1. home Hindi News
  2. entertainment
  3. bollywood
  4. sonu sood reaction on loudspeaker and hanuman chalisa controversy bud

लाउडस्पीकर और हनुमान चालीसा विवाद पर सोनू सूद को बयान आया सामने, एक्टर ने कही ये बड़ी बात

इन दिनों देश में लाउडस्पीकर और हनुमान चालीसा का विवाद छाया हुआ है.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
sonu sood
sonu sood
instagram

Sonu Sood On loudspeaker and Hanuman Chalisa controversy: इन दिनों देश में लाउडस्पीकर और हनुमान चालीसा का विवाद छाया हुआ है. सियासी गलियारों में हनुमान चालीसा और लाउडस्पीकर पर जमकर राजनीति हो रही है. इस विवाद पर कई बड़े चेहरे अपना पक्ष रख रहे हैं. अब इस मामले पर बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद ने भी अपना रिएक्शन सामने आया है. उन्होंने इस विवाद पर अपना बयान जारी कर लोगों से शांति की अपील की है.

लाउडस्पीकर और हनुमान चालीसा विवाद पर सोनू सूद का बयान

सोनू सूद ने सभी से साथ रहने की अपील की है. पुणे स्थित JITO Connect 2022 समिट को संबोधित करते हुए सोनू सूद ने अपनी बात रखते हुए कोरोना काल का जिक्र किया है. एक्टर ने कहा कि, लाउडस्पीकर और हनुमान चालीसा विवाद को देखकर बहुत दुख हो रहा है. जिस तरह से लोग अब एकदूसरे के खिलाफ खड़े होकर जहर उगल रहे हैं, उसे देखकर दिल टूट जाता है. पिछले ढाई साल से हम सब मिलकर कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे हैं.

किसी ने भी धर्म की परवाह नहीं थी

उन्होंने आगे कहा कि, "इस कोरोना महामारी के समय में राजनीतिक दलों ने भी कंधे से कंधा मिलाकर इसका सामना किया है. पहली और दूसरी दोनों लहर में, जब सभी कोरोना के मरीज ऑक्सीजन के लिए जंग लड़ रहे थे तो किसी ने भी धर्म की परवाह नहीं थी. कोरोना के खतरे को देखते हुए हमारा पूरा देश एकसाथ आया. धर्म से परे, हमारे अटूट संबंध बंधे थे और हमने सामने से आकर एकदूसरे को साथ दिया.

बेहतर भारत के लिए साथ आना होगा

सोनू सूद ने सभी राजनीतिक दलों से अपील करते हुए कहा, यह वह समय है जब हमें एक बेहतर भारत के लिए साथ आना होगा. हमें धर्म और जाति की सीमाओं से बाहर आना होगा. ताकि हम मानवीय आधार पर अपना योगदान दे सकें. अगर हम धर्म से परे एक साथ खड़े होते हैं, तो लाउडस्पीकर विवाद अपनेआप खत्म हो जाएगा. समाज में भाईचारे की गूंज होगी.

गरीबों के मसीहा हैं सोनू सूद

बता दें कि, लाउडस्पीकर और हनुमान चालीसा विवाद पर सोनू सूद ने पहली बार प्रतिक्रिया दी है. वैसे सोनू सूद किसी भी मुद्दे पर अपनी राय व्यक्त करने से नहीं हिचकिचाते. वो कोरोना के समय में गरीबों के मसीहा बनकर उभरे थे. लॉकडाउन के दौरान कई दूसरे शहरों में फंसे मजदूरों को सोनू सूद ने उनके घर तक पहुंचाने की पूरी व्यवस्था की थी. इस वजह से सोनू सूद को मसीहा का टैग मिला. सोनू सूद आज भी लोगों की मदद करते रहते हैं.

राज ठाकरे ने दी थी चेतावनी

बता दें कि, कुछ दिन पूर्व राज ठाकरे ने एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि वो किसी भी धर्म के खिलाफ नहीं हैं. नमाज के खिलाफ भी नहीं हूं. लेकिन मस्जिदों से लाउडस्पीकर हटना चाहिए. उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा था कि अगर लाउडस्पीकर नहीं हटाया गया तो मस्जिद के बाहर हनुमान चालीसा बजाएंगे.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें