Advertisement

अवसर

  • Aug 16 2019 12:02AM
Advertisement

प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी को बनाएं आसान

प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी को बनाएं आसान

डॉ सुधा उपाध्याय, दिल्ली विश्वविद्यालय

हमेशा याद रखें कि जिस खास परीक्षा में आपको बैठना है, उसकी तैयारी आखिरी समय पर बिल्कुल न करें. तैयारी के लिए आपके पास पर्याप्त समय होना चाहिए. जल्दी शुरुआत का सबसे बड़ा फायदा आपको दिखेगा. आप एक ही चैप्टर का रिवीजन कई बार कर सकते हैं. अपनी प्लानिंग इस तरह से करें कि परीक्षा से एक हफ्ते पहले आपका सिलेबस खत्म हो जाये, ताकि आपके पास दोबारा पढ़ने के मौके कई बार हों.

खुद को करें व्यवस्थित
 
परीक्षा की तैयारी शुरू करने से पहले आप खुद को व्यवस्थित करें. आप यह तय करें कि एक दिन में सिलबेस का कितना हिस्सा खत्म कर सकते हैं. ऐसा करने से आप अंदाजा लगा सकते हैं कि कुल मिलाकर कितने दिन में आप अपनी पढ़ाई पूरी कर सकते हैं. पढ़ाई पूरी करने के बाद रिवीजन के लिए कुछ दिन मिल रहे हैं या नहीं. अगर इस प्लानिंग से आप पढ़ाई शुरू करेंगे, तो आपकी पढ़ाई विधिवत तरीके से होगी और आप समय पर सिलेबस पूरा भी कर पायेंगे.

रूपरेखा बनाएं
 
कॉन्सेप्ट को याद रखने के लिए अलग से रूपरेखा तैयार करें. क्लास में बतायी गयी बातें और किताबों में लिखे तथ्यों को जोड़कर, हर चैप्टर के लिए नोट्स बनायें. परीक्षा के ठीक पहले ये काफी मददगार साबित होंगे. आप एक बार इसको देखेंगे, तो सारे कॉन्सेप्ट फिर से ताजा हो जायेंगे.
 
कार्ड बनाएं
 
आप चैप्टर्स के हिसाब से कार्ड्स बना सकते हैं. आप जहां पर पढ़ते हैं, वहीं सामने इन कार्ड्स को लगाकर रखें. इनमें प्वाइंटर्स को लिखें, ताकि आपकी नजर जब भी उस पर जाये, तो उसका रिवीजन होता रहे.

मदद मांगें
 
अगर आपको लगता है कि आप किसी खास चैप्टर को समझने में दिक्कत महसूस कर रहे हैं, तो उसके लिए अपने ट्यूटर या शिक्षक से मदद लें. जबरदस्ती किसी चीज को याद करने से बेहतर है कि उसको पहले समझ लें, क्योंकि सिर्फ याद करने से आप भूल जायेंगे, इसलिए समय रहते उस खास दिक्कत को दूर करने के लिए किसी जानकार से मदद लें.

अच्छी नींद भी है जरूरी
 
परीक्षा की तैयारी के दौरान अच्छी नींद लेना बहुत जरूरी है. इस गलतफहमी में कभी न रहें कि ज्यादा पढ़ने से आप ज्यादा अच्छा करेंगे. नींद से समझौता मत कीजिये. रात में कम-से-कम सात घंटे की नींद अवश्य लें. अगर आप कम नींद लेते हैं, तो ऐसे में जो कुछ भी आपने पढ़ाई की है, वह सब बेकार हो सकती है.
 
जल्दबाजी न मचाएं
 
परीक्षा में लिखते समय न तो परेशान हों और न ही जल्दी मचायें. अगर आपको कोई उत्तर याद नहीं आ रहा है, तो उस समय खुद पर संयम रखें और अगले सवाल का उत्तर देने की कोशिश करें. पहले सारे सवालों के जवाब लिख लें और फिर से उस सवाल पर लौटें, जिसका उत्तर आपको नहीं आता है.
 
कॉन्सेप्ट समझने की कोशिश करें
 
तैयारी के दौरान रटने की कोशिश न करें. एक बार कॉन्सेप्ट समझ लेंगे, तो वह आपको जीवनभर याद रहेगा. सिर्फ रटने की कोशिश करेंगे, तो उसे अगले दिन भी भूल सकते हैं. जब आपका कॉन्सेप्ट क्लियर होगा, तो परीक्षा में जवाब आसानी से लिख पायेंगे.
आखिरी समय में खुद का 
 
मूल्यांकन न करें
 
परीक्षा के आखिरी समय में खुद का मूल्यांकन करने से बचें. अगर आपको लगता है कि किसी सवाल का जवाब आपने गलत लिख दिया है, तो फिर आप उसको सही करने लगेंगे. इसमें अक्सर गलती होती है. आप अपनी बात पर दृढ़ रहें कि जो कुछ आपने बनाया है पहले, वह सही है. कई बार आखिरी समय में छात्र सही जवाब को भी गलत कर आते हैं और बाद में पछताते हैं.

 
 
Advertisement

Comments

Advertisement

Other Story

Advertisement