1. home Home
  2. entertainment
  3. bollywood
  4. manjinder sirsa demands kangana ranaut be either sent to jail or mental hospital police complaint against actress dvy

कंगना रनौत पर मनजिंदर सिंह सिरसा ने साधा निशाना, बोले- इन्हें जेल भेजो या पागलखाने

कंगना रनौत अपने दिए गए एक बयान को लेकर मुसीबत में पड़ गई है. दिल्ली की सिख गुरुद्वारा प्रबंध कमिटी ने उनके खिलाफ दिल्ली में देशद्रोह का केस दर्ज कराया है

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
कंगना रनौत पर मनजिंदर सिंह सिरसा ने साधा निशाना
कंगना रनौत पर मनजिंदर सिंह सिरसा ने साधा निशाना
instagram

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत अपने बयानों को लेकर अक्सर विवाद में पड़ जाती हैं. इन दिनों कंगना हर मुद्दे पर बेबाकी से अपने विचार रख रही है. अब अपने एक विवादित बयान को लेकर एक्ट्रेस मुश्किल में फंसती नजर आ रही है. दिल्ली की सिख गुरुद्वारा प्रबंध कमिटी ने उनके खिलाफ दिल्ली में देशद्रोह का केस दर्ज कराया है.

दरअसल, दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधन समिति ने शनिवार को अभिनेत्री कंगना रनौत के खिलाफ इंस्टाग्राम पर सिख समुदाय के खिलाफ कथित रूप से अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल करने के लिए पुलिस शिकायत दर्ज कराई है.

वहीं, समिति ने कहा कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर हाल ही में एक पोस्ट में कंगना रनौत ने जान बूझकर और इरादे से किसान आंदोलन को 'खालिस्तानी आंदोलन' बताया है. इस शिकायत में कहा गया है कि कंगना ने सिख समुदाय के खिलाफ अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल किया है.

जबकि दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने भी कंगना रनौत के बारे में बड़ी बात कह दी. टीओआई की एक रिपोर्ट के अनुसार, मनजिंदर ने एक्ट्रेस के खिलाफ जमकर निशाना साधा और कहा कि उन्हें या तो जेल में डाल दिया जाना चाहिए या मानसिक अस्पताल में डाल दिया जाना चाहिए.

मनजिंदर सिंह सिरसा ने एक बयान में कहा, "कंगना का बयान बेहद घटिया मानसिकता को उजागर करता है. यह कहना कि खालिस्तानी आतंकवादियों के कारण तीन कृषि कानूनों को निरस्त किया गया, किसानों का अपमान है. वह नफरत की फैक्ट्री हैं."

बता दें कि कंगना ने बीते दिन अपने इंस्टा पर एक पोस्ट लिखा था, जो काफी वायरल हुआ था. कंगना ने लिखा था कि, खालिस्तानी आतंकवादी आज भले ही सरकार का हाथ मरोड़ रहे हों… लेकिन उस महिला को मत भूलना… एकमात्र महिला प्रधानमंत्री ने इनको अपनी जूती के नीच क्रश किया था… उसने इस देश को कितनी भी तकलीफ दी हो… उसने अपनी जान की कीमत पर उन्हें मच्छरों की तरह कुचल दिया… लेकिन देश के टुकड़े नहीं होने दिए… उनकी मृत्यु के दशक के बाद भी… आज भी उसके नाम से कांपते हैं ये… इनको वैसा ही गुरु चाहिए.'

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें