मोदी का कर्ज़ चुकाना चाहते हैं मुख्य चुनाव आयुक्त जोति: AAP

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
<p>दिल्ली में आम आदमी पार्टी के विधायक सौरभ भारद्वाज ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर विधायकों की सदस्यता रद्द किए जाने की ख़बरों पर कहा, ''23 जनवरी को रिटायर हो रहे मुख्य चुनाव आयुक्त अचल कुमार जोति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कर्ज़ चुकाना चाहते हैं. हम हाईकोर्ट में अपील करेंगे.''</p><p>'आप' नेता ने आगे कहा, ''क्या कभी इन विधायकों के क्षेत्र में किसी ने देखा है कि इनके पास सरकारी गाड़ी है, सरकारी बंगला है या किसी का बैंक स्टेटमेंट देखा है? अभी तक मामले में विधायकों को अपना पक्ष रखने तक का मौका नहीं दिया गया है.''</p><p>दरअसल मीडिया में ऐस ख़बरें आ रही हैं कि चुनाव आयोग ने राष्ट्रपति के पास ये सिफ़ारिश भेजी है कि 'आप' के 20 विधायकों की सदस्यता इसलिए रद्द कर दी जाए, क्योंकि ये लोग लाभ के पद पर हैं. इन 20 विधायकों पर संसदीय सचिव का पद है.</p><p>आम आदमी पार्टी के 21 विधायकों पर लाभ के पद पर होने का आरोप था. लेकिन जरनैल सिंह के विधानसभा से इस्तीफा देने के बाद ये संख्या घटकर 20 हो गई.</p><h1>पढ़िए सौरभ भारद्वाज ने आगे और क्या कहा?</h1> <ul> <li>आरोप ये है कि किसी एक आदमी ने राष्ट्रपति के पास ये शिकायत की थी कि 21 आप विधायकों के पास लाभ का पद है.</li> </ul> <ul> <li>लाभ के पद का आरोप ग़लत है. अभी तक इस मामले में चुनाव आयोग में कोई सुनवाई शुरू नहीं हुई है. चुनाव आयोग में ये चर्चा हुई थी कि क्या सुनवाई हो सकती है या नहीं. तब ये फैसला हुआ था कि हां मामले की सुनवाई की जाएगी. </li> </ul> <ul> <li>जिन विधायकों की शिकायत हुई है, क्या उन लोगों के पास सरकारी बंगला, गाड़ी है? अभी तक विधायकों को अपना पक्ष रखने का मौका नहीं दिया गया. </li> </ul> <ul> <li>मोदी की गुजरात सरकार में प्रमुख सचिव रह चुके अचल कुमार जोति का 23 जनवरी को जन्मदिन है. सोमवार को वो रिटायर होने वाले हैं. जोति जी हैं, जो पूरा अकेले इस मामले में फ़ैसला देना चाह रहे हैं. वो अपना फ़ैसला इसलिए थोपना चाह रहे हैं, क्योंकि वो रिटायर हो रहे हैं.</li> </ul> <ul> <li>अब तक सुनवाई ये हुई थी कि ये लोग कभी संसदीय सचिव थे ही नहीं, तो क्या इन लोगों पर संसदीय सचिव होने का केस चलाया जा सकता है. आप मोदी को कर्ज चुकाना चाहते हैं तो चुनाव आयोग जैसी संवैधानिक संस्थान को गिरवी रखकर साजिश कर रहे हैं. </li> <li>जब माननीय उच्च न्यायलय ने यह कह दिया था कि ये लोग संसदीय सचिव थे ही नहीं तो उसपर चुनाव आयोग जाँच कैसे कर सकता है.</li> </ul><h1>कांग्रेस, बीजेपी ने क्या कहा?</h1><p>बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा, ''20 विधायकों की सदस्यता रद्द करने का विषय चोर की दाढ़ी में तिनका जैसा मामला है. 2015 के मार्च के महीने में केजरीवाल 21 विधायकों को संसदीय सचिव बनाते हैं, वो ये सोच रहे थे कि इसके बारे में लोगों को पता नहीं चलेगा और संविधान को आपने ताक में रख दिया. जून 2015 में केजरीवाल एक कानून लाते हैं कि संसदीय सचिव को लाभ के पद से बाहर रखिए.''</p><p>कांग्रेस नेता अजय माकन ने कहा, ''केजरीवाल को सत्ता में रहने का कोई हक नहीं है. संसदीय सचिव पद के फायदा उठा रहे आप के 20 विधायकों की सदस्यता रद्द करनी चाहिए. लोकपाल कहां है. ये विधायक और मंत्री सत्ता का मज़ा लूट रहे हैं और विदेश यात्रा कर रहे हैं.''</p><p><a href="https://twitter.com/ajaymaken/status/954278115441872896">https://twitter.com/ajaymaken/status/954278115441872896</a></p><p>पार्टी से निकाले गए कपिल मिश्रा ने भी इस मुद्दे पर ट्वीट किया. </p><p>कपिल ने लिखा, ''लालच में अंधे होने की कीमत केजरीवाल को चुकानी पड़ रही है. सभी 20 सीटों पर केजरीवाल के लोगों की जमानत होगी. केजरीवाल पैसों के लालच में अंधे हो चुके थे. एक आदमी के लालच के कारण 20 विधायकों की सदस्यता खत्म हुई.'' </p><h1>अचल जोति के बारे में ख़ास बातें</h1> <ul> <li>1975 बैच के गुजरात काडर के पूर्व आईएएस अफसर हैं अचल कुमार जोति.</li> </ul> <ul> <li>मोदी के गुजरात का मुख्यमंत्री रहते वक्त जोति लगातार तीन साल तक राज्य के मुख्य सचिव रहे.</li> </ul> <ul> <li>जनवरी 2010 से जनवरी 2013 तक राज्य के मुख्य सचिव रहे.</li> </ul> <ul> <li>13 मई 2015 को चुनाव आयुक्त नियुक्त हुए.</li> </ul> <ul> <li>इस दौरान वह उस टीम का हिस्सा रहे जिसने उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल और तमिलनाडु जैसे राज्यों के विधानसभा चुनावों का निरीक्षण किया.</li> </ul> <ul> <li>40 सालों का प्रशासनिक अनुभव, 1981-85 तक गुजरात के तीन ज़िलों सुरेंद्रनगर, पंचमहल और खेड़ा के डिस्ट्रिक्ट मैजिस्ट्रेट और कलेक्टर रह चुके हैं.</li> </ul> <ul> <li>2013 में रिटायर होने के बाद उन्हें राज्य का सतर्कता आयुक्त नियुक्त किया गया था.</li> </ul><p><a href="http://www.bbc.co.uk/hindi/india-40525231">मुख्य चुनाव आयुक्त क्या सरकार का आदमी होता है?</a></p><p><strong>(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप </strong><a href="https://play.google.com/store/apps/details?id=uk.co.bbc.hindi">यहां क्लिक</a><strong> कर सकते हैं. आप हमें </strong><a href="https://www.facebook.com/bbchindi/">फ़ेसबुक</a><strong> और </strong><a href="https://twitter.com/BBCHindi">ट्विटर</a><strong> पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)</strong></p>
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें