1. home Home
  2. national
  3. niti aayog over ban on intl flights booster dose pediatric vaccination due to omicron variant of corona mtj

ओमिक्रॉन वैरिएंट की वजह से इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर लगेगा बैन! NITI आयोग इन विषयों पर कर रहा विचार

ओमिक्रॉन वैरिएंट के मामले भारत में मिलने के बाद इंटरनेशनल फ्लाइट्स को बैन करने समेत कई मुद्दों पर नीति आयोग ने चर्चा शुरू कर दी है. ओमिक्रॉन के असर पर विस्तृत रिपोर्ट पढ़ें...

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
ओमिक्रॉन वैरिएंट पर नीति आयोग के सदस्य वीके पॉल ने दिया बयान
ओमिक्रॉन वैरिएंट पर नीति आयोग के सदस्य वीके पॉल ने दिया बयान
Twitter

नयी दिल्ली: कोरोना वायरस के बेहद संक्रामक वैरिएंट ‘ओमिक्रॉन’ के खतरे के मद्देनजर क्या इंटरनेशनल फ्लाइट्स को रद्द कर दिया जायेगा. क्या अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर फिर से प्रतिबंध लगा दिया जायेगा. भारत में दो लोगों के ओमिक्रॉन वैरिएंट से संक्रमित पाये जाने के बाद ये सवाल उठने लगे हैं.

इस पर नीति आयोग के सदस्य वीके पॉल का बयान आया है. श्री पॉल ने अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के अलावा बूस्टर डोज और बच्चों को वैक्सीन लगाये जाने के मुद्दे पर भी अपनी बात रखी है. उन्होंने कहा है कि कोविड-19 के ओमिक्रॉन वैरिएंट (Omicron variant of COVID19) पर कई गहन परीक्षण हो रहे हैं.

  • NITI आयोग की टेक्निकल और साइंटिफिक सर्किल में चल रही है चर्चा

  • अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर प्रतिबंध के अलावा कई मुद्दों पर बोले वीके पॉल

  • कर्नाटक में दो लोगों में कोरोना के नये वैरिएंट ओमिक्रॉन की पुष्टि हुई है

भारत में पूरी सावधानी बरती जा रही है. परीक्षणों के परिणाम सामने आने के बाद उसके आधार पर आगे के कदम उठाये जायेंगे. नीति आयोग के टेक्निकल और साइंटिफिक सर्किल में इन मुद्दों पर चर्चा चल रही है. विस्तृत चर्चा करने के बाद इन मसलों पर फैसला लिया जायेगा.

ओमिक्रॉन वैरिएंट को कोरोना के डेल्टा वैरिएंट से 5 गुणा अधिक संक्रामक बताया जा रहा है. यानी इसके तेजी से फैलने की आशंका है. इसलिए ज्यादा सावधानी बरतने की जरूरत बतायी जा रही है. दक्षिण अफ्रीका और यूरोप में कोरोना के इस वैरिएंट के सबसे ज्यादा मामले सामने आये हैं.

भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा है कि यह वैरिएंट घातक है, लेकिन इससे पैनिक होने की जरूरत नहीं है. भारत सरकार ने कोरोना के जो गाइडलाइंस जारी किये हैं, उनका पालन करते रहें, तो इस वैरिएंट को भी हराया जा सकता है.

45.83 करोड़ लोगों ने ही ली वैक्सीन की दोनों खुराकें

इस बीच, डॉक्टरों ने बच्चों का टीकाकरण जल्द से जल्द शुरू करने पर जोर देना शुरू कर दिया है. वहीं, कोरोना की दोनों डोज ले चुके लोगों को बूस्टर डोज देने की भी मांग उठने लगी है. बता दें कि देश में करीब 125 करोड़ कोरोना वैक्सीन की डोज लोगों को लग चुकी हैं. हालांकि, अब तक 45,82,78,988 लोगों ने ही वैक्सीन की दोनों डोज ली है.

इसलिए, सरकार को इस बात की चिंता सता रही है कि अगर सभी लोगों ने वैक्सीन की दोनों खुराक नहीं ली, तो कोरोना का यह वैरिएंट घातक रूप अख्तियार कर सकता है. यही वजह है कि कोरोना प्रोटोकॉल का फिर से सख्ती से पालन कराना सुनिश्चित किया जा रहा है. राहत की बात यह है कि देश में अब 1 लाख से भी कम कोरोना के पॉजिटिव मामले रह गये हैं.

Posted By: Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें