1. home Home
  2. national
  3. bikaner guwahati express train accident death toll rises to 9 5 bodies identified mtj

बीकानेर-गुवाहाटी एक्सप्रेस ट्रेन हादसा: मृतकों की संख्या 9 हुई, 41 लोगों को मिला मुआवजा

पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी जिला में बीकानेर-गुवाहाटी एक्सप्रेस हादसे में मरने वालों की संख्या बढ़कर 9 हो गयी है. इनमें से 5 की पहचान हो पायी है. उन्हें मुआवजा का भुगतान किया जा चुका है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
रेल हादसा के शिकार हुए लोगों को दिया गया मुआवजा
रेल हादसा के शिकार हुए लोगों को दिया गया मुआवजा
Prabhat Khabar

गुवाहाटी: पश्चिम बंगाल के जलपाइगुड़ी जिला में गुरुवार की शाम को हुए भीषण ट्रेन हादसे में मृतकों की संख्या बढ़कर 9 हो गयी है. इनमें से 5 लोगों की पहचान कर ली गयी है. मृतकों की पहचान के बाद उनके निकट परिजनों को 5-5 लाख रुपये का मुआवजा दे दिया गया है. गंभीर रूप से घायल 10 लोगों को 1-1 लाख रुपये और सामान्य रूप से घायल 26 लोगों को 25-25 हजार रुपये का भुगतान कर दिया गया है. इस तरह दुर्घटना में मरने वाले और घायल हुए कुल 41 लोगों को मुआवजा दिया जा चुका है. भारतीय रेलवे के एडीजी पीआर राजीव जैन ने शुक्रवार को यह जानकारी दी.

राजस्थान के बीकानेर से उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल के रास्ते असम के गुवाहाटी जाने वाली बीकानेर-गुवाहाटी एक्सप्रेस ट्रेन के 12 डिब्बे पटरी से उतर गये थे. दुर्घटना में कई डिब्बे एक-दूसरे के ऊपर चढ़ गये थे. कल तक 6 लोगों के मरने की पुष्टि हुई थी. अब मृतकों की संख्या बढ़कर 9 हो गयी है. पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे (एनएफआर) की प्रवक्ता ने शुक्रवार को यह जानकारी दी.

उन्होंने बताया कि तीन मृतकों की पहचान अभी नहीं हो पायी है. पश्चिम बंगाल के जलपाइगुड़ी जिले में दोमोहानी के निकट बृहस्पतिवार को बीकानेर-गुवाहाटी एक्सप्रेस ट्रेन के 12 डिब्बे पटरी से उतर गये थे और कुछ डिब्बे पलट गये थे. एनएफआर की प्रवक्ता गुनीत कौर ने बताया कि हादसे में 36 अन्य लोग घायल हुए हैं. इनमें से 23 लोगों का इलाज जलपाइगुड़ी के ‘सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल’ में चल रहा है, जबकि उत्तर बंगाल मेडिकल कॉलेज में छह लोग और मयनागुड़ी ग्रामीण अस्पताल में 7 लोग भर्ती हैं.

रेल मंत्री और NFR के महाप्रबंधक ने किया दुर्घटनास्थल का दौरा

उन्होंने बताया कि रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने शुक्रवार सुबह दुर्घटनास्थल का दौरा किया. उन्होंने बताया कि एनएफआर के महाप्रबंधक अंशुल गुप्ता बृहस्पतिवार देर रात 12:08 बजे मौके पर पहुंचे और ट्रेनों की आवाजाही को सामान्य करने के लिए पटरियों के जीर्णोद्धार कार्य की निगरानी कर रहे हैं. गुनीत कौर ने कहा, ‘यात्रियों को वहां से निकालने का काम पूरा हो चुका है.’

Posted By: Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें