रूस-यूक्रेन: हिंसा और तू-तू मैं-मैं दोनो बढ़े

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

रूस ने यूक्रेन में अपने दूतावास के बाहर हो रहे हिंसक प्रतिरोंधों के प्रति गंभीर नाराज़गी जाहिर की है. घटनास्थल की जारी तस्वीरों में टूटी खिड़कियां, रूस का फटा हुआ झंडा और क्षतिग्रस्त कारें दिखाई दे रही हैं.

रूस ने यूक्रेन पुलिस पर आरोप लगाया कि हमले को रोकने के लिए उसने कुछ भी नहीं किया. साथ ही इस कार्रवाई को 'यूक्रेन के अंतरराष्ट्रीय क़रार' का गंभीर उल्लंघन बताया है.

यूक्रेन: विमान को मार गिराया, 49 सैनिकों की मौत

इस बीच नेटो ने कुछ तस्वीरें जारी की हैं जो यूक्रेन के उस दावे की पुष्टि करती हैं, जिसमें कहा गया है कि रूसी टैंक यूक्रेन की सीमा के भीतर पहुँच चुके हैं.

रूसी समर्थक विद्रोहियों की मदद के लिए पूरब में टैंक भेजने की ख़बर का रूस ने खंडन किया है.

जारी की गईं कई तस्वीरों में दिख रहा है कि टी-64 टैंक पहले रोस्तोव-आन-दोन के पास रूसी सेना के इलाके में थे और इसके बाद वे इस सप्ताह की शुरुआत में यूक्रेन के अंदर दिखाई दिए.

रूस के दूतावास पर हमला

यूक्रेन की बख़्तरबंद गाड़ियों से अलग इन टैंकों पर कोई निशान या आवरण नहीं था.

नेटो के अनुसार, पूर्वी यूक्रेन में रूस की भूमिका के बारे में ये तस्वीरें महत्वपूर्ण सवाल खड़ा करती हैं.

इससे पहले शनिवार को यूक्रेन की राजधानी कीएफ़ में रूस के दूतावास पर कई सौ प्रदर्शनकारी इकट्ठा हो गए और इमारत पर अंडे और पेंट फेंके.

पोरोशेंको ने ली शपथ, रखी शांति योजना

इमारत पर पेट्रोल बम भी फेंका गया, खिड़कियों के शीशे तोड़ दिए गए और रूस का झंडा फाड़ दिया गया.

मुंह पर कपड़े बांधे प्रदर्शनकारियों ने राजनयिकों की कारों को पलट दिया. एक प्रदर्शनकारी प्लेकार्ड लिए खड़ा था जिस पर लिखा था- रूस हत्यारा है.

रूस ने इस घटना पर यूक्रेन के साथ विरोध दर्ज कराया है. अमरीका ने भी इस घटना की निंदा की है.

अमरीका ने भी की निंदा

अमरीकी स्टेट डिपार्टमेंट की ओर से जारी बयान में कहा गया है, ''कीएफ़ में रूसी दूतावास पर हमले की अमरीका निंदा करता है और यूक्रेन से आग्रह करता है कि दूतावास को पर्याप्त सुरक्षा मुहैया कराने के लिए वो विएना संधि के वादे को निभाए.''

शनिवार को ही यूक्रेन के राष्ट्रपति पेत्रो पोरोशेंको कहा था कि वे रूस समर्थक विद्रोहियों द्वारा पूर्वी यूक्रेन में एक सैन्य विमान को मार गिराने जैसे क़दम का बदला लेंगे. इसमें यूक्रेन के 49 सैनिकों की मौत हो गई थी.

इस घटना में इलियूशिन-76 सैन्य परिवहन विमान पर गोले दाग़े गए थे, जिसके कारण विमान लुहांस्क में दुर्घटनाग्रस्त हो गया.

यूक्रेनः सैन्य हेलिकॉप्टर मार गिराया, जनरल की मौत

माना जाता है कि जबसे यूक्रेन की सरकार ने पूर्वी हिस्से में विद्रोहियों से निपटने के लिए सैन्य अभियान की शुरुआत की है, तबसे एक दिन में सरकारी बलों को जान-माल का यह सबसे बड़ा नुकसान था.

लुहांस्क अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर रूस समर्थक विद्रोहियों द्वारा यूक्रेनी बलों पर हमला करने की घटना के एक सप्ताह के भीतर ही विद्रोहियों ने इस विमान को मार गिराया.

इस हवाई अड्डे पर सरकारी बलों का नियंत्रण रहा है, लेकिन शेष शहर पर विद्रोहियों का कब्ज़ा है.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें