1. home Home
  2. health
  3. eu regulator approves modernas corona vaccine for children aged 12 to 17 ksl

यूरोपीय संघ के नियामक ने 12 से 17 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए मॉडर्ना के वैक्सीन को दी मंजूरी

यूरोपियन मेडिसिन एजेंसी (ईएमए) की मानव औषधि समिति ने 12 से 17 साल की आयु के बच्चों में उपयोग को शामिल करने के लिए कोविड-19 वैक्सीन 'स्पाइकवैक्स' (पहले कोविड-19 वैक्सीन मॉडर्ना) के लिए संकेत का विस्तार देने की सिफारिश की है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर
सोशल मीडिया

नयी दिल्ली : यूरोपियन मेडिसिन एजेंसी (ईएमए) की मानव औषधि समिति ने 12 से 17 साल की आयु के बच्चों में उपयोग को शामिल करने के लिए कोविड-19 वैक्सीन 'स्पाइकवैक्स' (पहले कोविड-19 वैक्सीन मॉडर्ना) के लिए संकेत का विस्तार देने की सिफारिश की है.

मालूम हो कि वैक्सीन पहले से ही 18 वर्ष और उससे अधिक आयु के लिए उपयोग के लिए अधिकृत है. ईएमए ने कहा है कि 12 से 17 वर्ष की आयु के बच्चों में स्पाइकवैक्स वैक्सीन का उपयोग 18 वर्ष और उससे अधिक आयु के लोगों की तरह ही होगा.

वैक्सीन को ऊपरी बांह की मांसपेशियों में चार सप्ताह के अंतराल पर दो इंजेक्शन के रूप में दिया जायेगा. 12 से 17 वर्ष की आयु के 3732 बच्चों पर किये गये अध्ययन में सपाइकवैक्स के प्रभावों की जांच की गयी है. यह अध्ययन बाल चिकित्सा जांच योजना के अनुसार किया जा रहा है.

अध्ययन से पता चला है कि स्पाइकवैक्स ने 12 से 17 साल के बच्चों में 18 से 25 साल के आयु के वयस्कों के अनुसार ही एंटीबॉडी प्रतिक्रिया उत्पन्न की. साथ ही वैक्सीन लेनेवाले 2163 बच्चों में से कोई भी कोविड-19 संक्रमित नहीं हुआ है. जबकि 1073 बच्चों में से चार बच्चों को डमी इंजेक्शन दिया गया था.

परिणामों से पता चलता है कि 12 से 17 वर्ष के बच्चों में स्पाइकवैक्स की प्रभावकारिता वयस्कों के समान है. इसके अलावा 12 से 17 वर्ष के आयु के बच्चों में आम दुष्प्रभाव भी 18 वर्ष और उससे अधिक उम्र के लोगों के समान ही है.

वैक्सीन लेने के बाद इंजेक्शन लेने के स्थान पर दर्द, सूजन, थकान, सिरदर्द, मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द, ठंड लगना, मतली, उल्टी और बुखार शामिल है. ये प्रभाव आमतौर पर हल्के या मध्यम होते हैं और वैक्सीन लेने के कुछ दिनों बाद ठीक हो जाता है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें