ़ैसला-अहमद पटेल: पांच बड़ी ख़बरें
Getty Images

चंद्रयान-2 में होंगे नासा के पेलोड

इसरो ने इस साल जुलाई में भेजे जाने वाले भारत के दूसरे चंद्र अभियान की जानकारी साझा की है. इस चंद्रयान-2 में कुल 13 पेलोड होंगे. इसमें अमरीकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा का पैसिव एसपेरिमेंटल उपकरण भी होगा. अमरीकी एजेंसी इसका इस्तेमाल पृथ्वी और चांद की दूरी को मापने के लिए करती है.

इसमें 13 भारतीय पेलोड, ऑर्बिटर पर लैंडर विक्रम और रोवर पर प्रज्ञान होगा. ये पेलोड चांद की तस्वीरें लेने का काम करेंगे.

चंद्रयान-1 अभियान 10 साल पहले किया गया था. संभव है कि इस बार चंद्रयान-2 को 9 से 16 जुलाई के बीच लॉन्च किया जाए.

क्या मोदी की रैलियों के कारण चुनाव आयोग ने लिया यह फ़ैसला-अहमद पटेल: पांच बड़ी ख़बरें
Getty Images

30 मई तक बंद रहेंगे एयर स्पेस

पाकिस्तान ने भारतीय उड़ानों के लिए अपने हवाई क्षेत्र पर लगे प्रतिबंध को 30 मई तक न हटाने का फ़ैसला किया है.

पाकिस्तान को भारत के लोकसभा चुनावों के नतीजों का इंतज़ार है. पाकिस्तान ने 26 फ़रवरी को बालाकोट में भारत की एयरस्ट्राइक के बाद अपने हवाई क्षेत्र को पूरी तरह बंद कर दिया था, हालाँकि 27 मार्च को पाकिस्तान ने नई दिल्ली, बैंकॉक, कुआलालंपुर को छोड़कर अन्य सभी उड़ानों के लिए हवाई क्षेत्र खोल दिया था.

क्या मोदी की रैलियों के कारण चुनाव आयोग ने लिया यह फ़ैसला-अहमद पटेल: पांच बड़ी ख़बरें
Getty Images

देर से पहुँचेगा मॉनसून

मौसम विभाग ने अनुमान जताया है कि केरल में इस बार मॉनसून पाँच दिन की देरी से पहुँचेगा.

मौसम विभाग ने कहा है कि मॉनसून छह जून के केरल के तट से टकराएगा, सामान्य रूप से यहाँ मॉनसून एक जून तक पहुँच जाता है. एक दिन पहले ही निजी एजेंसी स्काईमेट ने चार जून तक मॉनसून के केरल पहुँचने की संभावना जताई थी.

पिछले साल मॉनसून निर्धारित तारीख़ से तीन दिन पहले 29 मई को केरल तट पर पहुँचा था.

क्या मोदी की रैलियों के कारण चुनाव आयोग ने लिया यह फ़ैसला-अहमद पटेल: पांच बड़ी ख़बरें
Getty Images

'पाइपलाइन पर हमले में ईरान का हाथ नहीं'

यमन में हूती विद्रोहियों के एक नेता ने बीबीसी को बताया है कि सऊदी अरब में तेल पाइपलाइन पर हमले का ईरान और अमरीका के बीच बढ़ते तनाव से कोई लेना-देना नहीं है.

मोहम्मद अली अल हूती ने कहा कि तेल पाइपलाइन को हूती विद्रोहियों ने निशाना बनाया और ईरान का इसमें कोई हाथ नहीं है. यमन में ईरान, हूती विद्रोहियों का समर्थन करता है.

मोहम्मद अली अल हूती ने कहा, "हम ईरान के एजेंट नहीं हैं, अगर हम होते तो हम अभी आप से बात नहीं कर रहे होते. हम चाहते हैं कि हम पर हमले रुकें. हम ख़ुद से फ़ैसला लेने में सक्षम हैं. अगर वो हमारे ख़िलाफ़ हमले रोक देते हैं तो हम भी उन पर मिसाइल हमले रोक देंगे."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

>

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें