1. home Hindi News
  2. national
  3. 11 interesting things related to desh ki azadi swatantrata diwas ki hardik shubhkamnaye happy 74th independence day 2020 country proud on flag hosting time india jharkhand bihar national anthem patrotic dehbhatkti song gaana indian army flag images poster wallpaper nehru gandhi bhagat singh subhash chandra bose latest news smt

Independance Day 2020 : स्वतंत्रता दिवस से जुड़ी ये 11 रोचक बातें,जो हर देशवासी को जाननी चाहिए

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Happy Independance Day 2020, 11 interesting facts about independence day
Happy Independance Day 2020, 11 interesting facts about independence day
Prabhat Khabar Graphics

Happy Independance Day 2020, 11 interesting facts about independence day : लगभग 200 वर्षों की गुलामी के बाद ब्रिटिश शासन के चंगुल से भारत को 15 अगस्त, 1947 को आजादी मिली. देश के महान स्वतंत्रता सेनानियों (freedom fighters of india) व वीर सपूतों ने इस आजादी के लिए अपना पूरा जीवन न्योछावर कर दिया. आज देश 74वां स्वतंत्रता दिवस मनाने जा रहा है. ऐसे में आपको भी मालूम होनी चाहिए स्वतंत्रता दिवस से जुड़ी कुछ बेहद दिलचस्प बातें..

15 अगस्त 1947 की आधी रात आजादी की घोषणा

15 अगस्त 1947 की आधी रात जब पूरा भारत सो रहा था, तब देश के तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने भारत में आजादी की घोषणा की.

महात्मा गांधी आजादी के जश्न में क्यों नहीं हो पाए थे शामिल ?

जब देश 15 अगस्त, 1947 को आजादी का जश्न मना रहा था तो देश के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी इसमें शामिल नहीं थे. दरअसल, उस समय वे पश्चिम बंगाल के नोआखली में हो रहे हिंदू-मुस्लिम के सांप्रदायिक हिंसा को समाप्त करने के लिए अनशन पर बैठे थे.

लाल किले से ही क्यों सभी पीएम भाषण देते हैं?

दरअसल, 17वीं शताब्दी में शाहजहां द्वारा बनाया गया लाल किला राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में शक्ति के प्रतीक के तौर पर देखा जाने लगा. हालांकि, ब्रिटिश शासन के दौरान कुछ समय के लिए इसकी अवहेलना की गई. लेकिन, आजादी से पहले, यह फिर से भारतवासियों के लिए महत्त्वपूर्ण हो गया. अंग्रेजों ने भारतीय सेना के तीन सैनिक, जिन्होंने अंग्रेजों के खिलाफ लड़ाई लड़ी थी, उनके कोर्ट मार्शल के आयोजन स्थल के रूप में लाल किले को ही चुना था. जब नेहरू प्रधानमंत्री बने तो अपने देशवासियों को संबोधित करने के लिए इसी स्थान को चुना. हालांकि, एक हिंदी वेबसाइट एयू में छपी खबर के मुताबिक, 15 अगस्त 1947 को लाल किले से तिरंगा नहीं फहराया गया था. उसके वजाय नेहरू ने 16 अगस्त 1947 को लाल किले से तिरंगा झंडा फहराया था.

पांच और देश जो 15 अगस्त को मनाते हैं अपना स्वतंत्रता दिवस

भारत एकमात्र देश नहीं है जो 15 अगस्त को अपना स्वतंत्रता दिवस मनाता है. कम से कम पांच अन्य देश अगस्त में इसी दिन अपना स्वतंत्रता दिवस (या इसी तरह का दिन) मनाते हैं.

- उत्तर और दक्षिण कोरिया हैं. प्रतिद्वंद्वी कोरियाई देश, 15 अगस्त को 'नेशनल लिबरेशन डे ऑफ कोरिया' के रूप में मनाते हैं. यह दिवस 1945 में कोरियाई प्रायद्वीप के जापानी कब्जे के समाप्ति के रूप में मनाया जाता है.

- इसके अलावा बहरीन, जिसने 1971 में यूके से स्वतंत्रता की घोषणा की थी. वे भी 15 अगस्त को ही अपनी आजादी का वर्षगांठ मनाते हैं.

- लिकटेंस्टीन, दुनिया के सबसे छोटे देशों में से एक है. यह देश वर्ष 1940 से प्रिंस फ्रांज-जोसेफ के जन्मदिवस के रूप में इसे दिन को मनाता है.

- डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कांगो भी 1960 में मिली फ्रांस से आजादी के तौर पर सेलिब्रेट करता है.

स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस के बीच क्या मुख्य अंतर है?

- स्वतंत्रता दिवस (15 अगस्त) को मनाया जाता है. इस दिन सत्ता ब्रिटेन से भारत को सौंपी गई थी.

- दूसरी ओर, गणतंत्र दिवस (26 जनवरी) को मनाया जाता है. इसी दिन भारत का संविधान आधिकारिक रूप से लागू किया गया था. जिसके बाद देश औपचारिक रूप से गणतंत्र बन गया.

भारत का राष्ट्रीय गान किसने और कब लिखा?

राष्ट्रगान, मूल रूप से बंगाली कवि रवींद्रनाथ टैगोर द्वारा लिखा गया था. जन मन गण का पहला संस्करण 1910-11 में महान कवि टैगोर द्वारा लिखे जाने के बाद वर्ष 1950 में इसे राष्ट्रगान के रूप में घोषित किया गया.

भारत का राष्ट्रीय ध्वज किसने डिजाइन किया था?

भारतीय राष्ट्रीय ध्वज को शिक्षाविद और स्वतंत्रता सेनानी पिंगली वेंकय्या ने डिजाइन किया था. वेंकय्या मछलीपट्टनम (जो अब आंध्र प्रदेश में है) से थे. हालांकि, टाइम्स नाऊ न्यूज की मानें तो, प्रारंभिक ध्वज डिजाइन भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के लिए डिजाइन किया गया था. लेकिन, बाद में इसे संशोधित करके देश के लिए समर्पित किया गया.

किसने कहा था स्वराज मेरा जन्मसिद्ध अधिकार है ?

देश में चल रहे राष्ट्रवादी आंदोलनों में बाल गंगाधर तिलक का अहम योगदान रहा है. तिलक ने स्व-शासन या स्वराज के विचार की पुरजोर वकालत की. उन्होंने ही 'स्वराज मेरा जन्मसिद्ध अधिकार है और इसे मैं पाकर रहूंगा' का नारा दिया था.

भारत की संसद को किसने डिजाइन किया था?

संसद भवन को 1912-13 में एडविन लुटियंस और हर्बर्ट बेकर द्वारा डिजाइन किया गया था. इस इमारत को बनने में छह साल लगे थे. इसकी आधारशिला 1921 में ड्यूक ऑफ कनॉट ने रखी थी. उस समय इसके निर्माण की लागत 83 लाख रुपये थी. माना जाता है कि इसका गोलाकार शेप, अशोक चरक से प्रेरित है.

आजादी के समय भारत की जनसंख्या कितनी थी?

अंग्रेजी वेबसाइट टाइम्स नाऊ की रिपोर्ट के अनुसार, विभाजन के बाद, भारत की अनुमानित जनसंख्या 325-30 मिलियन थी. जबकि, पाकिस्तान की 70 मिलियन थी. विभाजन के बाद पहली जनगणना, 1951 में हुई. भारत की जिसमें कुल जनसंख्या 361 मिलियन दर्ज की गई.

भारत छोड़ो आंदोलन किसने चलाया?

भारत छोड़ो आंदोलन की शुरुआत महात्मा गांधी ने 8 अगस्त 1942 को बॉम्बे में कांग्रेस पार्टी के अधिवेशन के दौरान की थी. अगले ही दिन गांधी के साथ-साथ कई अन्य कांग्रेसी नेताओं को गिरफ्तार कर लिया गया था. कहा जाता है कि यह आंदोलन ब्रिटिश सरकार के खिलाफ सबसे बड़ा और अंतिम आंदोलन था.

Posted By : Sumit Kumar Verma

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें