चिकित्सक ने दी जान

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

सारधा में डूब गये लाखों रुपये
आद्रा (पुरुलिया) : चिटफंड कंपनी सारधा ग्रुप में निवेश करने वाले पुरुलिया के चिकित्सक तपन कुमार विश्वास (34) ने लाखों रुपये डूबने के गम में फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली. शुक्रवार की देर रात बलरामपुर के मध्य बाजार इलाके में हुई इस घटना ने लोगों को झकझोर कर रख दिया है.

मृतक के भाई शक्तिपद विश्वास ने बताया कि तपन ने सारधा ग्रुप की कंपनियों में लाखों रुपये लगा रखे थे. कंपनी से जुड़े एजेंटों ने बहुत कम समय में राशि में काफी इजाफा होने का दावा किया था. इस कारण उसने पूरे जीवन की कमाई निवेश कर दी थी. लेकिन कंपनी के डूब जाने व संचालक सुदीप्त सेन के गिरफ्तार होने के बाद उसे पूंजी का निकलना मुश्किल लगने लगा था.

पिछले सात दिनों से वह काफी परेशान था. कारण पूछने पर भी खुल कर नहीं बता रहा था. कई बार रकम वापसी के मुद्दे पर उसने सारधा चिट फंड के एजेंटों से बहस की. शुक्रवार की रात वह अपने कमरे में टीवी देखने के लिए गया था. जब उसे खाना देने उसकी पत्नी पहुंची, तो वह पंखे के सहारे फंदे से लटक रहा था. परिजन उसे फंदे से निकाल कर तुरंत स्थानीय स्वास्थ्य केंद्र ले गये, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. घटना की जानकारी पुलिस को दी गयी.

तपन के कमरे से सारधा चिट फंड में निवेश कि ये गये लाखों रुपये के बांड व चिट्ठियां पायी गयीं. परिजनों का दावा है कि लाखों रुपये डूब जाने के कारण ही तपन ने आत्महत्या की है. पुलिस ने शव को अपने कब्जे में कर पोस्टमार्टम के लिए पुरुलिया सदर अस्प्ताल भेज दिया है. इधर, इस घटना के बाद कंपनी के एजेंटों में हड़कंप मच गया है. उन्हें लगने लगा है कि वे इस तरह के कई मामलों में फंस सकते हैं.

    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें