चेन्नई जीता,केकेआर की मुश्किलें बढ़ी

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

चेन्नई : बेहतरीन फार्म में चल रहे माइकल हसी की एक और शानदार पारी से बड़ा स्कोर खड़ा करने वाला चेन्नई सुपरकिंग्स आज यहां आखिर क्षणों में कुछ विषम पलों से गुजरने के बावजूद मौजूदा आईपीएल चैंपियन कोलकाता नाइटराइडर्स को 14 रन से हराने में सफल रहा.

हसी ने 59 गेंदों पर 11 चौकों और दो छक्कों की मदद से 95 रन बनाये. उन्होंने रिद्धिमान साहा (23 गेंद पर 39 रन) के साथ पहले विकेट के लिये 103 रन और सुरेश रैना (25 गेंद पर 44 रन) के साथ दूसरे विकेट के लिये 55 रन की दो उपयोगी साझेदारियां की जिससे चेन्नई ने तीन विकेट पर 200 का बड़ा स्कोर खड़ा कर दिया. मानविंदर बिस्ला ने हसी का अच्छा जवाब दिया तथा 61 गेंद पर 14 चौकों और दो छक्कों की मदद से 92 रन की जानदार पारी खेली. उन्होंने इयोन मोर्गन (22 गेंद पर 32 रन) के साथ केवल छह ओवर में 79 रन की साझेदारी की लेकिन केकेआर आखिर में चार विकेट पर 186 रन तक ही पहुंच पाया.

इस हार से केकेआर की नाकआउट में पहुंचने की संभावना को करारा झटका लगा है. उसे नौ मैच में छठी हार झेलनी पड़ी और उसके अब भी छह अंक हैं. दूसरी तरफ चेन्नई की यह नौवें मैच में सातवीं जीत है और वह 14 अंक लेकर अंकतालिका में शीर्ष पर काबिज हो गया है. हसी और साहा ने चेन्नई को तूफानी शुरुआत दिलायी तथा पावरप्ले के छह ओवर में 67 रन जोड़े. केकेआर ने भी पावरप्ले में 63 रन बनाये जिसमें डर्क नानेस के पहले ओवर में 12 अतिरिक्त रनों सहित बने 18 रन भी शामिल हैं. केकेआर ने इस बीच कप्तान गौतम गंभीर (आठ गेंद पर 14 रन) और ब्रैंडन मैकुलम (सात गेंद पर छह रन) के विकेट गंवा दिये.

गंभीर ने क्रिस मौरिस की फुललेंथ गेंद हवा में उठाने की कोशिश की लेकिन वह चूक गये और उनका लेग स्टंप उखड़ गया. बिस्ला ने इसके बावजूद मौरिस के अगले ओवर में चार चौके लगाये लेकिन मैकुलम के मोहित शर्मा की गेंद पर बोल्ड होने से रन गति धीमी पड़ गयी. जाक कैलिस (20 गेंद पर 19 रन) को दो जीवनदान मिले लेकिन वह उनका फायदा नहीं उठा पाये. उन्होंने ड्वेन ब्रावो की गेंद पर शार्ट फाइन लेग पर आसान कैच दिया. बिस्ला ने हालांकि चेन्नई के खिलाफ अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखा तथा आर अश्विन पर लगातार दो चौके जमाकर अपना अर्धशतक पूरा किया. केकेआर को आखिरी तीन ओवरों में जीत के लिये 50 रन चाहिए थे. नानेस के ओवर में मोर्गन और बिस्ला ने 21 रन बटोरकर मैच रोमांचक बना दिया. बिस्ला ने इस ओवर में एक छक्के के अलावा दो चौके भी जमाये और इस बीच अपने करियर का पिछला सर्वोच्च स्कोर पार किया.

जब दस गेंद पर 23 रन चाहिए थे तब बिस्ला रन आउट हो गये. ब्रावो के इस ओवर में दस रन बने जिससे केकेआर को आखिरी ओवर में 19 रन बनाने की चुनौती मिली, लेकिन क्रिस मौरिस ने शानदार गेंदबाजी की और केवल चार रन दिये. इससे पहले गंभीर का टास जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण का का फैसला गलत साबित हुआ. मुरली विजय की जगह खेल रहे साहा और हसी ने केकेआर के तेज और स्पिन मिश्रित आक्रमण को बैकफुट पर भेजने में कोई कसर नहीं छोड़ी. हसी ने लक्ष्मीपति बालाजी को पहले ही ओवर में तीन चौके जड़कर 14 रन बनाये. साहा ने अगले ओवर में शमी अहमद को दो चौके और एक छक्का लगाया. स्पिनर सुनील नारायण और कैलिस भी नाकाम साबित हुए और उनकी गेंदों की भी जमकर धुनाई हुई. चेन्नई के 100 रन सिर्फ 10 ओवर में बन गए. हसी ने अपना अर्धशतक 31 गेंद में सात चौकों और एक छक्के की मदद से पूरा किया.

केकेआर को पहली सफलता 11वें ओवर में मिली जब रजत भाटिया की गेंद पर साहा मिडविकेट पर मोर्गन को कैच देकर पवेलियन लौटे. साहा ने अपनी पारी में चार चौके और दो छक्के लगाये. इसके बाद रैना ने बखूबी जिम्मा संभाला तथा अपनी दिलकश पारी में चार चौके और एक छक्का लगाया. यह उनका आईपीएल में 100वां छक्का था. गेल के बाद वह दूसरे बल्लेबाज हैं जिन्होंने यह उपलब्धि हासिल की. हसी शतक के काफी करीब थे और उन्होंने नारायण की गेंद पर छक्का जड़कर शाही अंदाज में सैकड़ा पूरा करने का फैसला किया लेकिन गेंद हवा में लहरा गयी और डीप मिडविकेट पर देबब्रत दास ने उसे कैच में बदल दिया. रैना आखिरी ओवर में रन आउट हुए. कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने 12 गेंद में 18 रन बनाकर चेन्नई को 200 रन तक पहुंचाया.

    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें