1. home Hindi News
  2. entertainment
  3. bollywood
  4. women commission came in support of kangana ranaut said arrest of shiv sena mla who threatened aml

कंगना के समर्थन में आया महिला आयोग, कहा- धमकी देने वाले शिवसेना विधायक की गिरफ्तारी हो

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
कंगना रनौत
कंगना रनौत
File

नयी दिल्ली : राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा (Rekha Sharma) ने शुक्रवार को शिवसेना के उस विधायक की गिरफ्तारी की पैरवी की जिन्होंने अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) को कथित तौर पर धमकी दी है. शिवसेना विधायक प्रदीप सरनाईक द्वारा कंगना को कथित तौर पर धमकी देने के मामले का हवाला देते हुए रेखा ने कहा कि उन्होंने इसका स्वत: संज्ञान लिया है. उन्होंने ट्वीट किया, ‘मुंबई पुलिस आयुक्त, उन्हें (विधायक को) तत्काल गिरफ्तार किया जाना चाहिए.'

दरअसल, सरनाईक ने ट्वीट कर कहा है कि मुंबई की तुलना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) से करने के लिए कंगना पर देशद्रोह का मामला दर्ज होना चाहिए. उन्होंने कहा, ‘संजय राउत जी ने बहुत ही नरम होकर कंगना को सावधान किया था. अगर वह यहां आती हैं तो हमारी बहादुर महिलाएं उन्हें थप्पड़ मारे बगैर नहीं छोड़ेंगी.'

गौरतलब है कि कंगना ने हाल ही में एक ट्वीट में सवाल किया था, 'मुंबई, पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर की तरह क्यों लग रहा है?' उन्होंने एक सितंबर की एक समाचार रिपोर्ट को भी टैग किया था जिसमें संजय राउत ने कथित तौर पर कहा था कि अगर वह नगर की पुलिस से डरती हैं तो उन्हें वापस मुंबई नहीं आना चाहिए. उनके इस बयान के बाद संजय राउत और शिवसेना के दूसरे नेता उन पर हमलावर हो गये.

एक-दूसरे पर हमलों का दौर जारी

महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ गठबंधन के नेताओं ने मुंबई की तुलना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से करने के लिए अदाकारा कंगना रनौत की तीखी आलोचना की. राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि शहर में रहना जिन्हें असुरक्षित लगता है उन्हें यहां रहने का कोई अधिकार नहीं है. उधर, विपक्षी भाजपा ने अदाकारा से दूरी बरतते हुए कहा कि पार्टी का उनसे कोई लेना-देना नहीं है.

शिवसेना के सांसद संजय राउत ने कहा कि शहर की पुलिस को बदनाम करने वालों के खिलाफ राज्य सरकार को कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए. राउत ने कहा, ‘अगर वे लोग, जिनका शहर से कोई लेना-देना नहीं है, इसे और यहां की पुलिस को बदनाम करते हैं, तो राज्य सरकार और गृह मंत्री को कार्रवाई करनी चाहिए. अन्यथा पुलिस का मनोबल टूटेगा.' उन्होंने दावा किया कि मुंबई पुलिस की छवि खराब करने के पीछे एक साजिश है.

राउत ने कहा, ‘राज्य के स्वास्थ्य विभाग और गृह विभाग को बढ़ रहे मानसिक रोगों के मामलों से निपटना चाहिए.' राउत ने कहा कि मुंबई में वोट हासिल करने वाले उन दलों को भी ऐसे तत्वों का समर्थन करने पर शर्म आनी चाहिए जो मुंबई पुलिस को बदनाम कर रहे हैं. राउत ने कंगना को पीओके की स्थिति देखने के लिए सबसे पहले वहां का दौरा करने के लिए कहा. राकांपा नेता और गृह मंत्री अनिल देशमुख ने भी अदाकारा की टिप्पणी पर तीखी प्रतिक्रिया दी.

महाराष्ट्र कांग्रेस के प्रवक्ता सचिन सावंत ने कंगना पर राज्य सरकार और मुंबई पुलिस को बदनाम करने के लिये भाजपा के साथ साठगांठ करने का शुक्रवार को आरोप लगाया. सावंत में ट्वीट कर आरोप लगाया, 'मुंबई की तुलना पीओके से करके अभिनेत्री ने 13 करोड़ महाराष्ट्र वासियों...और मुंबई से प्रेम करने वाले तमाम लोगों का अपमान किया है.' हालांकि भाजपा विधायक राम कदम ने कहा है कि उनकी पार्टी कंगना की आपत्तिजनक टिप्पणियों का समर्थन नहीं करती.

Posted By: Amlesh Nandan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें